लाइव टीवी

मकर संक्रांति पर आस्था का सैलाब, 60 लाख श्रद्धालुओं ने संगम में लगाई डुबकी...

News18 Uttar Pradesh
Updated: January 15, 2020, 9:58 PM IST
मकर संक्रांति पर आस्था का सैलाब, 60 लाख श्रद्धालुओं ने संगम में लगाई डुबकी...
मकर संक्रांति पर प्रयागराज पहुंचे लाखों श्रद्धालु

मकर संक्रांति (Makar sankranti) के पर्व पर गंगा, यमुना और अदृश्य सरस्वती के पवित्र संगम में डुबकी लगाने के लिये सुबह से ही लाखों श्रद्धालुओं का हुजूम संगम तट की ओर बढ़ा चला आ रहा था. माघ मेला में सुरक्षा के मद्देनजर आरएएफ (RAF), पीएसी (PAC), एनडीआरएफ (NDRF) और जल पुलिस भी बराबर चैकसी करते रहे

  • Share this:
प्रयागराज. संगम नगरी (sangam nagari) प्रयाग (prayag) में आज मकर संक्रान्ति (Makar Sankranti) के पर्व पर साठ लाख श्रद्धालुओं ने संगम में आस्था की डुबकी लगाई. प्रशासनिक आंकड़ों के मुताबिक शाम चार बजे तक 56 लाख से ज्यादा श्रद्धालुओं (devotees) ने पुण्य की डुबकी लगायी जबकि सुबह दस बजे तक 42 लाख श्रद्धालुओं ने संगम में स्नान (holy bath) कर लिया था.

श्रद्धालुओं का का हुजूम
मकर संक्रांति के पर्व पर गंगा, यमुना और अदृश्य सरस्वती के पवित्र संगम में डुबकी लगाने के लिये सुबह से ही लाखों श्रद्धालुओं का हुजूम संगम तट की ओर बढ़ा चला आ रहा था. इस दौरान माघ मेला इलाके में हर तरफ सिर्फ लोगों के सर नजर आ रहे थे भक्ति में डूबे श्रद्धालु जो ध्यान- स्नान और दान करके घर वापस गये. पतित पावनी मां गंगा का सानिध्य पाने के लिये उमड़े लोगों का लक्ष्य है किसी तरह संगम पर  पहुंचना रहा. मकर संक्रान्ति पर्व पर संगम में डुबकी लगाने की तमन्ना लिये भोर से ही लाखों श्रद्धालुओं का का हुजूम उमड़ता रहा. बुधवार देर शाम तक संगम में श्रद्धालुओं के स्नान का क्रम जारी रहा. इस दौरान अपनी संस्कृति की ओर लौटती युवाओं की टोली भी जगह-जगह गंगा की गोद में डुबकी लगाते नजर आयी.

makar sankranti, prayagraj, sangam
मकर संक्रांति पर माघ मेले में आस्था का हुजूम


भूले-भटकों को मिलाया
मेला प्रशासन के मुताबिक माघ मेले का दूसरा मुख्य स्नान पर्व मकर संक्रांति सकुशल एवं निर्विघ्न सम्पन्न हुआ. प्रयागराज मेला प्राधिकरण द्वारा की गई व्यवस्थाओं के चलते भोर से ही स्नान प्रारम्भ हो गया था. 60 लाख सश्रद्धालुओं ने गंगा, यमुना और अदृश्य सरस्वती के पवित्र संगम तट तथा गंगा नदी के विभिन्न घाटों  पर स्नान कर पुण्य लाभ अर्जित किया. मेलाधिकारी रजनीश मिश्रा के मुताबिक सुबह 05ः00 बजे से ही श्रद्धालुओं की काफी भीड़ थी. श्रद्धालुओं को मेले में भटकना न पड़े इसके लिए मार्ग प्रदर्शित करते हुए बोर्ड रास्तों पर लगाये गये हैं. माघ मेला में सुरक्षा के दृष्टिगत आरएएफ, पीएसी, एनडीआरएफ और जल पुलिस भी बराबर चैकसी करते रहे. डीएम भानुचंद्र गोस्वामी और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक प्रयागराज सत्यार्थ अनिरुद्ध पंकज ने भी स्नान घाटों का भ्रमण कर साधु-संतों और स्नानार्थियों से व्यक्तिगत रूप से मिलकर मेला व्यवस्था के सम्बन्ध में जानकारी ली. डीएम और एसएसपी ने आज मकर संक्रांति स्नान पर्व को सकुशल एवं निर्विघ्न सम्पन्न कराने में सहयोग के लिए सभी का धन्यवाद दिया. मेला क्षेत्र में मकर संक्रांति के पर्व पर 45 महिला-पुरूष और 04 बच्चे अपने परिजनों से बिछड़ गए. जिन्हें भूले-भटके शिविर के माध्यम से उनके स्वजनों से मिलाया गया.

ये भी पढ़ें- शाहीन बाग की तर्ज पर प्रयागराज में मुस्लिम महिलाओं ने CAA-NRC के खिलाफ संभाली मोर्चे की कमान...

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए इलाहाबाद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 15, 2020, 9:58 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर