लाइव टीवी

प्रयागराज: CM योगी की गंगा यात्रा का माघ मेले में आए साधु-संतों ने किया स्वागत
Allahabad News in Hindi

Sarvesh Dubey | News18 Uttar Pradesh
Updated: January 27, 2020, 1:55 PM IST
प्रयागराज: CM योगी की गंगा यात्रा का माघ मेले में आए साधु-संतों ने किया स्वागत
गंगा यात्रा का साधु-संतों ने किया स्वागत

साधु-संतों ने कहा है कि सोमवार 27 जनवरी से शुरू हो रही पांच दिवसीय गंगा यात्रा के बेहद सकारात्मक नतीजे देखने को मिलेंगे.

  • Share this:
प्रयागराज. संगम नगरी प्रयागराज (Prayagraj) में इन दिनों चल हो रहे माघ मेले (Magh Mela) में मौजूद साधु-संतों ने सीएम योगी आदित्यनाथ (CM yogi Adityanath) की गंगा यात्रा (Ganga Yatra) का स्वागत किया है. साधु-संतों ने कहा है कि सोमवार 27 जनवरी से शुरू हो रही पांच दिवसीय गंगा यात्रा के बेहद सकारात्मक नतीजे देखने को मिलेंगे. माघ मेले में मौजूद साधु-संतों का कहना है कि इससे न सिर्फ लोगों में जागरूकता बढ़ेगी, बल्कि गंगा की धारा को अविरल व निर्मल किये जाने की कोशिशें और परवान चढ़ेंगी.

संतों ने कहा है कि संगम पहुंचने पर वह लोग सीएम योगी व गंगा यात्रा का स्वागत करेंगे और कुछ दूर तक उसमे शामिल भी होंगे. साधु-संतों ने कहा कि कुम्भ के पहले से ही गंगा में अविरल और निर्मल जल साधु-संतों और श्रद्धालुओं को मिल रहा है. लेकिन संतों ने कहा है कि इसमें और सुधार किए जाने की अभी आवश्यकता है. साधु-संतों ने नमामि गंगे योजना शुरु करने के लिए पीएम मोदी और सीएम योगी का आभार जताते हुए उनकी इस मुहिम में साथ देने का भी ऐलान किया है.

सीएम योगी गंगा यात्रा के साथ 29 जनवरी को पहुंचेंगे प्रयागराज

यूपी के बिजनौर और बलिया से एक साथ शुरु हो रही सीएम योगी आदित्यनाथ की गंगा यात्रा 29 जनवरी को संगम नगरी प्रयागराज पहुंचेगी. सीएम योगी भी गंगा यात्रा के साथ प्रयागराज आयेंगे. सीएम योगी संगम तट पर गंगा आरती करेंगे और अगले दिन 30 जनवरी को बसंत पंचमी के पर्व पर संगम में स्नान भी करेंगे. सीएम योगी द्वारा गंगा की अविरलता और निर्मलता का संदेश देने के लिए निकाली जा रही गंगा यात्रा को लेकर संगम आने वाले श्रद्धालु और साधु-संत भी खासे खुश नजर आ रहे हैं. संगम आने वाले श्रद्धालुओं के मुताबिक केन्द्र व प्रदेश सरकार द्वारा गंगा की अविरलता और निर्मलता को लेकर अब तक उठाये गए कदमों से गंगा की स्थिति में काफी सुधार हुआ है.

गंगा को अविरल व निर्मल देखकर श्रद्धालु व संत भी गदगद

माघ मेले में आये श्रद्धालु, साधु और संत भी गंगा की अविरलता और निर्मलता को देखकर गदगद नजर आ रहे हैं. साधु संतों और आम श्रद्धालुओं का कहना है कि जहां कुछ वर्षों पर गंगा का पानी स्नान और आचमन के योग्य नहीं रह गया था. वहीं नमामि गंगे योजना के बाद गंदे नालों को गंगा में गिरने से रोका जा रहा है. जिससे गंगा की स्थिति में तेजी से सुधार हो रहा है. गंगा के अविरल और निर्मल होने से अब न केवल साधु संत संगम में आस्था की डुबकी लगा रहे हैं, बल्कि गंगा और यमुना के जल से आचमन भी कर रहे हैं. इसके साथ ही अरैल में यमुना के तट पर नमामि गंगे परियोजना से बनाये गए पक्के घाट भी लोगों के लिए पर्यटक स्थल के रुप में विकसित हो रहे हैं. इसके साथ ही गंगा घाटों पर सफाई की अच्छी व्यवस्था होने से साधु-संत और श्रद्धालु भी गंगा के घाटों पर बैठकर पूजा-अर्चना और ध्यान योग लगा रहे हैं.
ये भी पढ़ें:

योगी सरकार ने 'गंगा यात्रा' के बहाने बनाया मिशन 2022 का प्लान, झोंकी ताकत

CAA-NRC के खिलाफ प्रदर्शन कर रही महिलाओं पर दर्ज मुकदमे वापस लिए जाएं: मायावती

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए इलाहाबाद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 27, 2020, 1:55 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर