लाइव टीवी

Lockdown में किसान नहीं काट पा रहे गेहूं की तैयार फसल, पुलिस कार्रवाई के डर से घरों में कैद
Allahabad News in Hindi

Sarvesh Dubey | News18 Uttar Pradesh
Updated: April 9, 2020, 12:37 PM IST
Lockdown में किसान नहीं काट पा रहे गेहूं की तैयार फसल, पुलिस कार्रवाई के डर से घरों में कैद
प्रयागराज में लॉक डाउन के बीच किसान गेहूं कटाई को लेकर परेशान हैं.

वहीं डीएम प्रयागराज (DM, Prayagraj) भानु चन्द्र गोस्वामी का कहना है कि किसानों के फसल काटने पर कोई पाबंदी नहीं लगाई गई है. किसान सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए अपने खेतों में खड़ी फसल की कटाई कर सकते हैं.

  • Share this:
प्रयागराज. कोरोना (COVID-19) की महामारी को लेकर पूरे देश में लाक डाउन (Lockdown) है. लाक डाउन की वजह से शहर लेकर गांव तक लोग घरों में कैद होकर रह गए हैं. इस बीच किसानों (Farmers) के खेतों में खड़ी गेहूं की फसल भी पककर पूरी तरह से तैयार है. लेकिन लाक डाउन के चलते किसान फसल काटने के लिए खेतों में जाने की हिम्मत नहीं जुटा पा रहे हैं. यही नहीं उन्हें कटाई के लिए मजदूर भी नहीं मिल रहें हैं.

किसान अगर चाहें भी कि मशीनों के जरिए गेंहूं की मंडाई करा लें तो उन्हें मशीनों से भी गेहूं की कटाई की सुविधा नहीं मिल पा रही है. हालांकि जिला प्रशासन ने खेतों में फसलों की कटाई पर किसी तरह की रोक से इंकार किया है. लेकिन जमीनी हकीकत ये है कि लॉक डाउन के चलते गांवों में भी किसान अपने खेतों में नहीं जा पा रहे हैं. गांवों में लॉक डाउन का सख्ती से पालन कराया जा रहा है. किसान लाक डाउन खत्म होने का इंतजार ही कर रहे हैं. किसानों का कहना है कि बाहर निकलने पर पुलिस लाठियां बरसा रही है.

किसानों को सता रही फसल बर्बादी की चिन्ता
किसानों की चिन्ता ये है कि अगर समय रहते गेहूं की फसलों को नहीं काटा गया तो उन्हें बड़ा नुकसान हो सकता है. प्रयागराज जिले में भी कोरोना पॉजिटिव मरीज रिपोर्ट होने के बाद लोगों के मन में इस तरह का खौफ हो गया है कि लोग खेतों की ओर नहीं जा रहे हैं. किसानों को अब ये चिंता खाये जा रही है कि कुछ दिन पहले जहां बेमौसम बारिश और ओले ने उनकी फसल को जमकर नुकसान पहुंचाया था. वहीं अब लाक डाउन में अगर यही स्थिति रही तो उन्हें लागत को निकालना दूर अपने खाने के लिए भी खाद्यान की कमी का सामना करना पड़ेगा. जबकि किसानों की फसल बर्बादी से देश में भी खाद्यान का भारी संकट खड़ा हो सकता है.



प्रशासन ने फसल काटने पर पाबंदी से किया इंकार


वहीं इस पूरे मामले में डीएम प्रयागराज भानु चन्द्र गोस्वामी का कहना है कि किसानों के फसल काटने पर कोई पाबंदी नहीं लगाई गई है. किसान सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए अपने खेतों में खड़ी फसल की कटाई कर सकते हैं. उनके मुताबिक कृषि विभाग को भी इस मामले में आवश्यक दिशा-निर्देश दे दिए गए हैं. डीएम के मुताबिक शासन ने भी गेहूं का समर्थन मूल्य घोषित कर दिया है. इसके साथ ही जिले में गेहूं खरीद के लिए 68 क्रय केंद्रों को भी चिन्हित कर लिया गया है.

समय पर शुरू होगी गेहूं की खरीद: डीएम
डीएम ने कहा है कि समय पर गेहूं क्रय केन्द्र पर सरकार की ओर से घोषित समर्थन मूल्य पर गेहूं की खरीद भी हो शुरू हो जाएगी. जिससे किसानों को अपनी उपज का वाजिब दाम मिल सके और खाद्यान्न का भी कोई संकट न पैदा हो. लेकिन प्रशासन को किसानों की समस्याओं की ओर भी अब देखने और उसका समाधान करने की जरूरत है.

ये भी पढ़ें:

Lockdown से पहले एक फोन पर 1500 KM दूर लखनऊ के लिए निकल पड़ा ये रिसर्च स्कॉलर

COVID-19 Update: यूपी के 38 जिलों में फैला संक्रमण, मरीजों की संख्या हुई 361

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए इलाहाबाद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 9, 2020, 12:37 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading