बागपत जेल में शार्प शूटर मुन्ना बजरंगी की हत्या केस सीबीआई कोर्ट में ट्रांसफर, HC ने दिया निर्देश

इलाहबाद हाईकोर्ट (फाइल फोटो).
इलाहबाद हाईकोर्ट (फाइल फोटो).

सीबीआई (CBI) के वरिष्ठ अधिवक्ता ज्ञान प्रकाश व संजय यादव का कहना था कि खेकरा थाने से कोर्ट में जमा सभी मूल दस्तावेजों के साथ केस का स्थानांतरण सीबीआई की अदालत को किया जाए. ताकि मामले की साजिश सहित हत्या की जांच कर दोषियों को सजा दिलाई जाए.

  • Share this:
प्रयागराज. इलाहाबाद हाईकोर्ट (Allahabad High Court) ने बागपत जिला जेल (Baghpat District Jail) में माफिया डॉन मुख्तार अंसारी (Mukhtar Ansari) के शार्प शूटर मुन्ना बजरंगी (Munna Bajrangi) की हत्या (Murder) के आरोपी सुनील राठी (Sunil Rathi) के खिलाफ आपराधिक मुकदमे को गाजियाबाद की सीबीआई कोर्ट मे तबादले का निर्देश दिया है. कोर्ट ने जिला जज बागपत से कहा है कि मुकदमे की पूरी पत्रावली सीबीआई विशेष अदालत भेजी जाए. कोर्ट ने यह आदेश मामले की जांच कर रही सीबीआई की अर्जी को स्वीकार करते हुए दिया है. यह आदेश जस्टिस सुनीत कुमार ने दिया है.

सीबीआई ने की थी मांग

सीबीआई के वरिष्ठ अधिवक्ता ज्ञान प्रकाश व संजय यादव का कहना था कि खेकरा थाने से कोर्ट में जमा सभी मूल दस्तावेजों के साथ केस का स्थानांतरण सीबीआई की अदालत को किया जाए. ताकि मामले की साजिश सहित हत्या की जांच कर दोषियों को सजा दिलाई जाए. इससे पहले प्रेम प्रकाश सिंह उर्फ मुन्ना बजरंगी की पत्नी सीमा सिंह ने याचिका दायर की थी. जिस पर कोर्ट ने जांच सीबीआई को सौंपते हुए दूसरे जेल से 12 घंटे के भीतर मुन्ना बजरंगी को बागपत जेल भेजने और उसकी जेल में हत्या के षड्यंत्र की विस्तृत जांच का निर्देश दिया था.




कोर्ट ने मामले में दिया है ये आदेश

कोर्ट ने कहा था कि षड्यंत्र के पीछे के लोगों का पता लगाया जाए और पता किया जाए कि क्या वास्तव में सुनील राठी ने ही हत्या की है. सीबीआई ने जांच अपने हाथ मे लेकर केस के सीबीआई अदालत में तबादले की मांग की थी, जिसे कोर्ट ने स्वीकार कर लिया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज