अपना शहर चुनें

States

प्रयागराज: प्रियंका गांधी ने की पुलिस ज़्यादती के शिकार निषाद समुदाय से मुलाकात, बोलीं- कांग्रेस लड़ेगी उनके न्याय की लड़ाई

प्रियंका गांधी ने बसवार गांव में की नाविकों से मुलाक़ात
प्रियंका गांधी ने बसवार गांव में की नाविकों से मुलाक़ात

Prianka Gandhi in Prayagraj: प्रियंका गांधी ने कहा कि आपने इस सरकार को वोट दिया, लेकिन वह भूल गई है. जो सरकार वोट लेकर भूल जाए उसे सबक सिखाना होगा. उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी और वे खुद आपके लिए न्याय की लड़ाई लड़ेंगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 21, 2021, 1:22 PM IST
  • Share this:
प्रयागराज. कांग्रेस (Congress) की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा (Praiyanka Gandhi Vadra) रविवार को प्रयागराज (Prayagraj) जिले के बसवार गांव पहुंची. यहां उन्होंने पुलिस ज्यादती के शिकार नाविकों के परिवार से मुलाक़ात की और उनकी पीड़ा सुनी. इस दौरान उन्होंने निषाद समुदाय को संबोधित करते हुए कहा कि कांग्रेस पार्टी उनकी लड़ाई लड़ेगी. प्रियंका गांधी ने कहा कि आपने इस सरकार को वोट दिया, लेकिन वह भूल गई है. जो सर्कार वोट लेकर भूल जाए उसे सबक सिखाना होगा. उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी और वे खुद आपके लिए न्याय की लड़ाई लड़ेंगी.

प्रियंका गांधी ने आगे कहा कि अगर कांग्रेस पार्टी की सरकार आती है तो उनकी समस्याओं को प्राथमिकता से सुना जाएगा. उन्होंने कहा कि आपकी जो भी समस्याएं हैं, उन्हें आप कांग्रेस कार्यकर्ताओं को दें, जहां तक संभव होगा मदद की जाएगी. प्रियंका गांधी के साथ प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू, विधानमंडल दाल में कांग्रेस की नेता आराधना मिश्रा मोना और वरिष्ठ कोंग्रेसी नेता प्रमोद तिवारी भी .मौजूद थे. प्रियंका गांधी ने यमुना किनारे नाविकों के टूटे हुए नावों को भी देखा और कहा कि अगर कोई प्रताड़ित करता है तो कांग्रेस के कार्यकर्ता उनकी मदद करेंगे. प्रियंका गांधी वाड्रा यहां दोपहर 2.15 बजे तक रुकेंगी.

4 फ़रवरी को नाविकों की पुलिस से हुई थी झड़प 
गौरतलब है कि 4 फरवरी को यहां के नाविकों की पुलिस से झड़प हुई थी. जिसके बाद पुलिस ने कई नाविकों व मजदूरों की पिटाई कर उनकी नावें तोड़ दी थीं. अखिलेश यादव भी इस गांव में अपनी पार्टी का प्रतिनिधिमंडल भेज चुके हैं. साथ ही निषाद पार्टी के अध्यक्ष संजय निषाद भी पीड़ितों से मुलाकात कर चुके हैं.
नाविक सुजीत ने दिया था गांव आने का निमंत्रण 


दरअसल, बीते 11 फरवरी को मौनी अमावस्या के दिन प्रियंका गांधी संगम स्नान के लिए प्रयागराज पहुंची थीं. जहां अरैल घाट से संगम तक प्रियंका गांधी ने सुजीत निषाद नाम के नाविक की नाव से संगम पर पहुंचकर स्नान किया था. इस दौरान प्रियंका ने नाविक सुजीत से जब बात कर उसके घर परिवार और रोजी-रोटी के बारे में पूछा तो सुजीत ने खुद की 3 बेटियां होने के साथ एक भाड़े की नाव चलाने के चलते परिवार का सही से भरण-पोषण न कर पाने की बात बताई थी. इसके साथ उसने बसवार गांव के निषादों और मछुआरों की पुलिस द्वारा नाव भी तोड़ दिए जाने की जानकारी देकर प्रियंका गांधी को बसवार आने का निमंत्रण भी दिया था.

इस दौरान नाविक सुजीत निषाद बताते हैं कि मौनी अमावस्या के दिन प्रियंका दीदी मेरे नाव पर संगम स्नान करने के लिए आई थीं. संगम स्नान के बाद उन्होंने मेरी नाव को भी चलाया था.  बसवार में नाव को तोड़ देने की घटना हो गई थी. जिसे मैंने प्रियंका दीदी से बोला था. इसलिए प्रियंका दीदी फिर से प्रयागराज में नावों को देखने और यहां के सभी लोगों की मदद करने के लिए आ रही हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज