प्रयागराज: अब पुलिस मित्र बनकर जरूरतमंदों को डोनेट करेगी Blood
Allahabad News in Hindi

प्रयागराज: अब पुलिस मित्र बनकर जरूरतमंदों को डोनेट करेगी Blood
प्रयागराज में अब पुलिस मित्र जरूरतमंदों को ब्लड डोनेट करेंगे

उत्तर प्रदेश की प्रयागराज पुलिस ने एक कांस्टेबल आशीष मिश्रा द्वारा शुरू किए गए पुलिस मित्र अभियान को वेबसाइट की शक्ल दे दी है. आईजी केपी सिंह ने पुलिस मित्र की वेबसाइट लॉन्च की है.

  • Share this:
प्रयागराज. उत्तर प्रदेश की संगम नगरी प्रयागराज (Prayagraj) की पुलिस अब लोगों की सुरक्षा ही नहीं करेगी, बल्कि जरूरत पड़ने पर उन्हें ब्लड भी डोनेट (Donate Blood) करेगी. इसको लेकर "पुलिस मित्र" ने एक सराहनीय पहल की है. "पुलिस मित्र" ने ब्लड डोनेशन के लिये एक वेबसाइट तैयार कराई है, जिसे आईजी रेंज कार्यालय में आईजी केपी सिंह ने लांच किया. "पुलिस मित्र" की वेबसाइट www.policemitraa.org पर क्लिक करते ही ज़रूरतमंदो को ब्लड उपलब्ध हो सकेगा.

कांस्टेबल आशीष मिश्रा ने शुरू किया था अभियान

"पुलिस मित्र" के साथ ही ब्लड डोनेशन की इस मुहिम में कई सामाजिक संगठन भी आगे आए हैं, जिनकी मदद से अब तक स्वैच्छिक रक्तदान शिविर लगाकर 1500 यूनिट से ज्यादा ब्लड डोनेट भी किया जा चुका है. आईजी केपी सिंह के मुताबिक इस मुहिम की शुरुआत 25 फरवरी 2017 को उनके कार्यालय में तैनात कांस्टेबल आशीष कुमार मिश्रा ने की थी.



अब तक  "पुलिस मित्र" लोगों को फोन, व्हाट्सएप, फेसबुक और ट्विटर के जरिए जरूरमंदों की मदद कर रही थी लेकिन अब वेबसाइट लांच होने के बाद एक क्लिक पर देश के किसी कोने में बैठे व्यक्ति को अगर ब्लड की जरुरत है तो मित्र पुलिस ऑनलाइन वैरीफिकेशन के बाद तत्काल ब्लड मुहैया करा सकेगी.
रक्तदाता या जरूरतमंद दोनों ले सकेंगे लाभ: आईजी

आईजी के मुताबिक अब तक देश के 12 राज्यों में पुलिस मित्र ये काम कर रही है. आईजी रेंज के मुताबिक वेबसाइट में कोई भी व्यक्ति रजिस्ट्रेशन करके रक्तदाता भी बन सकता है, इसमें जो भी आमजन रक्तदान करेंगे या जिनको रक्त की जरूरत होगी, दोनों लोगों का पुलिस मित्र टीम द्वारा वैरिफिकेशन किया जाएगा. उसके बाद ही उनकी मदद की जाएगी. उन्होंने बताया कि अगर परिवार के लोग अपनों को रक्त नहीं दे रहे है तो उनको भी पुलिस मित्र रक्तदान करने के लिए प्रेरित करेगी.

जल्द ही यूपी पुलिस की वेबसाइट से होगा लिंक

इस वेबसाइट के जरिए पुलिस मित्र के बारे में सभी जानकारी हासिल की जा सकती है. इस वेबसाइट को यूनाइटेड इंजीनियरिंग कालेज नैनी के कंप्यूटर साइंस के इंजीनियर संजीव और ऋषभ ने पुलिस मित्र की सेवा भावना से प्रेरित होकर तैयार किया है. आईजी केपी सिंह के मुताबिक़ इस मुहिम को जल्द ही यूपी पुलिस की वेबसाइट से लिंक कराया जाएगा और साथ ही टोल फ्री नंबर व एप्प भी जारी किया जाएगा. मुहिम की शुरुआत करने वाले कांस्टेबल आशीष मिश्र का कहना है कि इसके ज़रिये पुलिस विभाग की नकारात्मक छवि भी दूर होगी और लोगों के बीच अच्छा संदेश भी जाएगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज