पूर्व सांसद उमाकांत यादव को हाईकोर्ट से मिली राहत, NBW और कुर्की आदेश पर रोक
Allahabad News in Hindi

पूर्व सांसद उमाकांत यादव को हाईकोर्ट से मिली राहत, NBW और कुर्की आदेश पर रोक
पूर्व सांसद उमाकांत यादव को इलाहाबाद हाईकोर्ट से बड़ी राहत मिली है.

यह आदेश जस्टिस हर्ष कुमार की एकल पीठ ने उमाकांत यादव व अन्य की याचिका पर दिया है. गौरतलब है कि याचीगणों के खिलाफ जौनपुर के शाहगंज थाने में धोखाधड़ी के आरोप में एफआईआर दर्ज करायी गई है.

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
प्रयागराज. इलाहाबाद हाईकोर्ट (Allahabad High Court) ने पूर्व सांसद उमाकांत यादव (Umakant Yadav) को एक बार फिर से बड़ी राहत दी है. कोर्ट ने पूर्व सांसद को 20 दिन के अंदर एमपी/एमएलए स्पेशल कोर्ट प्रयागराज में हाजिर होकर जमानत अर्जी दाखिल करने की छूट दे दी है. तब तक उनके खिलाफ जारी गैर जमानती वारंट और कुर्की कार्यवाही भी स्थगित कर दी है. कोर्ट ने साथ ही कहा है कि यदि याची तय अवधि में कोर्ट में हाजिर होकर जमानत अर्जी दाखिल नहीं करता. और अदालत के आदेश की अवहेलना करता है तो एमपी/एमएलए स्पेशल कोर्ट कुर्की एवं गैर जमानती वारंट जारी कर कार्रवाई कर सकती है.

यह आदेश जस्टिस हर्ष कुमार की एकल पीठ ने उमाकांत यादव व अन्य की याचिका पर दिया है. गौरतलब है कि याचीगणों के खिलाफ जौनपुर के शाहगंज थाने में धोखाधड़ी के आरोप में एफआईआर दर्ज कराई गई है.

 दलील: केस ट्रांसफर की जानकारी नहीं थी
याची का कहना है कि वह कोर्ट में हाजिर होता रहा है. उसके मुकदमे का स्थानांतरण इलाहाबाद की विशेष अदालत में हो गया है, जिसकी जानकारी उसे नहीं थी. वह हाजिर नहीं हुआ तो कोर्ट ने कुर्की, जब्ती कार्यवाही करते हुए गैर जमानती वारंट जारी किया है. कोर्ट ने याची को हाजिर होकर जमानत अर्जी दाखिल करने की छूट देते हुए अर्जी यथा शीघ्र निस्तारण का निर्देश दिया है.



ये भी पढ़ें:



यूपी के 80 लाख मजदूरों के खाते में 1000-1000 रुपए देने का ऐलान कर सकते हैं CM

लखनऊ में 'तीसरे स्टेज' की तरफ बढ़ रहा कोरोना वायरस! 4 नए मरीज मिलने से हड़कंप
First published: March 20, 2020, 12:19 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading