किन्नर अखाड़े ने भी अशोक सिंघल को भारत रत्न दिए जाने की मांग की, कहा- कारसेवकों पर दर्ज मुकदमे भी वापस हो
Allahabad News in Hindi

किन्नर अखाड़े ने भी अशोक सिंघल को भारत रत्न दिए जाने की मांग की, कहा- कारसेवकों पर दर्ज मुकदमे भी वापस हो
त्रिपाठी ने कहा कि राम लला का भव्य मंदिर बन रहा है. ऐसे में किन्नरों के लिए इससे बड़ी खुशी की कोई दूसरी बात नहीं हो सकती है.

किन्नर अखाड़े की आचार्य महामंडलेश्वर लक्ष्मी नारायण त्रिपाठी (Mahamandaleshwar Laxmi Narayan Tripathi) ने कहा है कि स्वर्गीय अशोक सिंघल एक पूज्य आत्मा थे. उन्होंने तीन दशकों तक राम मंदिर आंदोलन के लिए संघर्ष किया.

  • Share this:
प्रयागराज. अयोध्या में भव्य राम मंदिर (Ram Mandir) निर्माण के लिए 5 अगस्त को पीएम मोदी द्वारा भूमि पूजन किए जाने के बाद अब देश के कोने-कोने कोने से राम जन्मभूमि आंदोलन के महानायक और बीएचपी (BHP) के पूर्व अंतरराष्ट्रीय अध्यक्ष स्वर्गीय अशोक सिंघल (Ashok singhal) को भारत रत्न दिए जाने की मांग जोर पकड़ने लगी है. साधु- संतों की सर्वोच्च संस्था अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के बाद अब किन्नर अखाड़े (Kinnar Akhara) ने भी दिवंगत अशोक सिंघल को देश का सर्वोच्च सम्मान भारत रत्न (Bharat Ratna) दिए जाने की मांग की है. किन्नर अखाड़े की आचार्य महामंडलेश्वर लक्ष्मी नारायण त्रिपाठी ने कहा है कि स्वर्गीय अशोक सिंघल वह पूज्य आत्मा थे जिन्होंने तीन दशक तक राम मंदिर आंदोलन के लिए संघर्ष किया. उन्होंने साधु-संतों और सनातन समाज को राम मंदिर के मुद्दे पर एकजुट कर यह लड़ाई लड़ी.

किन्नर अखाड़े के आचार्य महामंडलेश्वर ने कहा है कि हम सब लोग सौभाग्यशाली हैं कि हम उस युग में जी रहे हैं जिसमें 500 वर्षों के बाद रामलला का भव्य मंदिर अयोध्या में बनने जा रहा है. उन्होंने कहा कि किन्नर हमेशा से भगवान राम के सेवक रहे हैं. भगवान राम के वन गमन के समय किन्नर माइयों ने 14 वर्ष तक श्रृंगवेरपुर घाट पर उनका लौटने का इंतजार किया था. इसके साथ ही साथ जिस बालस्वरूप का भव्य मंदिर अयोध्या में बन रहा है उस बालस्वरूप में किन्नर माइयों ने ही रामलला का लालन-पालन किया है. आज जब अयोध्या में भव्य राम लला का मंदिर बन रहा है, तो किन्नरों के लिए इससे खुशी की कोई बात नहीं हो सकती है.

कार सेवकों के खिलाफ दर्ज मुकदमे वापस लिए जाएं
किन्नर अखाड़े के आचार्य महामंडलेश्वर ने कहा है अब वह समय आ गया है जबकि राम मंदिर के लिए आंदोलन करने वाले सभी कार सेवकों के खिलाफ दर्ज मुकदमे वापस लिए जाएं. उन्होंने केंद्र सरकार और प्रदेश सरकार से मांग की है कि जब सुप्रीम कोर्ट ने यह मान लिया है कि विवादित स्थल पर बाबरी मस्जिद नहीं थी, तो बाबरी मस्जिद विध्वंस का मुकदमा झेल रहे तमाम कारसेवकों को भी मुकदमे से बरी किया जाना जरूरी है. उन्होंने कहा है कि किन्नर भी यही चाहते हैं कि अयोध्या में भव्य राम लला का मंदिर बने और अयोध्या का इस तरह से विकास हो कि देश और दुनिया में उसका नाम हो. आचार्य महामंडलेश्वर लक्ष्मी त्रिपाठी ने कहा है अयोध्या में भव्य राम मंदिर वीएचपी के मॉडल पर तैयार होना चाहिए, जो कि पिछले कई वर्षों से हम लोग इस मॉडल को देखते आए हैं.  उसी मंदिर को बनते हुए पूरी दुनिया अब देखना चाहती है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading