Choose Municipal Ward
    CLICK HERE FOR DETAILED RESULTS

    प्रयागराज: हाथरस का पीड़ित परिवार पहुंचा हाईकोर्ट, लोगों से मिलने जुलने और खुलकर बात रखने की मांगी इजाजत

    हाथरस का पीड़िता परिवार पहुंचा हाईकोर्ट
    हाथरस का पीड़िता परिवार पहुंचा हाईकोर्ट

    Hathras Case: अर्जी में कहा गया है कि पुलिस-प्रशासन की बंदिशों के चलते पीड़ित परिवार घर में कैद सा होकर रह गया है. बंदिशों के चलते तमाम लोग मिलने नहीं आ पा रहे हैं.

    • News18Hindi
    • Last Updated: October 8, 2020, 1:16 PM IST
    • Share this:
    प्रयागराज. हाथरस (Hathras) के पीड़ित परिवार ने इलाहाबाद हाईकोर्ट (Allahabad High Court) में अर्जी दाखिल कर लोगों से मिलने जुलने की पूरी छूट दिए जाने और अपनी बात खुलकर रखे जाने की मांग की है. पीड़ित परिवार की ओर से सामाजिक कार्यकर्ता सुरेंद्र कुमार ने यह अर्जी दाखिल की है. अर्जी में कहा गया है कि पुलिस-प्रशासन की बंदिशों के चलते पीड़ित परिवार घर में कैद सा होकर रह गया है. बंदिशों के चलते तमाम लोग मिलने नहीं आ पा रहे हैं. परिवार किसी से खुलकर अपनी बात नहीं कह पा रहा है. सरकारी अमले पर घर से बाहर नहीं निकलने देने का भी आरोप लगाया गया है.

    सामाजिक कार्यकर्ता सुरेंद्र कुमार ने दाखिल की अर्जी

    अर्जी में कहा गया है कि इंसाफ पाने के लिए पीड़ित परिवार से बंदिशें हटना जरूरी है. याचिकाकर्ता सुरेंद्र कुमार का दावा है कि उन्होंने पीड़ित परिवार की तरफ से अर्जी दाखिल की है. पीड़ित परिवार ने उन्हें फोन कर उनकी तरफ से अर्जी दाखिल करने और कोर्ट से दखल देने की मांग करने की गुजारिश की थी. हाईकोर्ट में आज इस अर्जी पर सुनवाए हो सकती है. अर्जी में अर्जेंट बेसिस पर सुनवाई किये जाने की भी की गई है मांग.




    आज जनहित याचिका की भी होने है सुनवाई

    गौरतलब है कि हाईकोर्ट में गुरुवार को ही हाथरस मामले पर दाखिल जनहित याचिका पर भी सुनवाई की जानी है. बता दें कि अधिवक्ता मंजूषा भारती की तरफ से दाखिल इस जनहित याचिका में मामले की सीबीआई जांच, पीड़ित परिवार को मुआवजा व सुरक्षा देने की मांग की गई है. जस्टिस एमएन भंडारी और जस्टिस पीयूष अग्रवाल की खंडपीठ इस जनहित याचिका की आज सुनवाई करेगी. उधर इसी मामले में सुप्रीम कोर्ट में सरकार की तरफ से हलफनामा दाखिल किया जाना है.
    अगली ख़बर

    फोटो

    टॉप स्टोरीज