लाइव टीवी
Elec-widget

संगम नगरी प्रयागराज थी हरिवंश राय बच्चन की कर्मभूमि, ये रही संघर्ष की कहानी

News18 Uttar Pradesh
Updated: November 27, 2019, 1:36 PM IST
संगम नगरी प्रयागराज थी हरिवंश राय बच्चन की कर्मभूमि, ये रही संघर्ष की कहानी
संगम नगरी प्रयागराज थी हरिवंश राय बच्चन की कर्मभूमि

बच्चन परिवार को करीब से जानने और समझने वाले बाबा अभय अवस्थी बताते हैं कि प्रयागराज में जीरो रोड़ पर रहने वाले हरिवंश राय बच्चन में इलाहाबाद में पूरी तरह से रचे बसे थे. उनमें इलाहाबाद का अल्लहड़पन, मस्ती और बौद्धिकता तीनों का समावेश था.

  • Share this:
प्रयागराज. हिंदी के मशहूर कवि व साहित्यकार और मिलेनियम स्टार अमिताभ बच्चन के पिता हरिवंश राय बच्चन (Harivansh Rai Bachchan) का बुधवार को जन्मदिन है. उनका प्रयागराज से गहरा नाता रहा है. संगम नगरी जहां हरिवंश राय की कर्मभूमि रही है. वहीं इसी धरती पर रहकर ही उन्होंने हिंदी साहित्य जगत में अपनी रचनाओं के जरिए देश और दुनिया में ख्याति अर्जित की. इलाहाबाद विश्वविद्यालय में अंग्रेजी का अध्यापन करने वाले कवि हरिवंश राय बच्चन की आगे चलकर पहचान उनके बड़े बेटे और बॉलीवुड के शाहंशाह अमित बच्चन के पिता के रूप में हुई.

काव्य रचना मधुशाला...

लेकिन 1935 में प्रकाशित उनकी काव्य रचना मधुशाला ने उनको इससे पहले ही साहित्य जगत में स्थापित कर दिया था. मधुशाला के साथ ही उनकी दूसरी रचनाओं में तीन आत्म कथाएं भी खासी चर्चित हैं. "क्या भूलूं क्या याद करुं","बसेरे से दूर"और "सोपान".. आज उनके 112वें जन्मदिन के मौके पर प्रयागराज वासी उन्हें याद कर रहे हैं. बता दें कि हरिवंश राय बच्चन (Harivansh Rai Bachchan) का जन्म 27 नवंबर 1907 को उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ जिले के बाबूपट्टी गांव में हुआ था. श्रीवास्तव कायस्थ परिवार में जन्में हरिवंश राय को बचपन में बच्चन कहा जाता था.

हरिवंश राय बच्चन के साथ अमिताभ बच्चन (फाइल फोटो)
हरिवंश राय बच्चन के साथ अमिताभ बच्चन (फाइल फोटो)


कविताओं पर शोध कर की पीएचडी

जिसे उन्होंने आगे चलकर अपने नाम के साथ जोड़ लिया. उन्होंने अपनी शुरुआती पढ़ाई उर्दू में की और फिर उन्होंने इलाहाबाद विश्वविद्यालय से अंग्रेज़ी में एमए. किया. कई सालों तक इलाहाबाद विश्वविद्यालय के अंग्रेज़ी विभाग में प्राध्यापक रहे बच्चन ने कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय से अंग्रेज़ी के कवि डब्लूबी यीट्स की कविताओं पर शोध कर पीएचडी पूरी की थी.

पंजाब की तेजी सूरी से हुआ था विवाह
Loading...

1926 में 19 वर्ष की उम्र में उनका विवाह 'श्यामा बच्चन' से हुआ जो उस समय 14 वर्ष की थी. लेकिन 1936 में श्यामा की टीबी के कारण मृत्यु हो गई. पांच साल बाद 1941 में बच्चन ने पंजाब की तेजी सूरी से विवाह किया जो रंगमंच तथा गायन से जुड़ी हुई थीं. इसी समय उन्होंने 'नीड़ का पुनर्निर्माण' जैसे कविताओं की रचना की. तेजी बच्चन से अमिताभ तथा अजिताभ दो पुत्र हुए. अमिताभ बच्चन बॉलीवुड के एक प्रसिद्ध अभिनेता हैं. तेजी बच्चन ने हरिवंश राय बच्चन द्वारा 'शेक्सपीयर' के अनुदित कई नाटकों में अभिनय किया है.

इलाहाबाद का अल्लहड़पन...

बच्चन परिवार को करीब से जानने और समझने वाले बाबा अभय अवस्थी बताते हैं कि प्रयागराज में जीरो रोड़ पर रहने वाले हरिवंश राय बच्चन में इलाहाबाद में पूरी तरह से रचे बसे थे. उनमें इलाहाबाद का अल्लहड़पन, मस्ती और बौद्धिकता तीनों का समावेश था. बहुमुखी प्रतिभा के धनी हरिवंश राय बच्चन की साहित्य सृजन की क्षमता कमाल की थी. जिसके चलते उन्होंने हिंदी साहित्य जगत में अपनी अलग पहचान बनायी. उनके मुताबित बच्चन जी ने अपनी तीन आत्म कथायें लिखीं हैं और पूरी ईमानदारी से लिखी गई इन आत्म कथा में उनके जीवन की झलक देखने को मिलती है.

 छोरा गंगा किनारे वाला...

बाबा अभय अवस्थी बताते हैं कि कविताओं और साहित्य लेखन के साथ ही हरिवंश राय बच्चन ने कई गीत भी लिखे हैं. जिन्हें उनके बेटे और मिलेनिय स्टार अमिताभ बच्चन पर ही फिल्माया गया और काफी लोकप्रिय भी हुआ. उनके मुताबिक ये गीत भी इन्हीं इलाहाबाद की गलियों से निकले हैं. जैसे हमारे अंगने में तुम्हारा क्या काम है, होली खेंले अवध में रघुवीरा, छोरा गंगा किनारे वाला. इन गीतों के आंचलिक पुट ने केवल धमाल मचाया बल्कि अमिताभ बच्चन को भी अलग पहचान दिलाई. बाबा अभय अवस्थी के मुताबिक अमिताभ बच्चन की एक्टिंग में जो निखार आया, उसके पीछे भी पिता हरिवंश राय बच्चन की कड़ी मेहनत और मार्गदर्शन ही था.

मुम्बई में ली आखिरी सांस 

हिंदी साहित्य जगत का ये सितारा 18 जनवरी 2003 को सदा के लिए चिर निद्रा में लीन हो गया. हिंदी साहित्य के इस मशहूर कवि ने मुम्बई में आखिरी सांस ली थी. लेकिन आज भी अपनी कालजयी रचनाओं के जरिए लोगों के दिलों में जिंदा हैं. उनके जन्म दिन पर न्यूज18 की ओर से उन्हें भावभीनी पुष्पांजलि.

ये भी पढे़ं:

बड़े संकट में रायबरेली से MLA अदिति सिंह, कांग्रेस ने दी विधायकी ख़त्म करने के लिए नोटिस

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए इलाहाबाद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 27, 2019, 1:31 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com