लाइव टीवी
Elec-widget

AIMPLB द्वारा अयोध्या फैसले पर रिव्यू याचिका दाखिल करने पर महंत नरेंद्र गिरी ने कही ये बात

Sarvesh Dubey | News18 Uttar Pradesh
Updated: November 18, 2019, 3:16 PM IST
AIMPLB द्वारा अयोध्या फैसले पर रिव्यू याचिका दाखिल करने पर महंत नरेंद्र गिरी ने कही ये बात
महंत नरेंद्र गिरी ने पर्सनल लॉ बोर्ड को बताया देशद्रोही.

महंत नरेन्द्र गिरी (Mahant Narendra Giri) ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) का फैसला जब देश के अधिकतर मुसलमानों ने मान लिया है, तब ऐसे में ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड (AIMPLB) को इस मामले मे टांग नहीं अड़ानी चाहिए.

  • Share this:
प्रयागराज. अयोध्या मामले (Ayodhya) में सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) के फैसले के खिलाफ पुनर्विचार याचिका (Review Petition) दाखिल करने के ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड (AIMPLB) के फैसले पर अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद (Akhil Bhartiya Akhara Parishad) के अध्यक्ष महंत नरेन्द्र गिरी (Mahant Narendra Giri) ने कड़ी प्रतिक्रिया दी है. उन्होंने कहा है कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले को जो लोग चुनौती देने जा रहे हैं वे लोग देशद्रोही हैं. ऐसे लोगों के खिलाफ देशद्रोह का मुकदमा दर्ज होना चाहिए. महंत नरेन्द्र गिरी ने यह भी कहा है कि सुप्रीम कोर्ट का फैसला जब देश के अधिकतर मुसलमानों ने मान लिया है, तब ऐसे में ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड को इस मामले मे टांग नहीं अड़ानी चाहिए.

AIMIM के सांसद असदुद्दीन ओवैसी की कड़ी आलोचना करते हुए महंत नरेन्द्र गिरी ने कहा है कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर विवादित बयान देकर ओवैसी पाकिस्तान और वहां के प्रधानमंत्री इमरान खान के एजेंट के रूप में काम कर रहे हैं. साथ ही महंत नरेन्द्र गिरी ने मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड से जुड़े लोगों की गतिविधियों की जांच की भी मांग की है, ताकि इस बात का खुलासा हो सके कि किसके इशारे पर मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड से जुड़े लोग सुप्रीम कोर्ट के फैसले को चुनौती देने जा रहे हैं. उन्होंने कहा है कि यदि जांच में यह बात सामने आती है कि ओवैसी और मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के सदस्यों की पाक प्रधानमंत्री इमरान खान से बात हुई है, तो इनके खिलाफ देशद्रोह का मुकदमा जरूर दर्ज होना चाहिए.

'चुनौती देकर अशांति फैलाने की साजिश'
महंत नरेन्द्र गिरी ने कहा है कि देश के मुसलमान अमन पसंद हैं और इस ऐतिहासिक फैसले के बाद भी देश में शांति बनी हुई है. देशभक्त मुसलमानों का संविधान और न्यायपालिका में पूरा विश्वास है, लेकिन जिन लोगों को देश के संविधान और न्यायपालिका में विश्वास नहीं है ऐसे लोग ही फैसले को चुनौती देने की बात कह रहे हैं और अशांति फैलाना चाहते हैं. महंत नरेन्द्र गिरी ने कहा है कि ओवैसी की कोई साजिश अब कामयाब नहीं होगी, क्योंकि देश के मुसलमानों ने भी सुप्रीम कोर्ट के फैसले को मान लिया है. उन्होंने कहा है कि अयोध्या विवाद के मुख्य पक्षकार इकबाल अंसारी और सुन्नी वक्फ बोर्ड के चेयरमैन जफर फारूकी ने भी सुप्रीम कोर्ट फैसले को चुनौती न देने की बात कही है, जो कि स्वागत योग्य है.

'बवाल की जिम्मेदारी ओवैसी और पर्सनल लॉ बोर्ड की'
महंत नरेन्द्र गिरी ने कहा है कि अब देश में कोई अशांति नहीं फैलेगी, लेकिन फिर भी यदि कोई बवाल होता है तो इसकी पूरी जिम्मेदारी असदुद्दीन ओवैसी और मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड की होगी. महंत नरेन्द्र गिरी ने कहा है कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद अब अयोध्या में भव्य राम मंदिर का निर्माण होगा. इसके लिए साधु संतों की सर्वोच्च संस्था अखाड़ा परिषद भी पूरी तरह से तैयार है. उन्होंने कहा है कि मंदिर निर्माण के लिए बनने वाले ट्रस्ट में पहले ही चारों पीठों के शंकराचार्यों, रामानंदाचार्यों के साथ ही मंदिर आन्दोलन से जुड़े संतों, अखाड़ा परिषद के पदेन अध्यक्ष और महामंत्री के साथ ही गोरक्षपीठाधीश्वर योगी आदित्यनाथ को शामिल करने की मांग अखाड़ा परिषद कर चुका है.

Loading...

ये भी पढ़ें:

अयोध्या फैसले पर रिव्यू पिटीशन को लेकर मुस्लिम पक्षों में दो फाड़!

सुप्रीम कोर्ट के अयोध्या फैसले के खिलाफ पुनर्विचार याचिका दाखिल करेगा AIMPLB

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए इलाहाबाद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 18, 2019, 1:56 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com