लाइव टीवी

CAA पर स्वामी अधोक्षजानंद बोले-'कानून सभी नागरिकों के लिए समान होना चाहिए, यही धर्म है'
Allahabad News in Hindi

News18 Uttar Pradesh
Updated: January 4, 2020, 8:59 AM IST
CAA पर स्वामी अधोक्षजानंद बोले-'कानून सभी नागरिकों के लिए समान होना चाहिए, यही धर्म है'
CAA लागू किए जाने की स्वामी अधोक्षजानंद ने कड़ी आलोचना की है.

स्वामी अधोक्षजानंद प्रयागराज के संगम पर आए हुए हैं. इस दौरान news 18 से उन्होंने ख़ास बातचीत में कहा कि देश में जो भी कानून लागू किया जाए वह सभी नागरिकों के लिए समान होना चाहिए.

  • Share this:
प्रयागराज. केंद्र सरकार द्वारा नागरिकता संशोधन कानून (Citizenship amendment Act) लागू किए जाने की स्वामी अधोक्षजानंद (Swami Adhokshajanand) ने कड़ी आलोचना की है. स्वामी अधोक्षजानंद प्रयागराज के संगम पर आए हुए हैं. इस दौरान news 18 से उन्होंने ख़ास बातचीत में कहा कि देश में जो भी कानून लागू किया जाए वह सभी नागरिकों के लिए समान होना चाहिए.

स्वामी अधोक्षजानंद ने सीएए पर अपनी राय देते हुए कहा कि यदि इस कानून में कोई खामी है तो उस पर पुर्नविचार कर संशोधन किया जाना चाहिए. उन्होंने कहा कि 'राजा की नजर में जाति, धर्म, रंग-भेद और क्षेत्रवाद नहीं होना चाहिए. उन्होनें कहा कि देश में जो भी कानून लागू किया जाये वह सभी नागरिकों के लिए समान होना चाहिए. यही हमारी धर्म नीति कहती है और यही राजनीति का भी धर्म है'. उन्होंने कहा है कि इस कानून के संसद में पास होने से देश में हलचल मची हुई है.

देश में सामाजिक संतुलन बिगड़ा
सीएए को लेकर देश के कई राज्यों में हिंसा पर चिंता व्यक्त करते हुए स्वामी अधोक्षजानंद ने कहा है कि इस कानून से सामाजिक असंतुलन भी बढ़ा है. स्वामी अधोक्षजानंद ने कहा है कि नागरिक संशोधन कानून को लेकर सत्तापक्ष और विपक्ष दोनों ही गैर जिम्मेदाराना हरकत कर रहे हैं, जिससे आम लोगों में अव्यवस्थायें फैल रही हैं. उन्होंने देश की जनता से अपील की है कि नागरिकता संशोधन कानून को लेकर समझदारी से काम लेने जरुरत है.



स्वामी अधोक्षजानंद ने कहा है कि देश के चुनाव में हर नागरिक वोट करता है और देश की सबसे बड़ी पंचायत संसद में कानून बनता है. इसलिए देश की संसद को भी देश में क्या हो रहा है, इस पर सत्ता पक्ष और विपक्ष के सांसदों के पक्ष को पूरी गम्भीरता से सुनना चाहिए. उन्होंने कहा है कि विपक्ष को महज भी विरोध के लिए किसी कानून का विरोध नहीं करना चाहिए. बल्कि सत्ता पक्ष और विपक्ष दोनों को देश के विकास और शांति के लिए मिलजुल कर कोई फैसला करना चाहिए.



ये भी पढ़ें- लखनऊ में गरजीं प्रियंका गांधी- जनता से बदला लेने वाले इतिहास के पहले मुख्यमंत्री हैं योगी आदित्यनाथ

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए इलाहाबाद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 31, 2019, 1:15 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading