अपना शहर चुनें

States

HC: पंचायत चुनाव में स्वतंत्रता संग्राम सेनानी के आश्रितों के लिए सीट आरक्षण की मांग वाली याचिका खारिज

(सांकेतिक तस्वीर)
(सांकेतिक तस्वीर)

Aligarh News: अजय पाल सिंह ने याचिका दाखिल की थी. याची ने ग्राम पंचायत चुनाव में गनगिरी जिला पंचायत, अलीगढ़ को आरक्षित करने की मांग की थी. हाईकोर्ट ने कहा कि याची के दावे का कोई वैधानिक अधिकार नहीं है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 29, 2021, 5:48 PM IST
  • Share this:
प्रयागराज. उत्तर प्रदेश में होने वाले पंचायत चुनाव (Panchayat Elections) में स्वतंत्रता संग्राम सेनानी (Freedom Fighter) के आश्रितों के लिए सीट आरक्षण की मांग को लेकर इलाहाबाद हाईकोर्ट (Allahabad High Court) में एक याचिका दाखिल की गई है. याचिका पर गुरुवार को सुनवाई करते हुए हाईकोर्ट ने कहा कि पंचायत चुनाव में ऐसा कोई प्राविधान नहीं है. ऐसे में आश्रित को आरक्षण का लाभ देने का आदेश नहीं दिया जा सकता है.

बता दें कि अलीगढ़ के अजय पाल सिंह ने यह याचिका दाखिल की थी. हाईकोर्ट ने कहा कि याची के दावे का कोई वैधानिक अधिकार नहीं है. याची ने ग्राम पंचायत चुनाव में गनगिरी जिला पंचायत, अलीगढ़ को आरक्षित करने की मांग की थी. सीट स्वतंत्रता संग्राम सेनानी के आश्रित के लिए आरक्षित करने की मांग की गई थी. याची ने इस संबंध में जिला निर्वाचन अधिकारी और डीएम को प्रत्यावेदन दिया था, उस पर कोई निर्णय नहीं लेने पर याचिका दायर की गई थी.





'पंचायत चुनाव में ऐसा कोई प्रावधान नहीं'
हाईकोर्ट ने कहा कि पंचायत चुनाव में ऐसा कोई प्रावधान नहीं है. ऐसे में आश्रित को आरक्षण का लाभ देने का आदेश नहीं दिया जा सकता है. हाईकोर्ट ने कहा कि याची के दावे का कोई वैधानिक अधिकार नहीं है. जस्टिस एसपी केसरवानी और जस्टिस डॉ. वाईके श्रीवास्तव की पीठ ने यह आदेश दिया.

वोटर लिस्ट में नहीं है नाम, जुड़वाने के लिए करें आवेदन
उधर, राज्य निर्वाचन आयोग ने गुरुवार को सभी जिला मजिस्ट्रेट एवं सह जिला निर्वाचन अधिकारियों के नाम परिपत्र जारी कर दिया है. इसके तहत त्रिस्तरीय पंचायतों के निर्वाचक नामावलियों के वृहद पुनरीक्षण के दौरान नियत समय तक दावे और आपत्तियों के निस्तारण की प्रक्रिया अपनाई जानी है. इसमें यह तय कर लिया जाए कि उत्तर प्रदेश पंचायत राज अधिनियम 1947 और उत्तर प्रदेश पंचायतराज (निर्वाचक रजिस्ट्रीकरण) नियमावली 1994 के प्रावधानों के अनुसार समीक्षा कराई जाए, ताकि किसी पात्र व्यक्ति का निर्वाचक नामावली में नाम दर्ज होने से छूटे नहीं.

अन्तिम रूप से 22 जनवरी को प्रकाशित हो चुकी मतदाता सूची में अगर आपका नाम नहीं है और आपकी उम्र 18 साल हो चुकी है तो आप भी वोटर लिस्ट में अपना नाम जुड़वा सकते हैं. इसके अलावा वोटर लिस्ट में आपके नाम और अन्य डिटेल में त्रुटि है तो आप इसमें संशोधन भी कहा सकते हैं. यह नाम पंचायत चुनाव की अधिसूचना जारी होने से पहले तक दर्ज किए जाएंगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज