लाइव टीवी

प्रयागराज में लगा देश के 300 से अधिक दस्तकार, शिल्पकार और शेफ्स का संगम 'हुनर हाट'

Sarvesh Dubey | News18 Uttar Pradesh
Updated: November 1, 2019, 5:30 PM IST
प्रयागराज में लगा देश के 300 से अधिक दस्तकार, शिल्पकार और शेफ्स का संगम 'हुनर हाट'
प्रयागराज में हुनर हाट का आयोजन किया जा रहा है. इस मेले में बड़ी संख्या में महिला कारीगरों सहित देश के हर कोने से 300 से अधिक दस्तकार, शिल्पकार, खानसामे भाग ले रहे हैं.

प्रयागराज (Prayagraj) में क्राफ्ट और कुजिन्स के संगम इस मेले का औपचारिक उद्घाटन शनिवार 2 नवंबर को केंद्रीय मंत्री, अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय मुख्तार अब्बास नकवी (Mukhtar Abbas Naqvi) करेंगे. मंत्रालय के सचिव प्रमोद कुमार दास भी इस मौके पर मौजूद रहेंगे. मेले में देशभर के कलाकारों को आमंत्रित किया गया है.

  • Share this:
प्रयागराज. देश भर से हुनर के उस्तादों का मेला 'हुनर हाट' (Hunar Haat) उत्तर मध्य क्षेत्र सांस्कृतिक केंद्र में शुरू हो गया है. प्रयागराज (Prayagraj) में होने जा रहे देश भर से हुनर के उस्तादों के इस मेले में बड़ी संख्या में महिला कारीगरों सहित देश के हर कोने से 300 से अधिक दस्तकार, शिल्पकार, खानसामे भाग ले रहे हैं. क्राफ्ट और कुजिन्स के संगम इस मेले का औपचारिक उद्घाटन शनिवार 2 नवंबर को  केंद्रीय मंत्री, अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय मुख्तार अब्बास नकवी करेंगे. मंत्रालय के सचिव प्रमोद कुमार दास भी इस मौके पर मौजूद रहेंगे. मेले में देशभर के कलाकारों को आमंत्रित किया गया है.

केंद्र के साथ यूपी के भी मंत्री रहेंगे मौजूद

7 राज्यों का प्रतिनिधित्व करने वाले उत्तर मध्य क्षेत्र सांस्कृतिक केंद्र में 10 नवंबर तक चलने वाले इस मेले के जरिए हस्तशिल्प और देश की कलाओं को बढ़ावा मिलेगा. इसके साथ ही लोग देश के अलग-अलग राज्यों के खानपान से भी वाकिफ हो सकेंगे. हुनर हाट के उद्घाटन के मौके पर प्रदेश सरकार के मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह और नंद गोपाल गुप्ता नंदी भी मौजूद रहेंगे.

prayagraj Hunar Haat
प्रयागराज में हुनर हाट का आयोजन किया जा रहा है. इस मेले में बड़ी संख्या में महिला कारीगरों सहित देश के हर कोने से 300 से अधिक दस्तकार, शिल्पकार, खानसामे भाग ले रहे हैं.


एक जगह पर मिल रहे देश भर से दुर्लभ स्वदेश हस्तनिर्मित उत्पाद

बता दें कि हुनर हाट में दस्तकार और शिल्पकार, दुर्लभ स्वदेशी हस्तनिर्मित उत्पाद लाये हैं. जैसे- आंध्र प्रदेश की कलमकारी और मंगलगिरी, असम के जूट से बने उत्पाद, बिहार की मधुबनी चित्रकारी, गुजरात का अजरख, बंधेज मड वर्क, तांबे की कलाकृतियां, हिमाचल प्रदेश से लकड़ी के बने उत्पाद, मध्य प्रदेश से ब्लॉक प्रिंट, उप्पा छपाई, पुडुचेर्री के मोतियों से बने आभूषण, राजस्थान से मार्बल कलाकृतियां और हैंडीक्राफ्ट, तमिलनाडु की एम्ब्रोइडरी एवं चन्दन की कलाकृतियां, उत्तर प्रदेश से वाराणसी सिल्क, लखनवी चिकनकारी, कांच के सामान, लेदर, संगमरमर के उत्पाद, पश्चिम बंगाल से एम्ब्रोइडरी के उत्पाद, कश्मीर-लद्दाख की दुर्लभ आयुर्वेदिक जड़ी बूटियां इत्यादि लेकर आये हैं.

लजीज व्यंजनों का भी संगम
Loading...

यही नहीं हुनर हाट में आने वाले लोग देश के हर क्षेत्र के लज़ीज परंपरागत व्यंजनों का जायका ले रहे हैं. इसके अलावा इस हुनर हाट में विभिन्न प्रसिद्ध कलाकारों द्वारा प्रत्येक दिन प्रस्तुत किये जाने वाले पारम्परिक एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम, कव्वाली, सूफी गीत-संगीत, कवि सम्मेलन आदि विशेष आकर्षण हैं.

ये भी पढ़ें:

योगी सरकार ने 17 ओबीसी जातियों को एससी का दर्जा देने का आदेश लिया वापस

CRPF कैंप पर आतंकी हमला केस में 6 दोषी करार, कौसर और गुलाब खान बरी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए इलाहाबाद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 1, 2019, 4:59 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...