Home /News /uttar-pradesh /

prayagraj honour killing case father of girl arrested by police upat

प्रयागराज ऑनर किलिंग: पुलिस ने लड़की के पिता को किया गिरफ्तार, लइसेंसी पिस्टल से मारी थी गोली

Prayagraj Honour Killing: ढाबा संचालक पिता गिरफ्तार

Prayagraj Honour Killing: ढाबा संचालक पिता गिरफ्तार

Prayagraj Crime News: अभियुक्त पिता के बयान और घटनास्थल की जांच और छानबीन में मिले तथ्य के आधार पर पुलिस ऐसा मान रही है कि प्रेमी पहले भी प्रेमिका से मिलने के लिए उसके घर जाता था. यह बात लड़की के घरवालों को पता चल गई थी, जिसके बाद उसकी गतिविधि पर नजर रखी जाने लगी थी. प्रेमिका से मिलने के लिए ही अर्णव रोजाना सुबह मॉर्निंग वॉक पर जाता था. उसके प्रेम प्रसंग के बारे में मृतक के घरवालों को भी नहीं पता था. पुलिस को अर्णव की जेब से एक कीपैड वाला मोबाइल, चार खोखा कारतूस, लाइसेंसी असलहा बरामद हुआ था.

अधिक पढ़ें ...

प्रयागराज. संगम नगरी प्रयागराज के यमुनापार क्षेत्र के नैनी थाना क्षेत्र के हीरानंद नगर में ऑनर किलिंग की घटना का पुलिस ने खुलासा कर लड़की के पिता को जेल भेज दिया है. पुलिस के छानबीन में कई तथ्य सामने आए हैं. ढाबा संचालक की बेटी आयुषी ने बॉयफ्रेंड को रात तीन बजे के बाद घर के मुख्य गेट में लगा ताला खोलकर प्रेमी अर्णव को भीतर बुलाया था. अंदर जाने के बाद उसने गेट के पास ही चप्पल उतार दी थी, ताकि किसी को आवाज सुनाई न दे. फिर दोनों साथ में छत पर गए, जहां प्रेमिका ने गेट की चाबी रख दी. इसके बाद प्रेमी  के लिए पानी लेने नीचे गई, लेकिन तब तक गर्मी के कारण उसके माता-पिता आगे वाले कमरे में आ गए थे. मां के टोकने पर बेटी पेट दर्द होने की बात कही और पानी की बोतल लेकर छत पर जाने लगी. उधर पिता दूसरे दरवाजे से गेट की तरफ गया तो बेटी को सीढ़ी पर चढ़ते देख लिया.

अभियुक्त पिता के बयान और घटनास्थल की जांच और छानबीन में मिले तथ्य के आधार पर पुलिस ऐसा मान रही है कि प्रेमी पहले भी प्रेमिका से मिलने के लिए उसके घर जाता था. यह बात लड़की के घरवालों को पता चल गई थी, जिसके बाद उसकी गतिविधि पर नजर रखी जाने लगी थी. प्रेमिका से मिलने के लिए ही अर्णव रोजाना सुबह मॉर्निंग वॉक पर जाता था. उसके प्रेम प्रसंग के बारे में मृतक के घरवालों को भी नहीं पता था. पुलिस को अर्णव की जेब से एक कीपैड वाला मोबाइल, चार खोखा कारतूस, लाइसेंसी असलहा बरामद हुआ था. कॉल हिस्ट्री से पता चला है कि कुछ नंबर डिलीट कर दिए गए हैं. जांच में यह बात भी सामने आई है कि आयुषी के पास मोबाइल नहीं था. वह प्रेमी से अपने भाई, मां और बुआ की लड़की के नंबर से बात करती थी. इससे यह साफ नहीं हो सका कि फोन करके बुलाया गया था या पहले से मिलने का समय निर्धारित था. फिलहाल अर्णव व लड़की पक्ष के कई मोबाइल नंबर की काल डिटेल रिपोर्ट निकलवाई जा रही है जिसके आने पर सबकुछ साफ हो जाएगा.

घटना में इस्तेमाल हुआ लइसेंसी पिस्टल
पोस्टमार्टम रिपोर्ट में अर्णव के पेट व सीने में गोली लगी थी. उसके शरीर से पिस्टल की दो गोली मिली है. वहीं, आयुषी के हाथ व पेट में गोली लगी. पेट में गोली लगने के कारण उसका लीवर खराब हो गया है और वह अस्पताल में जिंदगी और मौत से जूझ रही है. एसपी यमुनापार सौरभ दीक्षित ने बताया कि घटना में लाइसेंसी पिस्टल का इस्तेमाल हुआ है. पिस्टल ढाबा संचालक के नाम पर है, जिसका लाइसेंस निरस्त करवाया जाएगा. गौरतलब है कि सूचना पाते ही पुलिस ने मौके पर पहुंचकर तेजी से छानबीन की और शक के आधार पर पिता को हिरासत में ले लिया. इससे मामला कुछ ही घंटे में खुल गया

Tags: Prayagraj Crime News, Prayagraj Police, UP latest news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर