• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • Mahant Death Case: आनंद गिरि ने खुद पर जानलेवा हमले का खतरा बताते हुए मांगी विशेष सुरक्षा

Mahant Death Case: आनंद गिरि ने खुद पर जानलेवा हमले का खतरा बताते हुए मांगी विशेष सुरक्षा

Mahant Narendra Giri Death: गिरफ्तार स्वामी आनंद गिरि ने न्यायालय से विशेष सुरक्षा की मांग की है.

Mahant Narendra Giri Death: गिरफ्तार स्वामी आनंद गिरि ने न्यायालय से विशेष सुरक्षा की मांग की है.

Prayagraj News: आनंद गिरि ने वकील के माध्यम से कहा है कि पेशी के समय न्यायालय के बाहर कुछ अराजक तत्वों द्वारा उनके साथ मारपीट की गई और दुर्व्यवहार किया गया. आशंका है कि जेल के अंदर और जेल से न्यायालय लाते समय उनके साथ प्राणघातक हमला व दुर्व्यवहार हो सकता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

प्रयागराज. उत्तर प्रदेश के प्रयागराज (Prayagraj) में अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि की मौत (Mahant Narendra Giri Death ) मामले में गिरफ्तार कर जेल भेजे गए आनंद गिरि (Anand Giri) ने अपने ऊपर खतरा बताते हुए प्रशासन से सुरक्षा की मांग की है. अपने वकील की तरफ से कोर्ट में एक प्रार्थना पत्र देकर आनंद गिरि ने कहा है कि उनके ऊपर कल (बुधवार) कोर्ट में हमला हुआ था, जिसको देखते हुए जेल के अंदर और कोर्ट लाते वक्त भी उन पर हमला हो सकता है.

मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी, इलाहाबाद को दिए प्रार्थना पत्र में आनंद गिरि ने वकील के माध्यम से कहा है कि उन्हें और आद्या प्रसाद तिवारी को 22 सितंबर को न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेजा गया है. जब पुलिस अभिरक्षा में न्यायालय के समक्ष पेश किया गया, तब न्यायालय के बाहर कुछ अराजक तत्वों द्वारा उनके साथ मारपीट की गई और दुर्व्यवहार किया गया. उन्हें आशंका है कि जेल के अंदर और जेल से न्यायालय लाते समय उनके साथ प्राणघातक हमला व दुर्व्यवहार हो सकता है.

न्याय के हित में आवश्यक है कि अधीक्षक, केंद्रीय कारागार, नैनी और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक, इलाहाबाद को आदेश दिया जाए कि वह आवेदक को जेल में विशेष सुरक्षा प्रदान करें और जेल से न्यायालय लाते समय व न्यायालय से जेल ले जाते समय विशेष सुरक्षा प्रदान करें.

बता दें महंत नरेंद्र गिरि आत्महत्या मामले में आरोपी आनंद गिरि की न्यायिक हिरासत को 14 दिन के लिए न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है. बुधवार को उत्तर प्रदेश पुलिस ने आनंद गिरि को कोर्ट में पेश किया था, जिसके बाद उसे न्यायिक हिरासत में भेजा गया. सीजेएम कोर्ट में पोस्टमार्टम रिपोर्ट पेश हुई, जिसे सीजेएम हरेंद्र नाथ ने देखा. पोस्टमार्टम रिपोर्ट में हैंगिंग की बात सामने आई है. अपराध की गंभीरता को देखते हुए सीजेएम ने दोनों आरोपियों को जेल भेज दिया. आरोपी आनन्द गिरि और आद्या प्रसाद तिवारी को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में नैनी सेंट्रल जेल भेज दिया गया.

आनंद गिरि और आद्या प्रसाद तिवारी का प्रार्थनापत्र

Prayagraj News, Mahant Narendra Giri Death Case, anand giri letter

Prayagraj News: आनंद गिरि और आद्या प्रसाद तिवारी का प्रार्थनापत्र

5 अक्टूबर को मामले की अगली सुनवाई होगी. एसआईटी अध्यक्ष सीओ अजीत सिंह चौहान, विवेचक इंस्पेक्टर महेश सिंह समेत टीम कोर्ट में मौजूद रही. विवेचक ने कोर्ट में मृतक के दो मोबाइल, चाकू, नायलान की रस्सी और सुसाइड नोट पेश किया. साक्ष्यों को देखने के बाद सीजेएम के आदेश पर सील कर दिया गया. डीजीसी क्रिमिनल गुलाब चंद्र अग्रहरि ने ये जानकारी दी.

गौरतलब है कि नरेंद्र गिरि ने अपने सुसाइड नोट में आनंद गिरि, आद्या तिवारी और संदीप तिवारी को मानसिक रूप से प्रताड़ित करने का आरोप लगाया था. जिसके बाद पुलिस ने आनंद गिरि को हरिद्वार से गिरफ्तार किया था. आनंद गिरि उस दौरान अपने आश्रम में था और उत्तराखंड पुलिस ने उसे हिरासत में ले लिया था. बाद में यूपी पुलिस की एक टीम ने पहुंच कर उसे गिरफ्तार कर यूपी लाई थी.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज