Home /News /uttar-pradesh /

hearing in the high court tomorrow on the honorarium of 17 thousand rupees to the instructors nodss

अनुदेशकों को 17 हजार रुपये मानदेय पर हाईकोर्ट में सुनवाई कल, 27 हजार लोगों से जुड़ा है मामला

 प्रदेश के लगभग 27 हजार अनुदेशकों का मानदेय 2017 में केंद्र सरकार ने बढ़ाकर 17000 रुपये कर दिया था. जिसको यूपी सरकार ने लागू नहीं किया है.

प्रदेश के लगभग 27 हजार अनुदेशकों का मानदेय 2017 में केंद्र सरकार ने बढ़ाकर 17000 रुपये कर दिया था. जिसको यूपी सरकार ने लागू नहीं किया है.

उच्च प्राथमिक विद्यालयों में कार्यरत अनुदेशकों का मामला, सोमवार को हुई सुनवाई के बाद कोर्ट ने मंगलवार को सुनवाई जारी रखने के आदेश दिए. प्रदेश के 27 हजार अनुदेशकों का 2017 में केंद्र सरकार ने मानदेय बढ़ा कर 17 हजार किया था.

प्रयागराज. उत्तर प्रदेश के उच्च प्राथमिक विद्यालयों में कार्यरत अनुदेशकों को 17 हजार मानदेय दिए जाने को लेकर हाईकोर्ट की सिंगल बेंच के फैसले को राज्य सरकार ने विशेष अपील में चुनौती दी गई है. सरकार की विशेष अपील पर सोमवार को हाईकोर्ट में चीफ जस्टिस की डिवीजन बेंच में सुनवाई हुई. मामले में केंद्र सरकार और राज्य सरकार की ओर से बहस पूरी हो गई है. जबकि याची अनुदेशकों की ओर से अधिवक्ता दुर्गा तिवारी और सुप्रीम कोर्ट से आये अधिवक्ता ए पी सिंह ने पक्ष रखा. हाईकोर्ट में अनुदेशकों की ओर से बहस पूरी नहीं हो सकी है. कोर्ट ने मामले की सुनवाई जारी रखते हुए मंगलवार 17 मई को फिर से सुनवाई करने का आदेश दिया है.

याचियों की ओर से पेश हुए अधिवक्ताओं ने कोर्ट में दलील पेश की कि अनुदेशकों को 17 हजार मानदेय दिया जाना चाहिए. केंद्र सरकार ने भी 2017 में 17000 मानदेय देने का आदेश दिया था. यूपी सरकार ने इस आदेश का पालन नहीं किया.

गौरतलब है कि प्रदेश के लगभग 27 हजार अनुदेशकों का मानदेय 2017 में केंद्र सरकार ने बढ़ाकर 17000 रुपये कर दिया था. जिसको यूपी सरकार ने लागू नहीं किया है. मानदेय बढ़ाने की मांग को लेकर अनुदेशकों ने हाईकोर्ट में रिट दाखिल की थी. जिस पर सुनवाई करते हुए 3 जुलाई 2019 को जस्टिस राजेश चौहान की सिंगल बेंच ने अनुदेशकों को 2017 से 17000 मानदेय 9% ब्याज के साथ देने का आदेश दिया था.

इस फैसले के खिलाफ राज्य सरकार ने विशेष अपील दाखिल की है. याची विवेक सिंह और आशुतोष शुक्ला की ओर से याचिका दाखिल की थी. जिस पर सिंगल बेंच के फैसले के खिलाफ राज्य सरकार ने विशेष अपील दायर की है.राज्य सरकार की अपील पर चीफ जस्टिस राजेश बिंदल और जस्टिस जे जे मुनीर की डिवीजन बेंच में सुनवाई हुई.

Tags: Allahabad high court, UP news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर