लाइव टीवी

साधु संतों ने बेहद खास अंदाज में मनाया गणतंत्र दिवस, CAA कानून का किया समर्थन

Sarvesh Dubey | News18 Uttar Pradesh
Updated: January 26, 2020, 11:14 AM IST
साधु संतों ने बेहद खास अंदाज में मनाया गणतंत्र दिवस, CAA कानून का किया समर्थन
साधु संतों ने बेहद खास अंदाज में मनाया गणतंत्र दिवस

अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरी ने राष्ट्रहित को धर्म से भी उपर बताया है. उन्होंने कहा कि राष्ट्र बचेगा तभी धर्म बचेगा. गिरी ने मौजूदा दौर में सीएए कानून को लेकर हो रहे विरोध को अनुचित करार दिया है.

  • Share this:
प्रयागराज. पूरे देश के साथ ही उत्तर प्रदेश में भी गणतंत्र दिवस की धूम है. हर जिले के सरकारी और सार्वजनिक संस्थानों पर 71वां गणतंत्र दिवस मनाया जा रहा है. वहीं रविवार सुबह संगम नगरी प्रयागराज के माघ मेले में आये साधु-संतों ने इसे बेहद खास अंदाज में मनाया. भगवाधारी साधुओं ने एक हाथ में दंड, त्रिशूल व डमरू तो दूसरे में तिरंगा लेकर राष्ट्रध्वज फहराया और भजनों व देशभक्ति गीतों के जरिए लोगों को आपसी सदभाव बनाये रखने की सीख दी. संत महात्माओं ने इस खास मौके पर नागरिकता संशोधन कानून पर मचे कोहराम पर दुख जताया और देशवासियों से इस बारे में फैले भ्रम को दूर कर शांति व सौहार्द बनाए रखने की अपील की.

आपसी-एकता और भाईचारे का संदेश

संत महात्माओं ने विरोध के पीछे बाहरी ताकतों की साजिश की आशंका जताते हुए लोगों को इसकी असलियत समझने की नसीहत दी. वैसे तो ये साधु-संत अब तक धर्म ध्वजाएं ही फहराते रहे हैं, लेकिन प्रयागराज के माघ मेले में इन्होंने राष्ट्रध्वज भी फहराकर न सिर्फ ख़ास अंदाज़ में गणतंत्र दिवस मनाया बल्कि लोगों को आपसी-एकता, भाईचारे और देश के प्रति लगाव रखने का संदेश के इस अनूठे गणतंत्र दिवस समारोह में बड़ी संख्या में आम श्रद्धालुओं ने भी शिरकत की और इनकी बातों व संदेशों पर अमल करने का संकल्प लिया.

अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरी
अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरी


माघ मेले में बसाये गए दंडी बाडा के नागेश्वर धाम में अखिल भारतीय दंडी सन्यासी परिषद के संरक्षक स्वामी महेशाश्रम महाराज ने ध्वजा रोहण किया. जबकि अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरी ने परम्परा के मुताबिक महंत विचारानंद संस्कृत महाविद्यालय मठ बाघम्बरी गद्दी में ध्वजारोहण किया. इस दौरान साधु संतों ने राष्ट्रगान गाया और वंदे मातमरम् और हरहर महादेव का भी जयघोष किया. स्वामी महेशाश्रम महाराज ने कहा है कि यह राष्ट्रीय पर्व है इसे सभी देशवासियों को हर्षोल्लास से मनाना चाहिए और देश को आजाद कराने वाले महान सपूतों को भी नमन करना चाहिए. उन्होंने कहा कि देश विरोधी ताकतों को परास्त होना चाहिए और देश वासियों को मिलकर एक बार फिर से देश को विश्व गुरु बनाना चाहिए.

देश बचेगा, तभी धर्म बचेगा- महंत नरेंद्र गिरी

वहीं अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरी ने राष्ट्रहित को धर्म से भी उपर बताया है. उन्होंने कहा कि राष्ट्र बचेगा तभी धर्म बचेगा. गिरी ने मौजूदा दौर में सीएए कानून को लेकर हो रहे विरोध को अनुचित करार दिया है. उन्होंने आजादी के नारे लगाने वालों को देशद्रोही करार देते हुए, उनके खिलाफ देशद्रोह का मुकदमा दर्ज किए जाने की भी मांग की है. साधु संतों के ध्वारोहण कार्यक्रम में मेले में आये श्रद्धालु और कल्पवासी भी मौजूद रहे.ये भी पढ़ें:

आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत बोले- जब भेदभाव मिटेगा तभी होगा वास्तविक विकास

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए इलाहाबाद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 26, 2020, 11:14 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर