VIRAL VIDEO: कोरोना संक्रमित डिप्टी CM केशव मौर्य के लिए हो रहा था सुंदरकांड, तभी पहुंच गया बंदर

जब सुंदरकांड पाठ के दौरान पहुंचा बंदर
जब सुंदरकांड पाठ के दौरान पहुंचा बंदर

बीजेपी (BJP) कार्यकर्ताओं द्वारा कोरोना संक्रमित डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य (Keshav Prasad Maurya) के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ के लिए सुंदरकांड का पाठ कर रहे थे. इस दौरान एक बंदर भी वहां पहुंच गया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 5, 2020, 10:30 AM IST
  • Share this:
प्रयागराज. संगम नगरी प्रयागराज में एक अनोखा वीडियो इन दिनों सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है. वायरल वीडियो में एक मंदिर में कुछ लोग सुंदरकांड (Sundarkand) का पाठ कर रहे हैं. उसी वक्‍त वहां हनुमान जी की प्रतिमा के पास एक बंदर (Monkey) आकर बैठ गया. दरअसल, मुट्ठीगंज के चौराहे पर स्थित हनुमान मंदिर में बीजेपी (BJP) कार्यकर्ताओं द्वारा कोरोना संक्रमित डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य (Keshav Prasad Maurya) के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ के लिए सुंदरकांड का पाठ कर रहे थे. इस दौरान एक बंदर भी वहां पहुंच गया. बंदर सीधे हनुमान जी की प्रतिमा के पास पहुंच वहां से उठाकर कुछ खाया और वहीं बैठ गया. बंदर काफी देर तक मंदिर में ही मौजूद रहा और सुंदरकांड का पाठ भी चलता रहा.

बीजेपी के महानगर अध्यक्ष गणेश केसरवानी के मुताबिक वानर रूप में खुद हनुमान जी ने आकर प्रभु श्री राम से डिप्टी सीएम के स्वस्थ होने की प्रार्थना की है. अचानक सुंदरकांड के दौरान बंदर के पहुंचने को लेकर तरह-तरह की चर्चा भी हो रही है. साथ ही साथ लोग इसे भगवान हनुमान का आशीर्वाद भी मान रहे हैं.





कोरोना संक्रमित हैं केशव प्रसाद मौर्य
गौरतलब है कि उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य दो दिन पहले ही कोरोना संक्रमित पाए गए हैं. उन्होंने इस बात की जानकारी खुद ट्विटर पर दी. उन्होंने लिखा कि कोरोना संक्रमण के प्रारंभिक लक्षण आने के बाद मैंने कोविड टेस्ट करवाया और मेरी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है. आप सभी से मेरा निवेदन है कि पिछले कुछ दिनों में जो भी मेरे सम्पर्क में आएं हैं, वो सभी निकटतम स्वास्थ्य केंद्र पर जाकर अपनी जांच करवायें एवं कोविड नियमों का पालन करें.

केशव मौर्य के कोरोना संक्रमित पाए जाने के बाद बीजेपी कार्यकर्ताओं ने सुंदरकांड पाठ का आयोजन करवाया था. जहां एक बंदर भी पहुंच गया. वहां बैठे बीजेपी कार्यकर्ताओं ने बंदर को भगाया नहीं, बल्कि उन्हें भगवन हनुमान का रूप समझकर सुंदरकांड का पाठ करते रहे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज