अपना शहर चुनें

States

MP के सीएम शिवराज सिंह चौहान बोले- किसानों को भड़का कर कांग्रेस कराना चाहती है हिंसा

 किसानों को भड़का कर कांग्रेस कराना चाहती है हिंसा
किसानों को भड़का कर कांग्रेस कराना चाहती है हिंसा

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) ने आज अपने श्वसुर घनश्याम दास मसानी की अस्थियां संगम में विसर्जित किया.

  • Share this:
प्रयागराज. केंद्र सरकार (Central Government) से तीन नए कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग को लेकर किसानों (Farmers) का उत्तर प्रदेश के कई जिलों में चक्‍का जाम और विरोध प्रदर्शन (Protest) जारी है. इसी कड़ी में शनिवार को संगम नगरी प्रयागराज (Prayagraj) पहुंचे मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) ने किसान सुधार कानून को लेकर पंजाब और हरियाणा में हो रहे किसानों के उग्र आंदोलन को लेकर कांग्रेस पर बड़ा हमला बोला है. उन्होंने इस आंदोलन के लिए कांग्रेस को ही जिम्मेदार ठहराया है.

शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि कांग्रेस मध्य प्रदेश में भी किसानों को भड़काने का प्रयास कर चुकी है. उन्होंने कहा है कि कांग्रेस मध्य प्रदेश के किसानों में भ्रम फैलाकर और उन्हें भड़का कर हिंसक आंदोलन कराना चाहती थी. लेकिन उसके मंसूबे पूरे नहीं हुए. अब कांग्रेस पंजाब और हरियाणा में यही काम कर रही है. कांग्रेस भोले- भाले किसानों को भ्रमित कर हिंसा का खेल खेलना चाहती है. इसलिए भाजपा किसानों से अपील कर रही है कि किसान सुधार के तीनों कानून किसानों के हित में है. इसलिए ज्यादातर किसान और भाजपा सरकार इसका समर्थन कर रही हैं.

ये भी पढ़ें- आगरा: कोरोना काल में पैरोल पर रिहा हुए 88 कैदी लापता, मचा हड़कंप



दरअसल मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अपने श्वसुर घनश्याम दास मसानी की अस्थियां संगम में विसर्जित किया. उनके श्वसुर का हार्ट अटैक से भोपाल के एक निजी अस्पताल में 18 नवंबर को निधन हो गया था. वहीं अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेन्द्र गिरी ने कहा है कि मध्य प्रदेश के सीएम शिवराज सिंह के उपर बड़े हनुमान जी का आशीर्वाद है. उन्होंने कहा है कि सीएम संत के सेवक हैं और मेरे शिष्य भी हैं. इसलिये जब भी प्रयागराज आते हैं बड़े हनुमान मंदिर में दर्शन पूजन के साथ ही श्री मठ बाघम्बरी गद्दी में प्रसाद जरुर ग्रहण करते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज