प्रयागराज: संगम में स्नान के लिए अब श्रद्धालुओं को देना होगा प्रवेश शुल्क

संगम स्नान के लिए जाने वालों को देना होगा प्रवेश शुल्क
संगम स्नान के लिए जाने वालों को देना होगा प्रवेश शुल्क

Prayagraj News: छावनी परिषद बोर्ड की बैठक में ही संगम क्षेत्र में बैरियर लगाने को लेकर निर्णय लिया गया था. छावनी परिषद ने अपनी आय बढ़ाने के लिए ये फैसला लिया था. जिसके बाद अब टेंडर जारी किया गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 18, 2020, 10:51 AM IST
  • Share this:
प्रयागराज. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के प्रयागराज (Prayagraj) में अब संगम (Sangam) में स्नान करने के लिए जाने वाले श्रद्धालुओं को कीमत अदा करनी होगी. छावनी परिषद ने बैरियर लगाकर चार पहिया वाहनों से प्रवेश शुल्क वसूलने का निर्णय लिया है. इसके लिए छावनी परिषद ने शनिवार को टेंडर जारी किया है. इसके तहत प्रवेश शुल्क लेने के बाद श्रद्धालुओं को पार्किंग की सुविधा भी दी जाएगी.

आय में होगा इजाफा

गौरतलब है कि छावनी परिषद बोर्ड की बैठक में ही संगम क्षेत्र में बैरियर लगाने को लेकर निर्णय लिया गया था. छावनी परिषद ने अपनी आय बढ़ाने के लिए ये फैसला लिया था. जिसके बाद अब टेंडर जारी किया गया है. छावनी परिषद की ओर से बड़े हनुमान मंदिर और रामघाट चौराहे पर बैरियर लगाया जाएगा. चार पहिया वाहनों में सवार लोग यहां प्रवेश शुल्क देने के बाद ही आगे जा पाएंगे. छावनी परिषद को उम्मीद है कि आगामी माघ मेले एवं स्नान के अन्य दिनों में इससे अच्छी आमदनी होगी. बता दें छावनी परिषद पूर्व में भी संगम पर पार्किंग शुल्क वसूल चुका है.



लाखों की संख्या में पहुंचते हैं श्रद्धालु
बता दें हर साल संगम की रेती पर लगने वाले माघ मेले में लाखों की संख्या में श्रद्धालु स्नान करने के लिए पहुंचते हैं. अगले साल जनवरी में लगने वाले माघ मेले के लिए भी प्रशासन की तरफ से मंजूरी दे दी गई है. जिसके बाद छावनी परिषद को लगता है कि प्रवेश शुल्क से उसके आय में इजाफा होगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज