Home /News /uttar-pradesh /

मुगल काल की स्थापत्य कला का बेजोड़ उदाहरण है खुसरो बाग

मुगल काल की स्थापत्य कला का बेजोड़ उदाहरण है खुसरो बाग

प्रयागराज

प्रयागराज स्थित खुसरो बाग

प्रयागराज में स्थित खुसरो बाग मुगल काल में बनवाया गया था. 17वीं शताब्दी में बने इस स्थान में मुगल काल के चार लोगों के मकबरे स्थित है.यह स्थान मुगल काल की स्थापत्य कला का उत्कृष्ट उदाहरण है. विशाल क्षेत्र में फैले इस ऐतिहासिक स्मारक में मुगल काल के चार शख्स के मकबरे स्थित हैं.वर्तमान में यह स्थान भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण के संरक्षण में आता है.

अधिक पढ़ें ...

    अगर आप पहली बार संगमनगरी आ रहे हैं तो आपको बता दे कि प्रयागराज जंक्शन पर उतरकर कुछ ही दूरी पर आप एक बेहद खूबसूरत दर्शनीय स्थल जा सकते हैं. जी हां… कुछ ही दूरी पर स्थित है मुगल काल का एक ऐतिहासिक बाग,’ खुसरो बाग'(khusro Bagh)17 वीं शताब्दी में बना यह स्थान अपनी वास्तुकला और सुंदर बगीचे के चलते सभी को आकर्षित करता है. यह स्थान मुगल काल की स्थापत्य कला का उत्कृष्ट उदाहरण है. विशाल क्षेत्र में फैले इस ऐतिहासिक स्मारक में मुगल काल के चार शख्स के मकबरे स्थित हैं.400 साल पुराने ये मकबरे मुगल शासक जहांगीर के बेटे, बीवी , बेटी और एक अन्य का है. वर्तमान में यह स्थान भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण के संरक्षण में आता है.

    <b>क्या है इतिहास</b>
    खुसरो बाग में स्थित तीन मकबरे जहांगीर के बड़े बेटे खुसरो, उनकी बेटी निथार और जहांगीर की पहली पत्नी सुल्तान बेगम के हैं. इसके अलावा एक मकबरा बीबी तमोलन का है जिनके बारे में आज भी लोगों का मत एक नही है.शुरू के 3 मकबरे लोगों के आकर्षण का केंद्र है जबकि बीबी तमोलन का मकबरा बाग के पिछले हिस्से में मौजूद हैं.बताया जाता है कि खुसरो ने अपने शासन से बगावत की तो उसे इस बाग में नजरबंद कर दिया गया और जब उसने यहां से भागने की कोशिश की तो उसकी हत्या कर दी गई .हत्या करने वाला शख्स कोई और नहीं जहांगीर का एक और बेटा खुर्रम था ,जो बाद में शाहजहां कहलाया.

    <b>कब जा सकते है</b>
    लूकरगंज स्थित खुसरोबाग सप्ताह के सातो दिन आम लोगो के लिए खुला रहता है. यह सुबह 7 बजे से रात 8 बजे तक खुला रहता है. यहां पहुंचने के लिए यातायात के साधन आसानी से उपलब्ध है.

    <b>(रिपोर्ट- प्राची शर्मा)</b>

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर