राम मंदिर: बाबा रामदेव के अल्टीमेटम को डिप्टी CM ने किया खारिज, कहा-कोर्ट के फैसले का इंतजार करेगी सरकार

डिप्टी सीएम ने कहा कि सरकार अदालत का फैसला आने से पहले फिलहाल क़ानून बनाने या फिर अध्यादेश लाने पर विचार नहीं करेगी. उनके मुताबिक़ अदालत के फैसले के साथ ही आपसी बातचीत व समझौते का भी विकल्प खुला है.

  • Share this:
राम मंदिर को लेकर योगगुरु बाबा रामदेव के अल्टीमेटम को यूपी के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने सिरे से खारिज कर दिया है. केशव मौर्य ने कहा है कि बीजेपी और यूपी सरकार इस मामले में कोर्ट के फैसले का इंतजार करेगी.

डिप्टी सीएम ने कहा कि सरकार अदालत का फैसला आने से पहले फिलहाल क़ानून बनाने या फिर अध्यादेश लाने पर विचार नहीं करेगी. उनके मुताबिक़ अदालत के फैसले के साथ ही आपसी बातचीत व समझौते का भी विकल्प खुला है. इन दोनों विकल्पों के रहते हुए तीसरे विकल्प पर विचार नहीं होगा.

केशव मौर्य का कहना है कि एक रामभक्त होने के नाते वह मंदिर निर्माण के पक्षधर हैं और मंदिर बनाए जाने की मांग का समर्थन करते हैं. उनके मुताबिक़ राम मंदिर का इंतजार हर राम भक्त को है, लेकिन अदालत का फैसला आने और बातचीत का रास्ता बंद होने के बाद ही तीसरे विकल्प यानी क़ानून बनाने या फिर अध्यादेश लाए जाने पर ही नेतृत्व विचार करेगा.



उन्होंने कहा कि बाबा रामदेव जैसी इच्छा करोड़ों लोगों की है, लेकिन सभी को अदालत के फैसले का इंतजार करना ही होगा. गौरतलब है कि बाबा रामदेव ने कहा था कि करोड़ राम भक्तों की भावनाओं का ख्याल रखते हुए सरकार को राम मंदिर के निर्माण के लिए अध्यादेश लाना चाहिए. (रिपोर्ट- सर्वेश दुवे)
ये भी पढ़े:

मोदी विरोधियों के पास बचे हैं सिर्फ नेता, जनता नहीं है: केशव प्रसाद मौर्य

योगी सरकार में किसी को देश और प्रदेश छोड़ने की जरूरत नहीं पड़ेगी: केशव प्रसाद मौर्य

राममंदिर पर बाबा रामदेव ने दिया बड़ा बयान, पीएम मोदी को बताया राम बड़ा भक्त
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज