Home /News /uttar-pradesh /

ईद पर मस्जिदों, ईदगाहों में नमाज की इजाजत की मांग लेकर PIL, HC ने सीधे तौर पर राहत देने से किया इंकार

ईद पर मस्जिदों, ईदगाहों में नमाज की इजाजत की मांग लेकर PIL, HC ने सीधे तौर पर राहत देने से किया इंकार

(प्रतीकात्मक तस्वीर)

(प्रतीकात्मक तस्वीर)

इलाहाबाद हाईकोर्ट (Allahabad High Court) ने सीधे तौर पर राहत देने से इंकार कर दिया है अदालत ने कहा कि पहले राज्य सरकार से इस संबंध में अनुरोध किया जाए. राज्य सरकार से अनुरोध खारिज होने या अर्जी पेंडिंग होने पर याचिका दाखिल की जाए.

अधिक पढ़ें ...
    प्रयागराज. उत्तर प्रदेश में ईद (Eid) को लेकर मस्जिदों (Mosque) और ईदगाहों में नमाज (Namaz) की इजाजत की मांग को लेकर इलाहाबाद हाईकोर्ट (Allahabad High Court) में जनहित याचिका (PIL) दाखिल की गई है. मामले में इलाहाबाद हाईकोर्ट ने सीधे तौर पर राहत देने से इंकार कर दिया है अदालत ने कहा कि पहले राज्य सरकार से इस संबंध में अनुरोध किया जाए. राज्य सरकार से अनुरोध खारिज होने या अर्जी पेंडिंग होने पर याचिका दाखिल की जाए.

    कोर्ट ने कहा- सभी मांग के लिए सीधे हाईकोर्ट आना उचित नहीं

    बता दें याचिका में एक घंटे नमाज के लिए अनुमति देने की मांग की गई है, हाईकोर्ट की डिवीजन बेंच ने जनहित याचिका को निस्तारित कर दिया है. कोर्ट ने कहा कि सभी मांग के लिए सीधे हाईकोर्ट आना उचित नहीं है. हाईकोर्ट के वकील शाहिद अली सिद्दीकी ने जनहित याचिका दाखिल की थी.'

    ईद के साथ जून तक जुमे की नमाज की मांगी गई अनुमति

    अर्जी में दलील दी गई थी कि जमात में ईद और जुमे की नमाज होती है. इसके साथ ही अर्जी में जून माह तक जुमे की नमाज के लिए भी अनुमति मांगी थी. चीफ जस्टिस गोविंद माथुर और जस्टिस सिद्धार्थ वर्मा की खंडपीठ ने ये आदेश दिया है.

    इनपुट: सर्वेश दुबे

    ये भी पढ़ें:

    1000 बसों की सियासत: रायबरेली से कांग्रेस MLA ने अपनी ही पार्टी पर उठाए सवाल

    विधानसभा अध्यक्ष से रामगोविंद चौधरी की अपील- आजम खान के परिवार को पैरोल दी जाए

    Tags: Allahabad high court, Eid, Mosques, Namaz, Prayagraj News, Up news in hindi, Uttarpradesh news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर