जमीन विवाद को लेकर दबंगों ने लड़की को जिंदा जलाया

बांदा में गिरवां थानाक्षेत्र के खानपुर गांव में एक पिता का बेटी के हाथ पीले कर उसको अपने घर से विदा करने का सपना अब सपना बनकर रह गया. हकीकत की जिंदगी से हमेशा के लिए दूर पिता की लाडली अब सिर्फ तस्वीरों में ही सिमट कर रह गई. पिता और भाई के साथ-साथ मां, बहन और बूढ़ी दादी को उनकी लाडली दबंगों की हैवानियत के आगे अपनी जिंदगी हार गई. गांव की होनहार छात्रा अपनों को हमेशा के लिए रोता बिलखता छोड़ गई.

Ashwani Mishra | ETV UP/Uttarakhand
Updated: April 15, 2015, 10:50 PM IST
जमीन विवाद को लेकर दबंगों ने लड़की को जिंदा जलाया
बांदा में गिरवां थानाक्षेत्र के खानपुर गांव में एक पिता का बेटी के हाथ पीले कर उसको अपने घर से विदा करने का सपना अब सपना बनकर रह गया. हकीकत की जिंदगी से हमेशा के लिए दूर पिता की लाडली अब सिर्फ तस्वीरों में ही सिमट कर रह गई. पिता और भाई के साथ-साथ मां, बहन और बूढ़ी दादी को उनकी लाडली दबंगों की हैवानियत के आगे अपनी जिंदगी हार गई. गांव की होनहार छात्रा अपनों को हमेशा के लिए रोता बिलखता छोड़ गई.
Ashwani Mishra | ETV UP/Uttarakhand
Updated: April 15, 2015, 10:50 PM IST
बांदा में गिरवां थानाक्षेत्र के खानपुर गांव में एक पिता का बेटी के हाथ पीले कर उसको अपने घर से विदा करने का सपना अब सपना बनकर रह गया. हकीकत की जिंदगी से हमेशा के लिए दूर पिता की लाडली अब सिर्फ तस्वीरों में ही सिमट कर रह गई. पिता और भाई के साथ-साथ मां, बहन और बूढ़ी दादी को उनकी लाडली दबंगों की हैवानियत के आगे अपनी जिंदगी हार गई. गांव की होनहार छात्रा अपनों को हमेशा के लिए रोता बिलखता छोड़ गई.

छात्रा को गांव के ही चार दबंगों ने बंधक बनाकर, मिट्टी का तेल डालकर जिंदा जलाकर मौत के घाट उतार दिया. गांव में रहने वाले पीड़ित पिता देवी दयाल ने गांव के प्रधान समेत चार लोगों पर आरोप लगाते हुए कहा कि जमीन के विवाद को लेकर पहले भी कई बार दबंग उसके खिलाफ साजिश कर चुके थे, जिसकी उन्होंने कई बार शिकायत पुलिस में की थी. उन्होंने कहा कि पुलिस ने पीड़ित पिता की कोई मदद नही की, ऐसे में पुलिस के खौफ से बेखौफ हो चुके दबंगों ने उसकी लाडली को मिट्टी का तेल डालकर उसको जिंदा जला दिया.

छात्रा की इलाज के दौरान जिला अस्पताल में मौत हो गई. गांव में छात्रा को जिंदा जलाने की घटना पर पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों ने झाड़ू चलाना शुरू कर दिया है. इतनी बड़ी घटना होने के बाद भी पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों ने पीड़िता का बयान तक दर्ज नही किया. फिलहाल खौफनाक घटना को अंजाम देने वाले ग्राम प्रधान समेत चारों आरोपी फरार हैं. साथ ही छात्रा की मौत के बाद पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों का गांव जाकर पीड़िता के परिजनों से मुलाकात कर खानापूर्ति करने की कवायद फिलहाल तेज हो गई है.

आप hindi.news18.com की खबरें पढ़ने के लिए हमें फेसबुक और टि्वटर पर फॉलो कर सकते हैं.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए इलाहाबाद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 15, 2015, 10:50 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...