होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /डेंगू मरीज को प्लेटलेट्स की जगह चढ़ा दिया था मौसमी का जूस, अब CMO ने सील कराया अस्पताल

डेंगू मरीज को प्लेटलेट्स की जगह चढ़ा दिया था मौसमी का जूस, अब CMO ने सील कराया अस्पताल

डेंगू मरीज को प्लेटलेट्स की जगह मौसमी का जूस चढ़ाने के मामले में ग्लोबल अस्पताल का लाइसेंस निरस्त कर उसे सील करने की कार्रवाई कराई गई है.

डेंगू मरीज को प्लेटलेट्स की जगह मौसमी का जूस चढ़ाने के मामले में ग्लोबल अस्पताल का लाइसेंस निरस्त कर उसे सील करने की कार्रवाई कराई गई है.

UP News: संगम नगरी प्रयागराज में डेंगू के मरीज को प्लेटलेट्स की जगह मौसमी का जूस चढ़ाने के मामले में स्वास्थ्य महकमे ने ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

डेंगू मरीज को प्लेटलेट्स की जगह मौसमी का जूस चढ़ाने के मामले में स्वास्थ्य महकमे ने एक्शन लिया है.
अस्पताल की लापरवाही सामने आने के बाद लाइसेंस निरस्त कर अस्पताल को सील करने की कार्रवाई की गई है.

प्रयागराज. संगम नगरी प्रयागराज में डेंगू के मरीज को प्लेटलेट्स की जगह मौसमी का जूस चढ़ाने के मामले में स्वास्थ्य महकमे ने बड़ा एक्शन लिया है. स्वास्थ्य महकमे ने प्रारंभिक जांच में अस्पताल की लापरवाही पाए जाने पर अस्पताल का लाइसेंस निरस्त कर अस्पताल को सील करने की कार्रवाई की है. सीएमओ डॉक्टर नानक सरन के निर्देश पर अस्पताल सील करने की कार्रवाई डॉक्टर एके तिवारी की टीम ने की है. इस मामले में सूबे के स्वास्थ्य मंत्री और डिप्टी सीएम ब्रजेश पाठक ने भी ट्वीट किया है. आईजी रेंज प्रयागराज डॉ राकेश कुमार सिंह ने भी कार्रवाई करने की बात कही है.

बता दें, डेंगू पीड़ित प्रदीप पांडेय नाम का एक मरीज झलवा स्थित ग्लोबल हॉस्पिटल में 17 अक्टूबर भर्ती हुआ था. डॉक्टरों ने उसे आठ यूनिट प्लेटलेट्स चढ़ाने की सलाह दी थी. तीन यूनिट प्लेटलेट्स मरीज को चढ़ा भी दिया गया था. बाद में अस्पताल द्वारा और पांच यूनिट प्लेटलेट्स मंगाए जाने पर मरीज के परिजन किसी एजेंट के माध्यम से प्लेटलेट्स लेकर आए.

प्रारंभिक जांच में अस्पताल की लापरवाही आई सामने 

आपके शहर से (इलाहाबाद)

इलाहाबाद
इलाहाबाद

मरीज के तीमारदारों का आरोप है कि प्लेटलेट्स चढ़ाने के बाद ही मरीज की हालत बिगड़ गई, जिसके बाद उसे हार्ट अस्पताल में भर्ती किया गया, जहां पर 19 अक्टूबर को मरीज की मौत हो गई. तीमारदारों की शिकायत पर सीएमओ ने तेज बहादुर सप्रू बेली अस्पताल के ब्लड बैंक के डॉक्टरों की 3 सदस्य टीम बनाई और पूरे मामले की जांच कराई. सीएमओ डॉक्टर नानक सरन के मुताबिक प्रारंभिक जांच में अस्पताल की लापरवाही सामने आई है, जिसके बाद झलवा स्थित ग्लोबल अस्पताल का लाइसेंस निरस्त कर उसे सील करने की कार्रवाई कराई गई है.

CMO ने कहा- दोषियों के खिलाफ होगी सख्त कार्रवाई 

सीएमओ के मुताबिक परिजनों के पास एक यूनिट प्लेटलेट्स अभी बचा हुआ है. इसे सुरक्षित रख दिया गया है और फॉरेंसिक जांच के लिए भेजा जाएगा. उनके मुताबिक प्लेटलेट यूनिट पर एसआरएन अस्पताल की मोहर लगी है. उन्होंने कहा है कि इसकी भी जांच कराई जाएगी कि कहीं प्लेटलेट नकली तो नहीं है. सीएमओ ने कहा है कि पूरे मामले में जिस स्तर से भी लापरवाही पायी जाएगी दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी. गौरतलब है कि संगम नगरी प्रयागराज में कुछ दिनों पूर्व ही जार्जटाउन थाना पुलिस ने नकली ब्लड बेचने के गैंग को पकड़ा था,जिसमें पुलिस ने कार में ब्लड बैंक चलाने वाले गिरोह का खुलासा किया था. पुलिस ने कई यूनिट नकली ब्लड बरामद करने के साथ ही 12 आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेजा था.

Tags: Allahabad news, Dengue death, Dengue outbreak, Prayagraj, UP news

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें