लाइव टीवी

मौनी अमावस्या पर सवा करोड़ से ज्यादा श्रद्धालुओं ने संगम में लगाई आस्था की डुबकी...

News18 Uttar Pradesh
Updated: January 24, 2020, 11:08 PM IST
मौनी अमावस्या पर सवा करोड़ से ज्यादा श्रद्धालुओं ने संगम में लगाई आस्था की डुबकी...
मौनी अमावस्या के पर्व पर संगम में पवित्र डुबकी लगाते श्रद्धालु

कुम्भ (Kumbh Mela) की तर्ज पर मौनी अमावस्या के पर्व पर हेलीकाफ्टर (Helicopter) की पुष्प वर्षा से श्रद्धालु और साधु-संत गदगद और उल्लसित हो उठे. अमावस्या के स्नान के सकुशल और निर्विघ्न सम्पन्न होने पर मेला प्रशासन (Magh Mela Administration) ने भी राहत की सांस ली...

  • Share this:
प्रयागराज. संगम नगरी (Sangam nagari) प्रयागराज (Prayagraj) में लगे माघ मेले (Magh Mela) के सबसे बड़े स्नान पर्व मौनी अमावस्या के मौके पर शाम पांच बजे तक सवा करोड़ से ज्यादा श्रद्धालुओं (Devotee) ने आस्था की डुबकी लगाई. जबकि मौनी अमावस्या का स्नान पर्व गुरुवार को ही शुरु हो गया था. ऐसे में दो दिनों में मिलाकर डेढ़ करोड़ से ज्यादा श्रद्धालुओं ने मौनी अमावस्या के स्नान पर्व पर गंगा-यमुना और अदृश्य सरस्वती के संगम (Sangam) में स्नान किया है.

घरों को लौटने लगे श्रद्धालु
मौनी अमावस्या के पर्व पर स्नान और दान के बाद मेले में आये श्रद्धालु पुण्य लाभ अर्जित कर अब अपने घरों को लौटने लगे हैं. संगम से वापसी के मार्ग पर तेजी से श्रद्धालुओं का रेला निकलता जा रहा है. रोडवेज और रेलवे स्टेशन की ओर तेजी से बढ़ते श्रद्धालु नजर आ रहे हैं. जबकि निजी वाहनों से आये श्रद्धालु भी पार्किंग में खड़े वाहनों की ओर रुख कर रहे हैं. मन में मां गंगा के प्रति अटूट आस्था और विश्वास लिए सभी श्रद्धालु अगले साल फिर से अमावस्या के स्नान की कामना के साथ अपने ठौर को निकल रहे हैं. वहीं गंगा, यमुना और अदृश्य सरस्वती की त्रिवेणी पर ब्रह्म मुहूर्त में पुण्य काल में शुरु हुआ श्रद्धालुओं के स्नान का सिलसिला शिवरात्रि तक जारी रहेगा लेकिन भीड़ का एक बड़ा हिस्सा मौनी अमावस्या के बाद यहां से प्रस्थान कर जाता है.

sabgam, prayagraj, magh mela
माघ मेले में श्रद्धालुओं की भीड़


संगम दिखे अलग अलग नजारे
मौनी अमावस्या के मौके पर संगम के तट पर कई अलग-अलग तरह के नजारे भी देखने को मिले. कहीं पर तीर्थ पुरोहित श्रद्धालुओं को चंदन घिसकर टीका लगा रहे थे. तो कहीं पर महिलायें भजन गा रही थीं. कहीं लोग बैकुण्ठ जाने की कामना को लेकर गौ-दान करते देखे गए. वहीं मौनी अमावस्या के स्नान के सकुशल और निर्विघ्न सम्पन्न होने पर मेला प्रशासन ने भी राहत की सांस ली है.

magh mela, prayagraj, sangam
आस्था का नजारा, गोदान
मेला प्रशासन के सामने अब सबसे बड़े चुनौती यही है कि मेले में आये सभी श्रद्धालुओं को सुरक्षित उनके गन्तव्य तक भेजा जा सके. इस बार मौनी अमावस्या की तैयारियों को लेकर भी श्रद्धालु योगी सरकार से खासे खुश नजर आये तो वहीं कुम्भ की तर्ज पर मौनी अमावस्या के पर्व पर हैलीकाफ्टर की पुष्प वर्षा से श्रद्धालु और साधु-संत गदगद और उल्लसित हो उठे. मौनी अमावस्या का स्नान कर अपने घरों को लौट रहे श्रद्धालुओं ने योगी सरकार के इंतजामों की भी जमकर सराहना की.

ये भी पढ़ें- AIMPLB के उपाध्यक्ष डॉ कल्बे सादिक बोले- 'देश किसी की मर्जी से नहीं, संविधान से चलेगा'

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए इलाहाबाद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 24, 2020, 10:24 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर