प्रयागराज कुम्भ: मोदी सरकार में मंत्री साध्वी निरंजन ज्योति को मिली महामंडलेश्वर की उपाधि

प्रयागराज कुम्भ मेले में सोमवार को केन्द्रीय मंत्री साध्वी निरंजन ज्योति को निरंजनी अखाड़े ने महामंडलेश्वर की पदवी प्रदान की.

Sarvesh Dubey | News18 Uttar Pradesh
Updated: January 14, 2019, 10:27 PM IST
प्रयागराज कुम्भ: मोदी सरकार में मंत्री साध्वी निरंजन ज्योति को मिली महामंडलेश्वर की उपाधि
साध्वी निरंजन ज्योति बनी महामंडलेश्वर
Sarvesh Dubey | News18 Uttar Pradesh
Updated: January 14, 2019, 10:27 PM IST
प्रयागराज कुम्भ मेले में सोमवार को केन्द्रीय मंत्री साध्वी निरंजन ज्योति को निरंजन अखाड़े ने महामंडलेश्वर की पदवी प्रदान की. निरंजन अखाड़े में सभी तेरह अखाड़ों के आचार्य महामंडलेश्वर और दूसरे साधु संतों की मौजूदगी में वैदिक मंत्रोच्चार के साथ साध्वी निरंजन ज्योति का पट्टाभिषेक किया गया.

निरंजनी अखाड़े के लिए यह पहला मौका है जब किसी को केन्द्रीय मंत्री के पद पर रहते हुए संत को महामंडलेश्वर की पदवी दी गई है. हम आपको बता दें कि कुम्भ मेले में साधु संतों को महामंडलेश्वर, महंत, श्री महंत बनाये जाने की परम्परा रही है. इसमें सभी 13 अखाड़ों के आचार्य महामंडलेश्वरों की मौजूदगी में पट्टाभिषेक कराया जाता है. निरंजन अखाड़े के आचार्य महामंडलेश्वर बालकानंद गिरी ने साध्वी निरंजन ज्योति को महामंडलेश्वर की पदवी प्रदान की है.

कुंभ 2019: इस वजह से योगी सरकार के 'संस्कृति ग्राम' की हो रही चर्चा, लोग ले रहे सेल्फी



निरंजन अखाड़े के श्री महंत और अखिल भारतीय अखाड़े के अध्यक्ष महंत नरेन्द्र गिरी ने कहा है कि महामंडलेश्वर की पदवी गरिमा का पद होता है. उन्होंने कहा है कि सनातन धर्म के प्रचार प्रसार के लिए महामंडलेश्वर बनाये जाते हैं. धर्म के किसी विषय पर पक्ष रखने का भी महामंडलेश्वर का अधिकार होता है. वहीं साध्वी निरंजन ज्योति ने महामंडलेश्वर बनाये जाने पर पूज्य संतों का धन्यवाद दिया है.

कुंभः दिगम्बर अनी अखाड़े के तिलक और सफेद रंग की वेशभूषा के रहस्य से उठा पर्दा
Loading...

और भी देखें

पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...