प्रयागराज: कोरोना काल में महंगाई भत्ता रोके जाने पर केंद्र व राज्य सरकार को हाईकोर्ट का नोटिस
Allahabad News in Hindi

प्रयागराज: कोरोना काल में महंगाई भत्ता रोके जाने पर केंद्र व राज्य सरकार को हाईकोर्ट का नोटिस
इलाहाबाद हाईकोर्ट

अनिल कुमार और सुरेंद्र राही की ओर से दाखिल इस याचिका में 20 2020 को जारी मुख्य सचिव के आदेश को गैर कानूनी और असंवैधानिक बताया गया है.

  • Share this:
प्रयागराज. कोरोना काल (Cornavirus) में महंगाई भत्ता (Dearness Allowance) और मंहगाई राहत रोके जाने के खिलाफ इलाहाबाद हाईकोर्ट (Allahabad High Court) में याचिका दाखिल की गई है. मंगलवार को याचिका पर सुनवाई करते हुए हाईकोर्ट ने राज्य सरकार और केंद्र सरकार के वित्त मंत्रालय को नोटिस जारी कर जवाब तलब किया है. इस मामले में अगली सुनवाई 16 जुलाई को होगी.

बता दें अनिल कुमार और सुरेंद्र राही की ओर से दाखिल इस याचिका में 20 2020 को जारी मुख्य सचिव के आदेश को गैर कानूनी और असंवैधानिक बताया गया है. इस याचिका पर सुनवाई करते हुए जस्टिस जेजे मुनीर की एकल पीठ ने राज्य सरकार व केंद्र सरकार को नोटिस जारी किया है.

गय्र्तलब है कि कोरोना महामारी के दौरान केंद्र सरकार सरकारी कर्मचारियों और पेंशन भोगियों को दिया जाने वाला महंगाई भत्ता और महंगाई राहत जनवरी 2020 से जून 2021 तक के भुगतान पर रोक लगा दी थी. जिसके बाद प्रदेश सरकार ने भी केंद्र की राह पर चलते हुए राज्य कर्मचारियों और पेंशन भोगियों के महंगाई भत्ते को रोक दिया था. अब इस मामले की अगली सुनवाई 16 जुलाई को होगी.



कानपुर शेल्टर होम मामले का स्वत संज्ञान लेने के लिए चीफ जस्टिस को पत्र
उधर उत्तर प्रदेश के कानपुर में राजकीय बालिका संरक्षण गृह में 7 लड़कियों के प्रेग्नेंट होने के मामले ने तूल पकड़ लिया है. सियासी हमलों के बीच प्रयागराज में अधिवक्ता डॉक्टर फारुख खान ने चीफ जस्टिस को पत्र लिखा है. पत्र में चीफ जस्टिस से मामले का स्वत संज्ञान लेकर कड़े कदम उठाने की मांग की गई है.

अधिवक्ता ने इसे गंभीर अपराध बताते हुए दोषियों को कड़ी सजा दिलाने की मांग की है. पत्र में कहा गया है कि कानपुर सेंटर होम की सभी नाबालिग लड़कियां कोरोना संक्रमित मिली हैं. एक लड़की एचआईवी और एक लड़की हेपिटाइटिस सी से संक्रमित है. पत्र में लड़कियों के साथ हुए अन्याय को जुवेनाइल जस्टिस के खिलाफ बताया गया है. पत्र में अधिवक्ता ने शेल्टर होम की व्यवस्थाओं पर भी गंभीर सवाल खड़े किए हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading