हिस्ट्रीशीटर की बेटी और उसके पति ने जताई ऑनर किलिंग की आशंका, HC ने बुलंदशहर SSP को दिया ये निर्देश

इलाहाबाद हाईकोर्ट. (फाइल फोटो)
इलाहाबाद हाईकोर्ट. (फाइल फोटो)

इलाहाबाद हाईकोर्ट (Allahabad High Court) ने एसएसपी बुलंदशहर को तत्काल कार्रवाई करते हुए याची को सुरक्षा देने और 22 अक्तूबर को अदालत में पेश करने का निर्देश दिया है.

  • Share this:
प्रयागराज. इलाहाबाद हाईकोर्ट (Allahabad High Court) में एक हिस्ट्रीशीटर (History Sheeter) की बेटी से शादी करने वाले युवक ने पत्नी को उसके भाइयों के कब्जे से मुक्त कराने की मांग को लेकर बंदी प्रत्यक्षीकरण याचिका दाखिल की है. इलाहाबाद हाईकोर्ट ने भाइयों की कैद से बालिग बहन को मुक्त कराकर कोर्ट में पेश करने का निर्देश दिया है. याची पति ने ऑनर किलिंग की आशंका जताते हुए सुरक्षा दिए जाने की भी मांग की है. कोर्ट ने एसएसपी बुलंदशहर को तत्काल कार्रवाई करते हुए याची को सुरक्षा देने और 22 अक्तूबर को अदालत में पेश करने का निर्देश दिया है. याची निशी और उसके पति की ओर से दाखिल बंदी प्रत्यक्षीकरण याचिका पर जस्टिस जेजे मुनीर की एकल पीठ ने ये आदेश दिया है.

इसी साल 17 जून को हुई है शादी

याचिका में कहा गया है कि दोनों परिवार वालों की मर्जी के खिलाफ याचियों ने हिंदू रीति रिवाज से 17 जून 2020 को आर्य समाज मंदिर दादरी में शादी कर ली है. निशी के पिता हिस्ट्रीशीटर है और जतन सिरोही गैंग के शार्प शूटर हैं. उन पर 22 से अधिक मुकदमे दर्ज हैं. फिलहाल वह महराजगंज जेल में बंद है. याचिका में कहा गया कि दोनों जब इलाहाबाद हाईकोर्ट में सुरक्षा के लिए याचिका दाखिल करने आए थे तो वापस जाते समय प्रयागराज के सिविल लाइंस रोडवेज स्टेशन से निशी के दोनों भाई रॉबिन चौधरी और कुलवीर चौधरी काली रंग की स्कर्पियो से अन्य लोगों के साथ आए और निशी को जबरन खींच कर गाड़ी में बैठा लिया. तब से निशी उनके कब्जे में है और उसकी किसी भी वक्त ऑनर ‌किलिंग की जा सकती है.




बड़ी बहन की हत्या का भी आरोप

याचिका में कहा गया है कि निशी की बड़ी बहन की भी हत्या इसी वजह से परिवार वालों ने कर दी थी क्योंकि उसने परिवारवालों की मर्जी के खिलाफ शादी कर ली थी. कोर्ट ने निशी के दोनों भाइयों को नोटिस जारी करते हुए सीजेएम बुलंदशहर को इलेक्ट्रनिक माध्यम से नोटिस तामील कराने का निर्देश दिया है. कोर्ट ने एसएसपी बुलंदशहर को निशी को उसके भाइयों के कब्जे से छुड़ाकर पूरी पुलिस सुरक्षा के साथ कोर्ट में पेश करने तक नारी निकेतन में रखने का निर्देश दिया है. 22 अक्तूबर को मामले की अगली सुनवाई होगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज