मुन्ना बजरंगी मर्डर केस में हाईकोर्ट ने मांगा यूपी सरकार से जवाब
Allahabad News in Hindi

मुन्ना बजरंगी मर्डर केस में हाईकोर्ट ने मांगा यूपी सरकार से जवाब
इलाहाबाद हाईकोर्ट

इस मामले में याचिकाकर्ता वरिष्ठ अधिवक्ता ओपी सिंह ने कहा कि इस घटना में सीबीआई जांच होनी चाहिए. उन्होंने कहा कि बागपत जेल में बरामद पिस्टल से गोली नहीं चली, इसकी तस्वीर एफएसएल रिपोर्ट में साफ हो चुकी है.

  • Share this:
इलाहाबाद हाईकोर्ट ने बागपत जिला जेल में प्रेम कुमार उर्फ मुन्ना बजरंगी की हत्या की सीबीआई जांच की मांग को लेकर दाखिल याचिका पर राज्य सरकार से जवाब मांगा है. इस मामले की अगली सुनवाई 28 अक्टूबर को होगी. इसके साथ ही कोर्ट ने पूछा है कि इस मामले में की जा रही विवेचना की क्या प्रगति है? यह आदेश जस्टिस रमेश सिन्हा और जस्टिस डीके सिंह की खंडपीठ ने वरिष्ठ अधिवक्ता ओपी सिंह की दायर याचिका पर सुनवाई करते हुए दिया है.

इस मामले में याचिकाकर्ता वरिष्ठ अधिवक्ता ओपी सिंह ने कहा कि इस घटना में सीबीआई जांच होनी चाहिए. उन्होंने कहा कि बागपत जेल में बरामद पिस्टल से गोली नहीं चली, इसकी तस्वीर एफएसएल रिपोर्ट में साफ हो चुकी है. ऐसी लचर जांच से अपराधी को दंडित नहीं किया जा सकता है. ऐसे में इस मामले की जांच निष्पक्ष एजेंसी से करवाना जरूरी है.

दरअसल बागपत जेल में 9 जुलाई को माफिया डॉन मुन्ना बजरंगी की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. जेल परिसर में हत्या के बाद हड़कंप मच गया था. यूपी सरकार ने आनन-फानन में इस मामले की जांच डीआईजी आगरा जेल संजीव त्रिपाठी को सौंपी दी थी.



कौन है मुन्ना बजरंगी
मुन्ना बजरंगी का असली नाम प्रेम प्रकाश सिंह है. उसका जन्म 1967 में उत्तर प्रदेश के जौनपुर जिले के पूरेदयाल गांव में हुआ था. उसने पांचवीं कक्षा के बाद पढ़ाई छोड़ दी. किशोर अवस्था तक आते आते उसे कई ऐसे शौक लग गए जो उसे जुर्म की दुनिया में ले जाने के लिए काफी थे.

ये भी पढ़ें:
एक बार फिर 'भगवान राम' की यूपी की सियासत में एंट्री!

'मांसाहारी' और 'शराबी' नहीं, कुंभ मेला 2019 में ड्यूटी के लिए चाहिए 'संस्कारी' पुलिसकर्मी

मेरठ: बीजेपी ने सौंपी पूर्व विधायक रविन्द्र भड़ाना को जिलाध्यक्ष की कमान
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading