प्रयागराज: अब गंगा में समाहित होने वाले शवों का नगर निगर कर रहा है अंतिम संस्कार

इसके साथ ही चौबीस घंटे एसडीआरएफ भी नदी के कटान पर नजर बनाये हुए है और नदी में बोट के जरिए पेट्रोलिंग भी कर रही है.

इसके साथ ही चौबीस घंटे एसडीआरएफ भी नदी के कटान पर नजर बनाये हुए है और नदी में बोट के जरिए पेट्रोलिंग भी कर रही है.

नगर निगम अब ऐसे शवों को बाहर निकालकर हिन्दू परम्परा (Hindu Tradition) के अनुसार ही उनका दाह संस्कार भी करा रहा है. इसके लिए गठित निगरानी कमेटी चौबीस घंटे गंगा के फाफामऊ घाट पर नजर रखे हुए है.

  • Share this:

प्रयागराज. संगम नगरी प्रयागराज (Sangam city Prayagraj) में न्यूज 18 की खबर का एक बार फिर से दमदार असर हुआ है. कोरोना की सेकेंड वेब के दौरान गंगा नदी (Gang River) के किनारे श्मशान घाटों पर रेत में दफनाये गए शवों के नदी के कटान में गंगा में समाहित होने का नगर निगम प्रयागराज ने संज्ञान लिया है. नगर निगम अब ऐसे शवों को बाहर निकालकर हिन्दू परम्परा (Hindu Tradition) के अनुसार ही उनका दाह संस्कार भी करा रहा है. इसके लिए गठित निगरानी कमेटी चौबीस घंटे गंगा के फाफामऊ घाट पर नजर रखे हुए है. इसके साथ ही चौबीस घंटे एसडीआरएफ भी नदी के कटान पर नजर बनाये हुए है और नदी में बोट के जरिए पेट्रोलिंग भी कर रही है.

नगर निगम की ओर से गठित निगरानी कमेटी के सदस्य और शिवकुटी पार्षद कमलेश तिवारी के मुताबिक, अब तक फाफामऊ घाट पर दफनाये गए 11 शवों का दाह संस्कार कराया गया है. इनमें चार जून को छह, पांच जून को चार और छह जून को एक शव का दाह संस्कार कराया गया है. दरअसल, गंगा नदी का जल स्तर बढ़ने से नदी में कटान शुरू हो गया था. इसके बाद डेढ़- दो महीने पहले रेत में दफनाये गए शव रेत की कटान की वजह से गंगा नदी के छूने लगे थे और शवों के नदी में समाहित होने से गंगा जल के प्रदूषित होने का खतरा बढ़ गया था.

नगर निगम जरुरी धन भी मुहैया करा रहा है

गौरतलब है कि न्यूज 18 ने सबसे पहले श्रृंगवेरपुर में बड़ी संख्या में शवों का अंतिम संस्कार गंगा की रेत में दफनाकर किए जाने के मामले को प्रमुखता से उठाया था. जिसके बाद 18 मई को जिला प्रशासन ने गंगा के घाटों पर रेत में शवों को दफनाये जाने पर पाबंदी लगी दी थी. न्यूज 18 ने इस बात की भी आशंका पहले ही जता दी थी कि नदी का जल स्तर बढ़ने और रेत का कटान होने से नदी की कगार पर दफनाये गए शव नदी में समाहित हो सकते हैं. न्यूज 18 की आशंका सच साबित हुई और शवों के नदी में प्रवाहित होने पर नगर निगम ने रेत में दफनाये गए शवों का सम्मान के साथ दाह संस्कार करने का फैसला लिया है. शवों के दाह संस्कार के लिए नगर निगम जरुरी धन भी मुहैया करा रहा है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज