• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • UP: रेप के आरोपी BSP सांसद अतुल राय को बड़ा झटका, कोर्ट ने खारिज की अग्रिम विवेचना अर्जी

UP: रेप के आरोपी BSP सांसद अतुल राय को बड़ा झटका, कोर्ट ने खारिज की अग्रिम विवेचना अर्जी

बसपा सांसद अतुल राय की अग्रिम विवेचना अर्जी कोर्ट से खारिज.

बसपा सांसद अतुल राय की अग्रिम विवेचना अर्जी कोर्ट से खारिज.

BSP MP Atul Rai Rape Case: प्रयागराज (Prayagraj) की स्पेशल एमपी एमएलए कोर्ट ने  बसपा सांसद अतुल राय की ग्रिम विवेचना कराए जाने की मांग वाली अर्जी को खारिज कर दिया है.

  • Share this:

इलाहाबाद. उत्तर प्रदेश की मऊ लोकसभा सीट (Mau Loksabha Seat) से बसपा सांसद अतुल राय (BSP MP Atul Rai Rape Case) को बड़ा झटक लगा है. प्रयागराज (Prayagraj) की स्पेशल एमपी एमएलए कोर्ट ने रेप के आरोपी अतुल राय की अर्जी खारिज कर दी है. अतुल राय की अग्रिम विवेचना कराए जाने की मांग वाली अर्जी को कोर्ट ने खारिज कर दिया है. अतुल राय ने पिछले दिनों एमपी एमएलए कोर्ट में अर्जी दाखिल कर अपने ऊपर लगे रेप के आरोपों की अग्रिम विवेचना कराए जाने की मांग की थी. अर्जी खारिज होने के बाद अब अतुल राय की मुश्किलें और बढ़ गई है.

मालूम हो कि बीते लोकसभा चुनाव से ठीक पहले एक मई 2019 को एक युवती ने लंका थाने में अतुल राय के खिलाफ दुष्कर्म सहित अन्य आरोपों में मुकदमा दर्ज कराया था. 22 जून 2019 को सांसद अतुल राय ने वाराणसी की कोर्ट में सरेंडर कर दिया था. इस मामले में अतुल राय प्रयागराज जिले के केंद्रीय कारागार नैनी में बंद हैं. युवती और उसके दोस्त ने फेसबुक लाइव के जरिए आरोप लगाया था कि सभी मिलकर उसे ही चरित्रहीन साबित और सांसद अतुल राय को बचाने की कोशिश में लगे हैं. इसके बाद युवती ने दिल्ली में सुप्रीम कोर्ट के सामने खुद को आग लगा लिया था. युवती की इलाज के दौरान मौत हो गई थी.

पीड़िता ने सोशल मीडिया पर शेयर किया था वीडियो

पीड़ित लड़की उत्तर प्रदेश के बलिया जिले की रहने वाली थी और वाराणसी के उदय प्रताप कॉलेज की छात्रा थी. आत्मदाह से ठीक पहले युवती और उसके दोस्त ने फेसबुक लाइव करते हुए यूपी के कई पुलिस अफसरों समेत कुछ अन्य लोगों पर परेशान करने और दबाव बनाने का आरोप लगाया था. वीडियो के जरिए लड़की और उसके दोस्त ने तत्कालीन वाराणसी एसएसपी रहे अमित पाठक, तत्कालीन सीओ भेलुपुर अमरेश सिंह बघेल, दरोगा संजय राय समेत अन्य पर भी सांसद को बचाने और उसे परेशान करने का गंभीर आरोप लगाया था.

ये भी पढ़ें: UP: गाय को राष्ट्रीय पशु घोषित करने की मांग, जानें इलाहाबाद HC की टिप्पणी पर AIMIM ने क्या कहा 

अधिकारियों पर हुई थी बड़ी कार्रवाई
आत्मदाह की घटना से पहले दो अगस्त को मृतक युवती के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किया गया था. युवती पर आरोप था कि उसने दो अलग-अलग मुकदमों में अपनी उम्र अलग-अलग दर्ज कराई है. वहीं इस मामले में वाराणसी के तत्कालीन एसएसपी अमित पाठक को गाजियाबाद से हटाकर लखनऊ तबादला कर दिया गया था. प्रभारी निरीक्षक को लाइन हाजिर कर दिया गया, जबकि विवेचक को सस्पेंड कर दिया गया था.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज