लाइव टीवी

शाहीन बाग की तर्ज पर प्रयागराज में मुस्लिम महिलाओं ने CAA-NRC के खिलाफ संभाली मोर्चे की कमान...

News18 Uttar Pradesh
Updated: January 14, 2020, 5:22 PM IST
शाहीन बाग की तर्ज पर प्रयागराज में मुस्लिम महिलाओं ने CAA-NRC के खिलाफ संभाली मोर्चे की कमान...
CAA-NRC Protest: प्रयागराज के मंसूर पार्क में धरने पर बैठीं महिलाऐं

CAA-NRC Protest: महिलाएं पूरी रात यहां खुले आसमान के नीचे बैठी रहती हैं. यहीं नमाज़ पढ़ती हैं और यहीं से सरकार के खिलाफ हुंकार भर रही हैं. आंदोलन के तीन दिन बीतने और धरना स्थल पर लगातार आंदोलनकारियों की भीड़ बढ़ने से प्रशासन की मुश्किलें लगातार बढ़ती जा रही हैं...

  • Share this:
प्रयागराज. नागरिकता संशोधन कानून (Citizenship amendment act) के विरोध में दिल्ली के शाहीन बाग़ (Shaheen Bagh of Delhi) की तर्ज पर संगम नगरी (sangam nagri) प्रयागराज (Prayagraj) की महिलाएं भी शहर के मंसूर अली पार्क (Mansoor Ali Park) में पिछले तीन दिनों से लगातार धरने पर बैठी हुई हैं. शहर के बीचो -बीच स्थित यह पार्क तीन दिनों से आंदोलनकारियों के कब्ज़े में हैं. पुलिस और प्रशासन ने तीन दिनों में कई बार आंदोलनकारियों को हटाने और उनका धरना ख़त्म कराकर पार्क को खाली कराने की कोशिश की लेकिन ज़बरदस्त भीड़ के चलते यह कोशिश कामयाब नहीं हो सकी.

CAA PROTEST, NRC
हाथों में तिरंगा, बाबा अंबेडकर की फोटो थामे धरने पर बैठे लोग न तो किसी सियासी पार्टी से जुड़े हुए हैं और न ही संगठन से


महिलाओं ने संभाली विरोध की कमान
ख़ास बात यह है कि इस बार के आंदोलन की कमान बुर्कानशीं मुस्लिम महिलाओं ने संभाल रखी है. मुस्लिम महिलाओं के साथ बड़ी संख्या में पुरुष व बच्चे भी शामिल हैं. महिलाएं पूरी रात यहां खुले आसमान के नीचे बैठी रहती हैं. यहीं नमाज़ पढ़ती हैं और यहीं से सरकार के खिलाफ हुंकार भर रही हैं. आंदोलन के तीन दिन बीतने और धरना स्थल पर लगातार आंदोलनकारियों की भीड़ बढ़ने से प्रशासन की मुश्किलें लगातार बढ़ती जा रही हैं. इसके साथ ही पार्क को आंदोलनकारियों के कब्ज़े से खाली कराना भी प्रशासन के लिए बड़ी चुनौती साबित हो रही है. नागरिकता संशोधन क़ानून CAA और NRC के विरोध में प्रयागराज की मुस्लिम महिलाओं का यह आंदोलन रविवार से शुरू हुआ है. महिलाओं के समर्थन में बड़ी संख्या में पुरुष भी धरना स्थल पर बैठे हुए हैं.

CAA,NRC,CAB Protest
तीन दिन से प्रयागराज में caa-nrc के खिलाफ महिलाओं ने खोला मोर्चा


CAA-NRC Protest को विपक्ष व वामदलों का समर्थन
कई विपक्षी पार्टियों और वामपंथी संगठनों के समर्थन की वजह से माहौल तनावपूर्ण होता जा रहा है. प्रशासन ने एहतियातन बड़ी संख्या पुलिस और पीएसी की तैनाती कर दी है. धरनास्थल पर लोगों की भीड़ लगातार बढ़ती जा रही है. आंदोलनकारियों का कहना है कि वह तब तक नहीं हटेंगे, जब तक केंद्र सरकार CAA को वापस नहीं ले लेगी और NRC को देश में लागू न करने का आश्वासन दे देगी. महिलाएं व दूसरे आंदोलनकारी रात भर खुले आसमान के नीचे मंसूर अली पार्क में डटे हुए हैं. धरना स्थल पर लगातार सरकार के खिलाफ नारेबाजी भी हो रही है. बीच-बीच में गीतों-ग़ज़लों और ढपली की धुनों के बीच सरकार को घेरने और उस पर निशाना साधने का भी काम किया जा रहा है. हालांकि हाथों में तिरंगा थामे धरने पर बैठे लोग न तो किसी सियासी पार्टी से जुड़े हुए हैं और न ही संगठन से.ये भी पढ़ें- ठंड व कोहरे ने रोकी ट्रेन व बसों की रफ्तार, दर्जनों फ्लाइट्स भी लेट, यात्री परेशान...


मकर संक्रांति विशेष: नेपाल की सुख-शांति के लिए गोरखनाथ को चढ़ाई जाती है खिचड़ी, जानिये क्या है पूरी कहानी....

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए इलाहाबाद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 14, 2020, 5:18 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर