अब अतीक अहमद के अवैध निर्माण पर चला प्रशासन का 'हथौड़ा', वकील ने कहा- हाईकोर्ट जाएंगे
Allahabad News in Hindi

अब अतीक अहमद के अवैध निर्माण पर चला प्रशासन का 'हथौड़ा', वकील ने कहा- हाईकोर्ट जाएंगे
प्रयागराज पुलिस के मुताबिक बाहुबली अतीक अहमद की छह अन्य संपत्तियों के खिलाफ कुर्क करने के लिए जिलाधिकारी के समक्ष लंबित है (फाइल फोटो)

प्रशासन ने पीडीए की मदद से इलाहाबाद हाईकोर्ट के पास स्थित अतीक अहमद की अर्धनिर्मित बिल्डिंग को गैंगस्टर एक्ट के तहत चिन्हित कर इसे जमींदोज कर दिया. सिविल लाइन के पॉश इलाके में स्थित 570 वर्ग मीटर यह भूमि करोड़ों की बताई जा रही है. जिस पर अतीक अहमद (Ateeq Ahmad) ने अवैध रुप से निर्माण करवाया है

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 12, 2020, 8:12 PM IST
  • Share this:
प्रयागराज. गुजरात के अहमदाबाद जेल में बंद बाहुबली अतीक अहमद (Ateeq Ahmad) के खिलाफ योगी सरकार की सख्ती बढ़ती जा रही है. अतीक अहमद की अपराध (Mafia Don Ateeq Ahmad) से अर्जित अवैध और बेनामी संपत्तियों (Illegal Property) के खिलाफ पुलिस-प्रशासन लगातार कार्रवाई कर रहा है. अब तक पूर्व सांसद की दर्जनों संपत्तियों को कुर्क करने की कार्रवाई की गई है. पिछले दिनों प्रशासन ने अतीक अहमद के दो अवैध निर्माण (Illegal Construction) और अतिक्रमण पर बुलडोजर चलवाया था. अब तक अतीक अहमद की सौ करोड़ से ज्यादा की प्रॉपर्टी को कुर्क और ध्वस्त किया जा चुका है.

शनिवार को पुलिस और प्रशासन ने अतीक अहमद की एक और अवैध संपत्ति पर बुलडोजर चलाया है. पीडीए की मदद से इलाहाबाद हाईकोर्ट के पास स्थित अतीक अहमद की अर्धनिर्मित बिल्डिंग को जमींदोज कर दिया गया. पुलिस-प्रशासन ने इस अर्धनिर्मित बिल्डिंग को गैंगस्टर एक्ट के तहत चिन्हित की है. सिविल लाइन के पॉश इलाके में स्थित 570 वर्ग मीटर यह भूमि करोड़ों की बताई जा रही है. जिस पर पूर्व सांसद ने अवैध रुप से निर्माण करवाया है.

ateeq ahmad2
जेल में बंद माफिया डॉन अतीक अहमद और उसके गुर्गों के खिलाफ पुलिस और प्रशासन ताबड़तो़ड़ कार्रवाई कर रहा है (फाइल फोटो)




अतीक अहमद के वकील ने पुलिस की कार्रवाई का विरोध किया
वहीं अतीक अहमद के वकील खान सौलत हनीफ ने पुलिस-प्रशासन द्वारा अपने मुवक्किल के खिलाफ जारी कार्रवाई का विरोध किया है. उन्होंने आरोप लगाया कि प्रयागराज विकास प्राधिकरण (PDA) ने बगैर नोटिस दिए ध्वस्तीकरण की कार्रवाई की है, जबकि यह संपत्ति पूर्व में वर्ष 2007 में जिलाधिकारी (डीएम) द्वारा कुर्क की जा चुकी है. ऐसे में इस प्रॉपर्टी पर बुलडोजर चलाए जाने की कार्रवाई पूरी तरह से गलत है. हनीफ का आरोप है कि प्राधिकरण के अधिकारी उन्हें कोई ध्वस्तीकरण का आदेश भी नहीं दिखा रहे और जबरन तोड़ने की कार्रवाई कर रहे हैं.

अतीक के वकील ने कहा है कि प्रशासन की इस उत्पीड़नात्क कार्रवाई के खिलाफ वो हाईकोर्ट में जाएंगे. उन्होंने कहा है कि इस मामले में एक याचिका भी हाईकोर्ट में लंबित है, उसी से जोड़कर इस पूरे मामले को चीफ जस्टिस के सामने रखेंगे. उन्होंने कोर्ट पर भरोसा जताते हुए कहा है कि हमें वहां से न्याय जरुर मिलेगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज