Assembly Banner 2021

प्रयाग कुंभ 2019: गोल्डन बाबा को जूना अखाड़े ने निकाला, 4 और बाबाओं की छुट्टी

गोल्डन बाबा (File Photo)

गोल्डन बाबा (File Photo)

इसके अलावा संत महासभा ने 4 अन्य पदाधिकारियों को भी निष्कासित कर उनके सभी अधिकार छीन लिए हैं. इनमें गोल्डन बाबा के साथ श्रीमहन्त देवेंद्र पुरी, श्रीमहन्त थानापति शिव ओम पुरी, थानापति मनोहर पुरी और सन्यासिनी श्रीमहन्त पूजा पुरी के नाम शामिल हैं.

  • Share this:
प्रयागराज कुंभ 2019 शुरू होने में अब कुछ ही दिन रह गए हैं. इस बीच ​खबर आई है कि श्री महंत गोल्डेन पुरी बाबा को श्रीपंचदशनाम जूना अखाड़े ने निष्कासित कर दिया है. गोल्डन बाबा पर अखाड़े के संविधान के उल्लघंन का आरोप लगा है. ये भी आरोप है कि उन्होंने मेले के आला अधिकारियों के साथ गलत शब्दों का प्रयोग किया.

प्रयागराज पहुंचे गोल्डन बाबा का दावा, कुंभ मेले पर दिखेगा 'नोटबंदी' का असर

गोल्डन बाबा पर धोखाधड़ी और मेले में पुलिसकर्मियों को हरिद्वार ले जाने के लिए धमकाने का आरोप लगा है. संतों की महासभा ने रविवार को गोल्डन बाबा को अखाड़े से निष्कासन की कार्रवाई की है. इसके अलावा महासभा ने चार अन्य पदाधिकारियों को भी निष्कासित कर उनके सभी अधिकार छीन लिए हैं.



इनमें गोल्डन बाबा के साथ श्रीमहन्त देवेंद्र पुरी, श्रीमहन्त थानापति शिव ओम पुरी, थानापति मनोहर पुरी और सन्यासिनी श्रीमहन्त पूजा पुरी के नाम शामिल हैं.
गोल्डन बाबा


इसके साथ ही महासभा ने गोल्डन बाबा की जगह श्रीमहन्त केदारपुरी को रमता पंच बनाया है. वहीं थानापति मनोहर पुरी की जगह भोला पुरी को जिम्मेदारी दी गयी. बता दें इससे पहले नवंबर में प्रयागराज पहुंचे जूना अखाड़े के बहुचर्चित महंत गोल्डन बाबा ने कहा था कि 2019 के कुंभ मेला पर नोटबंदी का असर देखने को मिलेगा. नोटबंदी के चलते कुंभ में शिविर लगाना मुश्किल हो रहा है.

शंकराचार्य ने किया गिरिराज पर तीखा प्रहार, कहा-देश में विद्वेष फैलाने की कोशिश

उन्होंने कहा अगर भक्त सहायता करेंगे तभी पंडाल लगेगा. कुंभ में पंडाल के लिए दो से ढाई करोड़ की जरूरत पड़ेगी. बता दें कि गोल्डन बाबा ने अपने शरीर पर 20 किलो सोना पहना हुआ है. साथ ही रोलेक्स कंपनी की 22-23 लाख की डायमंड घड़ी भी पहनी है. वहीं बाबा महंगी और लग्‍जरी गाड़ियों के भी शौकीन हैं.

ये भी पढ़ें: 

UPSSSC की परीक्षा में फर्जीवाड़ा करने वाले गैंग के 2 और सदस्य पकड़े गए

अयोध्या: क्या दो बाहुबली नेताओं में वर्चस्व की जंग ने ली ठेकेदार सोनू सिंह की जान?

GST पर बोले पूर्व वित्त मंत्री यशवंत सिन्हा- जब रेट फिक्स किया था तो दिमाग कहां था?
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज