अपना शहर चुनें

States

Prayagraj News: RSS प्रमुख मोहन भागवत ने संगम पर किया मां गंगा का पूजन, दुग्धाभिषेक के साथ आरती

प्रयागराज में गंगा का दुग्धाभिषेक करते संघ प्रमुख मोहन भागवत
प्रयागराज में गंगा का दुग्धाभिषेक करते संघ प्रमुख मोहन भागवत

Prayagraj News: अपने दो दिवसीय दौरे पर संघ प्रमुख मोहन भागवत आज दूसरे दिन विश्व हिंदू परिषद के शिविर में 5 राज्यों के 750 से अधिक कार्यकर्ताओं का मार्गदर्शन करेंगे. इस दौरान संघ प्रमुख गंगा समेत अन्य नदियों, तालाबों की स्वच्छता संरक्षण पर भी चर्चा करेंगे.

  • Share this:
प्रयागराज. संगम नगरी प्रयागराज (Prayagraj) के दो दिवसीय पर पहुंचे आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत (RSS Chief Mohan Bhagwat) ने शुक्रवार शाम सात बजे संगम तट पर मां गंगा का पूजन किया. इस दौरान उन्होंने दुग्धाभिषेक कर मां गंगा की आरती भी की. वैदिक मंत्रोच्चार के बीच ब्राह्मणों ने संघ प्रमुख मोहन भागवत की पूजा अर्चना सम्पन्न कराई. इस मौके पर उनके साथ अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेन्द्र गिरी और श्री राम जन्म भूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के वरिष्ठ सदस्य जगतगुरु स्वामी वासुदेवानंद सरस्वती भी मौजूद रहे.

इस मौके पर संघ प्रमुख मोहन भागवत ने संगम तट पर मौजूद आरएसएस, विहिप, गंगा समग्र के साथ अन्य लोगों को सम्बोधित भी किया. मोहन भागवत ने कहा कि गंगा बहुत प्राचीन है, वो संघ का आयाम नहीं है. उन्होंने कहा कि संघ की स्थापना तो बहुत बाद में 1925 में हुई. गंगा भारत वर्ष की जीवनदायिनी जीवन धारा संस्कृति का प्रवाही आयाम है, जो युगों-युगों से चली आ रही है. अनेक प्रवाहों को गंगा ने अपने में समाहित किया है. गंगा स्वयं अपरिवर्तित रहते हुए लोगों को पावन करती है. उन्होंने कहा कि गंगा को भागीरथ ने मृत्यु लोक में प्रवाहित किया था. गंगा भारत वर्ष का जीवन धारा का दृश्य रूप है. ये हमारी जीवन धारा का प्राण है, इसलिए यदि गंगा की अविरल और निर्मल धारा चलेगी तो हमारा जीवन भी चलेगा.

मोहन भागवत ने कहा कि गंगा की धारा बहती रहेगी तो दुनिया के सब पीड़ित लोग गंगा में डुबकी लगा कर ही शांति का अनुभव कर सकेंगे. मां गंगा, यमुना और अदृश्य सरस्वती के मिलन के स्थल त्रिवेणी को लेकर कहा है कि हम सब के भौतिक जीवन में भी गंगा प्रवाहित होती रहे ऐसी मेरी कामना है. उन्होंने सभी लोगों से गंगा की अविरलता और निर्मलता के लिए काम करने की भी अपील की.



बड़े हनुमान मंदिर के भी किए दर्शन
संगम तट पर गंगा पूजन और आरती के बाद संघ प्रमुख बंधवा स्थित बड़े हनुमान मंदिर भी गए. जहां बड़े हनुमान मंदिर के मुख्य महंत और अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि ने विधि विधान से पूजा कराई. संघ प्रमुख ने बड़े हनुमान जी की आरती की और शहर के कोतवाल कहे जाने वाले हनुमान जी से आशीर्वाद भी मांगा.

इस मौके पर अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेन्द्र गिरी ने भी संघ प्रमुख का स्वागत किया और उन्हें सम्मानित भी किया. बड़े हनुमान मंदिर में पूजा अर्चना करने के बाद संघ प्रमुख सीधे झूंसी स्थित संघ कार्यालय के लिए रवाना हो गए. संघ प्रमुख आरएसएस के दफ्तर में ही रात्रि विश्राम करेंगे. जिसके बाद शनिवार सुबह 9 बजे गंगा समग्र की राष्ट्रीय कार्यसमिति की बैठक का शुभारंभ करेंगे.

आज प्रयागराज में अहम बैठक

संघ प्रमुख मोहन भागवत विहिप के त्रिवेणी मार्ग स्थित शिविर में 5 राज्यों के 750 से अधिक कार्यकर्ताओं का मार्गदर्शन करेंगे. संघ प्रमुख गंगा की अविरलता और निर्मलता को लेकर‌ विचार मंथन करेंगे. इस दौरान गंगा समेत अन्य नदियों तालाबों की स्वच्छता संरक्षण पर भी चर्चा करेंगे. नदियों व तालाबों पर आश्रित मल्लाह, मछुआरे, पुरोहित, माली आदि के जीवन बेहतर बनाने पर भी चर्चा करेंगे. संघ प्रमुख मोहन भागवत संघ के अनुषांगिक संगठन गंगा समग्र के कार्यों की समीक्षा करेंगे।. गंगा समग्र संघ का अनुषांगिक संगठन है जो कि गंगा नदी के साथ ही अन्य नदियों और तालाबों के संरक्षण के प्रति जागरूकता और संरक्षण के लिए काम करती है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज