Home /News /uttar-pradesh /

कुंभ में VHP की धर्म संसद का आखिरी दिन, राम मंदिर को लेकर हो सकता है बड़ा ऐलान

कुंभ में VHP की धर्म संसद का आखिरी दिन, राम मंदिर को लेकर हो सकता है बड़ा ऐलान

एक तरफ जहां परम धर्म सांसद में साधु-संतों ने पहले ही घोषणा कर दी है कि वह 21 फरवरी को अयोध्या में राम मंदिर के लिए शिलान्यास करें. वहीं अब देखना होगा कि इसके बाद विश्व हिंदू परिषद मंदिर निर्माण को लेकर क्या प्रस्ताव पास करती है.

एक तरफ जहां परम धर्म सांसद में साधु-संतों ने पहले ही घोषणा कर दी है कि वह 21 फरवरी को अयोध्या में राम मंदिर के लिए शिलान्यास करें. वहीं अब देखना होगा कि इसके बाद विश्व हिंदू परिषद मंदिर निर्माण को लेकर क्या प्रस्ताव पास करती है.

एक तरफ जहां परम धर्म सांसद में साधु-संतों ने पहले ही घोषणा कर दी है कि वह 21 फरवरी को अयोध्या में राम मंदिर के लिए शिलान्यास करें. वहीं अब देखना होगा कि इसके बाद विश्व हिंदू परिषद मंदिर निर्माण को लेकर क्या प्रस्ताव पास करती है.

    प्रयागराज में विश्व हिंदू परिषद की धर्मसंसद पर सभी की निगाहें टिकी हुई हैं. धर्मसंसद के दूसरे दिन विश्व हिंदू परिषद आयोध्या में राम मंदिर निर्माण को लेकर बड़ी घोषणा कर सकता है. एक तरफ जहां परम धर्म सांसद में साधु-संतों ने पहले ही घोषणा कर दी है कि वह 21 फरवरी को अयोध्या में राम मंदिर के लिए शिलान्यास करेंगे. वहीं अब देखना होगा कि इसके बाद विश्व हिंदू परिषद मंदिर निर्माण को लेकर क्या प्रस्ताव पास करती है.

    हालांकि विहिप ने साधु-संतों के अयोध्या कूच और भूमि पूजन पर ऐतराज जताते हुए कहा कि इससे कुछ फायदा नहीं होगा. बल्कि राम मंदिर का मामला और जटिल हो जाएगा.

    संतों के अयोध्या कूच पर बोले मुस्लिम पक्षकार- कांग्रेस के इशारे पर फिजा खराब करने की कोशिश

    इससे पहले पहले दिन धर्म संसद में गठबंधन की राजनीति पर संतों ने करारा प्रहार किया. महाराष्ट्र के भीमा कोरेगांव, सहारनपुर हिंसा का जिक्र करते हुए इस कोशिश को हिंदुओं को बांटने की साजिश बताया. धर्म संसद में केरल के सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश का मुद्दा उठा. धर्म संसद में यह प्रस्ताव पास हुआ कि सबरीमाला मुद्दे को अयोध्या आन्दोलन की तरफ उठाया जाएगा.

    विहिप की धर्म संसद में पहुंचे आरएसएस चीफ मोहन भागवत ने कहा कि षड्यंत्र के तहत हिंदू समाज को बांटा जा रहा है, हिंदुओं के खिलाफ कपट युद्ध हो रहा है. उन्होंने सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश को करोड़ों हिंदुओं की भावनाओं को ठेस पहुंचाने वाला बताया.

    धर्म संसद में मोहन भागवत ने कहा कि सबरीमाला सिर्फ मलयालम भाषी के भगवान नहीं हैं. पूरा हिंदू समाज उनके साथ है. सुप्रीम कोर्ट ने हिंदुओं की आस्था का ध्यान नहीं रखा. वोटो की राजनीति हो रही है, महाराष्ट्र का आंदोलन गवाह है. राजनीति करने वाले समझ लें कि आंबेडकर के अनुयायी हम भी हैं. हिंदुओं को चेतना होगा.

    एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

    Tags: Allahabad Kumbh Mela, Ram Mandir Dispute, Up news in hindi, Uttar pradesh news, VHP

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर