प्रयागराज: लगातार दूसरे दिन हजारों छात्र-छात्राएं घर के लिए रवाना, बोले- थैंक्यू सीएम
Allahabad News in Hindi

प्रयागराज: लगातार दूसरे दिन हजारों छात्र-छात्राएं घर के लिए रवाना, बोले- थैंक्यू सीएम
प्रयागराज लॉक डाउन में फंसे सैंकड़ों छात्र अपने घरों को रवाना हो रहे हैं.

प्रयागराज (Prayagraj) में सीएम योगी के निर्देश पर सोमवार रात 9 बजे से रात 2 बजे तक कई बसों के जरिए सैकड़ों छात्र-छात्राओं को उनके गृह जनपदों के लिए बसों से रवाना किया गया. अब मंगलवार की सुबह एक बार फिर से बसों के जरिए छात्र-छात्राओं को उनके घर भेजने की कार्रवाई की जा रही है.

  • Share this:
प्रयागराज. लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान प्रयागराज (Prayagraj) में फंसे छात्र-छात्राओं को उनके गृह जिलों में भेजे जाने का सिलसिला लगातार दूसरे दिन भी जारी है. सीएम योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) के निर्देश पर सोमवार देर शाम से छात्र-छात्राओं को उनके घर भेजे जाने की कार्रवाई शुरु की गई थी. सोमवार रात 9 बजे से रात 2 बजे तक कई बसों के जरिए सैकड़ों छात्र-छात्राओं को उनके गृह जनपदों के लिए बसों से रवाना किया गया. अब मंगलवार की सुबह एक बार फिर से बसों के जरिए छात्र-छात्राओं को उनके घर भेजने की कार्रवाई की जा रही है.

इन 4 जगहों से चल रहीं बसें

प्रयागराज से छात्र-छात्राओं को उनके घरों तक पहुंचाने के लिए डीएम भानु चन्द्र गोस्वामी ने यूपी परिवहन निगम की 300 बसें लगाई हैं. इस दौरान छात्र-छात्राओं को उनके गृह जिलों में भेजने के दौरान सोशल डिस्टैंसिंग का भी पालन कराया जा रहा है. इसको लेकर प्रयागराज में 4 स्थानों से इन बसों को रवाना किया जा रहा है. इनमें हनुमान मंदिर चौराहे से मिर्जापुर, सोनभद्र और चित्रकूट जिलों के लिए बसें चलायी जा रही हैं, जबकि हिन्दू हास्टल चौराहे से चंदौली, वाराणसी, भदोही और जौनपुर के छात्र-छात्राओं को उनके घर भेजा जा रहा है. इसी तरह सिविल लाइन्स में पत्थर गिरिजा घर से फतेहपुर और कौशाम्बी के लिए बसें चलायी जा रही हैं. वहीं लोक सेवा आयोग से प्रतापगढ़ जिले के लिए बसों को रवाना किया जा रहा है.



एक बस में 26 छात्र की सीमा निर्धारित
हनुमान मंदिर चौराहे पर मिर्जापुर, चित्रकूट और सोनभद्र के लिए बसें लगायी गई हैं, जहां पर छात्र-छात्राओं की भारी-भीड़ उमड़ पड़ी है. मौके पर मौजूद पुलिस और प्रशासन के अधिकारी छात्र-छात्राओं को उनके घर तक भेजने के लिए बसों में भी सोशल डिस्टैंसिंग का पालन करा रहे हैं. एक बस में 26 छात्र-छात्राओं को ही भेजा जा रहा है. इसके साथ ही उनके नाम और पते भी नोट किये जा रहे हैं. सभी छात्र-छात्राओं को बसों के जरिए उनके जिला मुख्यालयों पर छोड़ा जायेगा. जहां से जिला प्रशासन ही उन्हें घर तक भेजने का इंतजाम करेगा.

सरकार के फैसले का स्वागत कर रहे स्टूडेंट

गौरतलब है कि प्रयागराज में हजारों छात्र-छात्रायें पढ़ाई और प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के लिए दूसरे जिलों से आकर रहते हैं. ऐसे में लॉकडाउन के दौरान इन छात्रों के पास राशन से लेकर रुपये तक खत्म हो गए थे, जिससे उन्हें काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा था. लॉकडाउन में पिछले एक माह से ज्यादा समय से प्रयागराज में फंसे छात्र-छात्रायें योगी सरकार के इस फैसले का स्वागत कर रहे हैं. उन्हें थैंक्यू सीएम बोल रहे हैं.

ये भी पढ़ें:

बुलंदशहर साधुओं की हत्या: अखिलेश का ट्वीट- राजनीति नहीं न्यायोचित कार्रवाई हो

प्रयागराज: कोरोना के खिलाफ जंग में रेलवे की 130 आइसोलेशन कोच तैयार, मॉक ड्रिल
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज