Home /News /uttar-pradesh /

Prayagraj-स्वतंत्रता संग्राम से जुड़ी गतिविधियों का केंद्र रहा है प्रयागराज का स्वराज भवन

Prayagraj-स्वतंत्रता संग्राम से जुड़ी गतिविधियों का केंद्र रहा है प्रयागराज का स्वराज भवन

प्रयागराज

प्रयागराज स्थित स्वराज भवन

स्वराज भवन(swaraj Bhawan). जैसा कि नाम से ही स्पष्ट हो रहा है आजादी को लेकर कई सारी गतिविधियों का केंद्र रही है.यह इमारत.स्वराज भवन का नाता नेहरू

    Prayagraj– प्रयागराज की भूमि का स्वतंत्रता संग्राम से गहरा नाता रहा है.स्वतंत्रता संग्राम की कई कहानियों की शुरुआत इसी भूमि से हुई है.यह भूमि न जाने कितने ही आंदोलनों और बलिदानों का गवाह रही है जिनके प्रमाण आज भी शहर में मौजूद हैं.कुछ इमारतें हैं जो आज भी उस दौर की कहानियों को बताती हैं,उस समय के संघर्ष को बताती हैं. ऐसे ही एक इमारत है स्वराज भवन(swaraj Bhawan). जैसा कि नाम से ही स्पष्ट हो रहा है आजादी को लेकर कई सारी गतिविधियों का केंद्र रही है यह इमारत. स्वराज भवन का नाता नेहरू परिवार से रहा है लेकिन वर्तमान में यह एक संग्रहालय है. पहले स्वराज भवन नेहरू परिवार का निवास स्थान था पर बाद में इसे आजादी से संबंधित सभा और कार्यों का स्थानीय केंद्र बना दिया गया था.

    क्या है इसका इतिहास
    कन्हैयालाल नंदन ने इस इमारत पर एक किताब लिखी,नाम था,आनंद भवन-स्वराज भवन. इस किताब में इमारत के इतिहास को बताया गया है.किताब के अनुसार यह इमारत शेख फय्याज अली की जमीन पर बनाई गई थी क्योंकि शेख फैयाज अली ने 1857 विद्रोह के समय अंग्रेजों का साथ दिया और हुकूमत ने उन्हें जमीन तोहफे में दी. शेख ने जमीन पर एक आलीशान इमारत बनवाई जिसका नाम आनंद भवन पड़ा.कई लोगों के हिस्से में आते हुए आखिरकार इसका मालिकाना हक मोतीलाल नेहरू को मिला.मोती लाल नेहरू ने 1899 में इसे खरीद लिया.लगभग 20 सालों के बाद इस भवन को भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस का स्थानीय मुख्यालय बना दिया गया और फिर नाम पड़ा ‘स्वराज भवन’.

    वर्तमान में है एक पर्यटन स्थल
    वर्तमान में स्वराज भवन एक संग्रहालय है जो कि प्रयागराज के प्रसिद्ध पर्यटक स्थलों में से एक है.आपको बता दें कि स्वराज भवन वह स्थान है जहां इंदिरा गांधी का जन्म हुआ, पंडित जवाहरलाल नेहरू का बचपन बीता.जाहिर है इस भवन से नेहरू परिवार की कई यादें जुड़ी हैं और इन यादों को आज भी संग्रहालय में संजोकर रखा गया है. इसके साथ ही साथ यहां पर स्वतंत्रता संग्राम से जुड़ी कई सारी तस्वीरें और निशानियां मौजूद है.स्वराज भवन ही वह स्थान है जहां ब्रिटिश हुकूमत के खिलाफ सभाएं हुआ करती थी, बड़े-बड़े नेता यहां एकत्रित हुआ करते थे,गांधीजी भी इन सभाओं में प्रमुख भूमिका निभाया करते थे.यहां पर नेहरू परिवार और स्वतंत्रता संग्राम से जुड़ी फोटो की एक दुर्लभ गैलरी भी स्थित है.यहां पर उस समय की गाड़ियां (बग्गी), गांधी जी का चरखा भी मौजूद है.अगर आप इस संग्रहालय में घूमने जाना चाहते हैं तो सुबह 10:00 से शाम 5:00 बजे तक यहां जा सकते हैं.
    (रिपोर्ट-प्राची शर्मा, प्रयागराज)

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर