66 हजार नि:शुल्क पौध वितरण कर UP ने बनाए ये 4 वर्ल्ड रिकॉर्ड

संगम नगरी प्रयागराज के परेड ग्राउंड में शुक्रवार को वृक्ष महाकुंभ में 8 घंटे में 66 हजार नि:शुल्क पौधों का वितरण किया गया. 8 घंटे में 66 हजार नि:शुल्क पौधों का वितरण कर यूपी ने गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड बना दिया.

News18 Uttar Pradesh
Updated: August 9, 2019, 11:23 PM IST
66 हजार नि:शुल्क पौध वितरण कर UP ने बनाए ये 4 वर्ल्ड रिकॉर्ड
66 हजार नि:शुल्क पौध वितरण कर UP ने बनाए ये 4 वर्ल्ड रिकॉर्ड. (फाइल फोटो)
News18 Uttar Pradesh
Updated: August 9, 2019, 11:23 PM IST
संगम नगरी प्रयागराज के परेड ग्राउंड में शुक्रवार को वृक्ष महाकुंभ में 8 घंटे में 66 हजार नि:शुल्क पौधों का वितरण किया गया. 8 घंटे में 66 हजार नि:शुल्क पौधों का वितरण कर शुक्रवार को यूपी ने गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड बना दिया. गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड के टीम लीडर स्वप्निल दामरेकर ने सीएम योगी आदित्यनाथ को इस आशय का प्रमाण पत्र सौंपा. इस मौके पर डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य, वन मंत्री दारा सिंह चौहान के साथ ही प्रयागराज और कौशाम्बी के भाजपा सांसद और कई विधायक गण भी मौजूद रहे. परेड ग्राउंड में सुबह 8 बजे से नि:शुल्क पौध वितरण की शुरुआत हुई थी, जिसमें 30 हजार पौधों के वितरण के साथ ही इसी साल महाराष्ट्र में बना पौध वितरण का रिकॉर्ड भी टूट गया.

दूसरा वर्ल्ड रिकॉर्ड 5 करोड़ पौधों के रोपण का बना
इस मौके पर सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रदेश के लिए आज का दिन बेहद खास है, क्योंकि प्रदेश में चार-चार वर्ल्ड रिकॉर्ड बने हैं. सीएम योगी ने कहा कि पहला वर्ल्ड रिकॉर्ड 9 बजे तक प्रदेश में पांच करोड़ पौधों के रोपण का बना है, तो वहीं दूसरा रिकॉर्ड कासगंज जिले में राज्यपाल की मौजूदगी में एक लाख एक हजार पौधे लगाए जाने का बना है.

प्रयागराज किले में मौजूद है हजारों वर्ष पुराना अक्षयवट

तीसरा वर्ल्ड रिकॉर्ड प्रयागराज में 66 हजार नि:शुल्क पौधों के वितरण का बना है जो कि गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज हो गया है. सीएम योगी ने कहा है कि चौथा रिकॉर्ड कुम्भ में आने वाले श्रद्धालुओं के बराबर प्रदेश में पौधरोपण का बनेगा. उन्होंने इस मौके पर कहा कि प्रयागराज में दिव्य और भव्य कुम्भ का आयोजन सफल हुआ, जिसमें 3-3 वर्ल्ड रिकॉर्ड बने थे. यही वजह है कि वृक्ष महाकुम्भ के तहत सर्वाधिक पौध वितरण के लिए प्रयागराज को चुना गया. इस मौके पर सीएम योगी ने 100 वर्ष पुराने पेड़ों को हेरिटेज घोषित करने की भी घोषणा की. उन्होंने कहा है कि ऐसे पेड़ों को काटना पूरी तरह से प्रतिबंधित रहेगा. उन्होंने कहा है कि प्रयागराज किले के अंदर हजारों वर्ष पुराना अक्षयवट मौजूद है.

गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड का प्रमाण पत्र.


बाराबंकी में है 5000 साल पुराना कल्पवृक्ष
Loading...

सीएम योगी ने बताया कि बाराबंकी में पांच हजार साल पुराना कल्पवृक्ष भी है. उन्होंने लोगों से देशी आम के पेड़ों को भी नहीं काटने की सलाह दी है. सीएम योगी ने इस मौके पर वन विभाग के अधिकारियों को अगले वर्ष प्रदेश में 25 करोड़ पौधे लगाने का भी लक्ष्य दिया है. सीएम ने कहा है कि वन है तो जल है और जल है तो कल है, इसलिए पौध रोपण बेहद जरुरी है. सीएम योगी ने लोगों से पीपल, बरगद, पाकड़ देशी आम, सहजन के पौधे लगाने की अपील की है. उन्होंने कहा है कि वृक्ष महाकुम्भ हमें एक नया संदेश देता है.

पूरा हुआ 22 करोड़ पौधरोपण का लक्ष्य
योगी ने लोगों से अपने पूर्वजों, प्रियजनों, देश के महापुरुषों और सेना के शहीदों, स्वतंत्रता सेनानियों के नाम पर नक्षत्र वाटिका लगाने की अपील की है. उन्होंने शाम पांच बजते ही मंच से प्रदेश में 22 करोड़ पौधरोपण का लक्ष्य पूरा होने की घोषणा की. इस मौके पर डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि सरकार ने 22 करोड़ पौधे लगाने का काम किया है. अब इन पौधों को बचाने की महती जिम्मेदारी आम लोगों की है.

रिपोर्ट – सर्वेश दुबे 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए इलाहाबाद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 9, 2019, 10:56 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...