प्रयागराज: IG ने भेजा पत्र, रात 10 बजे से सुबह 6 बजे तक लाउडस्पीकर पर पाबंदी का करें सख्ती से अमल

लाउडस्पीकर के इस्तेमाल को लेकर आईजी प्रयागराज ने रेंज के चार जिलों के अफसरों को पत्र लिखा है. (सांकेतिक तस्वीर)

लाउडस्पीकर के इस्तेमाल को लेकर आईजी प्रयागराज ने रेंज के चार जिलों के अफसरों को पत्र लिखा है. (सांकेतिक तस्वीर)

Prayagraj News: प्रयागराज के आईजी केपी सिंह का कहना है कि पॉल्यूशन एक्ट में भी रात 10 बजे से सुबह 6 बजे तक लाउडस्पीकर बजाने की मनाही है. वहीं गाजीपुर से सांसद अफजाल अंसारी की जनहित याचिका पर हाईकोर्ट ने लाउडस्पीकर से अजान के संबंध में आदेश दिया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 18, 2021, 6:06 PM IST
  • Share this:
प्रयागराज. उत्तर प्रदेश के प्रयागराज (Prayagraj) में इलाहाबाद सेंट्रल यूनिवर्सिटी (Allahabad Central University) की कुलपति द्वारा मस्ज़िदों से लाउडस्पीकर से तेज आवाज में अजान को लेकर पत्र मामले के बाद अब प्रयागराज के आईजी केपी सिंह (IF KP Singh) का पत्र सामने आया है. आईजी ने प्रयागराज रेंज के चारों जिलों के डीएम और एसएसपी को पत्र लिखा है. उन्होंने पत्र के जरिए पॉल्यूशन एक्ट (Pollution Act) और हाईकोर्ट व सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों का सख्ती से पालन कराने को कहा है. इसके तहत रात 10 बजे से सुबह 6 बजे तक पूरी तरह से लाउडस्पीकर बजाने पाबंदी (Loudspeaker Ban) रहेगी.

आईजी के मुताबिक गाजीपुर से सांसद अफजाल अंसारी की जनहित याचिका पर हाईकोर्ट ने इस संबंध में आदेश दिया है. हाईकोर्ट ने कहा है कि लाउडस्पीकर से अज़ान इस्लाम का धार्मिक हिस्सा नहीं है. कोर्ट ने अपने फैसले में कहा कि अजान इस्लाम का धार्मिक भाग है. लोगों को बिना ध्वनि प्रदूषण नींद का अधिकार है और यह जीवन के मूल अधिकार में शामिल है. किसी को भी अपने मूल अधिकारों के लिए दूसरे के मूल अधिकारों का उल्लंघन का अधिकार नहीं है. आईजी के मुताबिक पॉल्यूशन एक्ट में भी रात 10 बजे से सुबह 6 बजे तक लाउडस्पीकर बजाने की मनाही है.

इलाहाबाद यूनिवर्सिटी की कुलपति ने भी लिखा था पत्र

बता दें इलाहाबाद सेंट्रल यूनिवर्सिटी की कुलपति प्रोफेसर संगीता श्रीवास्तव ने 3 मार्च को डीएम को पत्र लिखा था. उन्होंने क्लाइव रोड की मस्जिद में तेज आवाज में अजान से नींद में खलल को लेकर डीएम प्रयागराज को पत्र भेजा था. जिसकी कॉपी कमिश्नर आईजी और डीआईजी को भी भेजी थी. मामले के तूल पकड़ने पर मस्जिद की इंतजामिया कमेटी ने पहल की और लाउडस्पीकर की संख्या चार से घटाकर दो कर दी है. यही नहीं बचे दो लाउडस्पीकर का वॉल्यूम भी कम कर दिया है. लाउडस्पीकर की दिशा भी कुलपति के आवास की ओर से बदल दी गई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज