Home /News /uttar-pradesh /

Phaphamu incident: पीड़ित परिवार के घर नेताओं का जमघट, सपा डेलिगेशन भी पहुंचा मिलने

Phaphamu incident: पीड़ित परिवार के घर नेताओं का जमघट, सपा डेलिगेशन भी पहुंचा मिलने

पीड़ित परिवार से मिलने पहुंचे सपा डेलिगेशन ने कहा कि दलित समाज में जन्म लेना ही अपराध बन गया है.

पीड़ित परिवार से मिलने पहुंचे सपा डेलिगेशन ने कहा कि दलित समाज में जन्म लेना ही अपराध बन गया है.

SP Delegation: सपा नेता मिठाई लाल भारतीय ने कहा कि दलित समाज में जन्म लेना ही अपराध बन गया है. दलित होने के नाते यह जो वारदात हुई है, वह बेहद दुखद है. अगर किसी और जाति के लोगों के साथ यह हुई होती तो अब तक बहुत कुछ हो जाता. उन्होंने राज्य सरकार की ओर से पीड़ित परिजनों को 16.5 लाख के दिए गए मुआवजे को बेहद कम बताते हुए मुआवजे की रकम 1 करोड़ किए जाने की मांग की है. इसके साथ ही साथ परिजनों को रहने के लिए सरकारी आवास और खेती के लिए जमीन भी दिए जाने की मांग की है.

अधिक पढ़ें ...

प्रयागराज. फाफामऊ थाना क्षेत्र के गोहरी मोहनगंज बाजार में गुरुवार को दलित परिवार के चार लोगों की हुई सामूहिक हत्या का मामला सियासी रंग लेता जा रहा है. कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा और आम आदमी पार्टी के यूपी प्रभारी व राज्यसभा सांसद संजय सिंह के बाद अब समाजवादी पार्टी ने भी अपना प्रतिनिधिमंडल पीड़ित परिजनों से मुलाकात के लिए भेजा है. सपा मुखिया और पूर्व सीएम अखिलेश यादव के निर्देश पर छह सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल शनिवार को गोहरी गांव पहुंचा.

समाजवादी बाबासाहेब अंबेडकर वाहिनी के राष्ट्रीय अध्यक्ष मिठाई लाल भारतीय के नेतृत्व में पहुंचे सपा नेताओं ने पीड़ित परिजनों से मुलाकात की. सपा प्रतिनिधिमंडल ने फूलचंद भारतीय, उनकी पत्नी मीनू, बेटे शिव और बेटी की नृशंस हत्या किए जाने की कड़े शब्दों में निंदा की. सपा नेता मिठाई लाल भारतीय ने परिजनों से मुलाकात के बाद कहा कि दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए. सपा नेताओं ने आरोपियों के खिलाफ पोक्सो एक्ट के तहत भी कार्रवाई किए जाने की मांग की है. इसके साथ ही साथ पीड़ित परिजनों को एक करोड़ का आर्थिक मुआवजा और सरकारी नौकरी दिए जाने की भी मांग की है.

सपा नेताओं ने 16.5 लाख के मुआवजे को बेहद कम बताया

सपा नेता मिठाई लाल भारतीय ने जिला प्रशासन के रवैए की निंदा की. उन्होंने कहा है कि प्रदेश की योगी सरकार से अब कोई उम्मीद नहीं बची है. दलित समाज में जन्म लेना ही अपराध बन गया है. दलित होने के नाते यह जो वारदात हुई है, वह बेहद दुखद है. अगर किसी और जाति के लोगों के साथ यह हुई होती तो अब तक बहुत कुछ हो जाता. उन्होंने राज्य सरकार की ओर से पीड़ित परिजनों को 16.5 लाख के दिए गए मुआवजे को बेहद कम बताते हुए मुआवजे की रकम 1 करोड़ किए जाने की मांग की है. इसके साथ ही साथ परिजनों को रहने के लिए सरकारी आवास और खेती के लिए जमीन भी दिए जाने की मांग की है.

शस्त्र लाइसेंस स्वीकृत किए जाने की मांग

सपा प्रतिनिधिमंडल ने परिजनों की सुरक्षा के लिए उन्हें शस्त्र लाइसेंस स्वीकृत किए जाने की मांग की है. मिठाई लाल भारतीय ने कहा है कि यूपी विधानसभा चुनाव के बाद समाजवादी पार्टी की सरकार बन रही है और उनकी सरकार बनने पर पीड़ित परिजनों की सभी मांगें सपा सरकार ही पूरा करेगी. वहीं फूलपुर से पूर्व सांसद नागेंद्र सिंह पटेल ने इस घटना पर दुख जताया है. उन्होंने पुलिस और प्रशासन की कार्यप्रणाली पर गंभीर सवाल खड़े किए. उन्होंने कहा कि माफियाओं और अपराधियों पर एक्शन लेने का दावा करती है योगी सरकार. आखिर योगी सरकार का बुलडोजर अब कहां है और अपराधियों के घर पर बुलडोजर कब चलेगा.

सपा का प्रतिनिधिमंडल

जिलाध्यक्ष योगेश चंद्र यादव ने कहा कि आज शाम को ही पीड़ित परिजनों से जो बातचीत हुई है, उसके आधार पर एक रिपोर्ट तैयार कर सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव और प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल को भेज दी जाएगी. बता दें कि सपा के 6 सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल में मिठाई लाल भारतीय के अलावा पूर्व सांसद नागेंद्र सिंह पटेल, पूर्व सांसद धर्मराज पटेल, सपा जिला अध्यक्ष योगेश चंद्र यादव, सपा जिला महासचिव संदीप पटेल और सपा एमएलसी वासुदेव यादव शामिल थे. हालांकि इस मौके पर सोरांव से पूर्व विधायक सत्यवीर मुन्ना भी मौजूद रहे.

Tags: Akhilesh yadav, Allahabad news, UP Election 2022

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर