वैवाहिक संबंधों में सुधार न होना तलाक का आधार नहीं: हाईकोर्ट

Sarvesh Dubey | News18 Uttar Pradesh
Updated: August 25, 2019, 2:20 PM IST
वैवाहिक संबंधों में सुधार न होना तलाक का आधार नहीं: हाईकोर्ट
वैवाहिक संबंधों में सुधार न होना तलाक का आधार नहीं

कोर्ट ने डॉ. सरिता की अपील स्वीकार करते हुए उसके विरुद्ध पारित तलाक की डिक्री को रद् कर दिया है. सरिता के पति डॉ. विकास कनौजिया ने मेरठ प्रधान पारिवारिक न्यायाधीश की अदालत में तलाक की अर्जी दाखिल की थी.

  • Share this:
इलाहाबाद हाईकोर्ट ने कहा है कि वैवाहिक संबंधों में सुधार की गुंजाइश न होना मात्र तलाक का आधार नहीं हो सकता है, विशेषकर जब ऐसा दोनों में से किसी एक पक्ष के द्वारा कहा जा रहा है. कोर्ट ने कहा कि हिंदू विवाह अधिनियम की धारा- 13 में इस आधार को शामिल नहीं किया है. अदालतें स्वविवेक से परिस्थितियों का परीक्षण करने के उपरांत वैवाहिक संबंध मृत पाने की स्थिति में तलाक का आदेश पारित करती हैं. मगर सुप्रीमकोर्ट ने ऐसे मामलों में कहा है कि ऐसे आदेश नजीर नहीं हो सकते हैं.

मेरठ की डॉ. सरिता की प्रथम अपील पर सुनवाई करते हुए न्यायमूर्ति सुधीर अग्रवाल और न्यायमूर्ति राजीव मिश्र की खंडपीठ ने आदेश दिए. बता दें कि विष्णुदत्त शर्मा बनाम मंजू शर्मा केस में सुप्रीम कोर्ट ने स्पष्ट किया है कि यह तलाक का आधार हो सकता है, मगर यदि अदालत ऐसे कोई आदेश देती है तो इसका अर्थ होगा एक्ट में संशोधन करना जोकि संसद का काम है अदालत का नहीं.

कोर्ट ने डॉ. सरिता की अपील स्वीकार करते हुए उसके विरुद्ध पारित तलाक की डिक्री को रद् कर दिया है. सरिता के पति डॉ. विकास कनौजिया ने मेरठ प्रधान पारिवारिक न्यायाधीश की अदालत में तलाक की अर्जी दाखिल की थी. पारिवरिक न्यायाधीश ने क्रूरता और वैवाहिक संबंध में सुधार की गुंजाइश बचे न होने को आधार बनाते हुए तलाक मंजूर कर लिया.

ये भी पढ़ें:

हमीरपुर विधानसभा सीट पर उपचुनाव की तारीख का ऐलान, इस दिन डाले जाएंगे वोट

जेटली के निधन पर भावुक हुए मुलायम, कहा- नींव के पत्थर साबित होंगे उनके भाषण

ग्रेटर नोएडा: पुरानी रंजिश में BJP कार्यकर्ता को मारी गोली
Loading...

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए इलाहाबाद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 25, 2019, 2:19 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...