• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • Scene Recreate: मठ में नरेंद्र गिरी के वजन की डमी को पंखे से लटकाकर सीबीआई ने देखा

Scene Recreate: मठ में नरेंद्र गिरी के वजन की डमी को पंखे से लटकाकर सीबीआई ने देखा

रविवार को बाघंबरी मठ में 7 घंटे से भी ज्यादा समय तक जांच की सीबीआई की टीम.

रविवार को बाघंबरी मठ में 7 घंटे से भी ज्यादा समय तक जांच की सीबीआई की टीम.

Suicide or Murder : रविवार को 7 घंटे तक मठ में जांच करती रही सीबीआई टीम. टीम सोमवार को भी बाघम्बरी गद्दी में आकर जांच करेगी. रविवार को सेवादारों से कई सवाल टीम ने पूछे. महंत नरेंद्र गिरी के कमरे से फोरंसिक टीम ने साक्ष्य जुटाए.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

प्रयागराज. देश की सबसे बड़ी जांच एजेंसी सीबीआई अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के दिवंगत अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरी की संदिग्ध मौत की गुत्थी सुलझाने में लगी है. रविवार को लगातार दूसरे दिन सीबीआई की टीम बाघम्बरी गद्दी पहुंची. तकरीबन 11 बजे बाघम्बरी गद्दी पहुंची सीबीआई की टीम 7 घंटे से ज्यादा समय तक मठ में मौजूद रही. मठ के पीछे के गेट से जहां एक टीम ने प्रवेश किया था, तो वहीं दूसरी टीम फ्रंट गेट से दाखिल हुई थी.

सीबीआई टीम के साथ आए सीएफएसएल के फारेंसिक एक्सपर्ट ने पूरे मठ की फोटोग्राफी और वीडियोग्राफी भी कराई. इसके साथ ही जिस कमरे में महंत नरेंद्र गिरी फांसी के फंदे पर लटके पाए गए थे, उस कमरे में सेवादारों के सामने क्राइम सीन रीक्रिएट किया गया. फारेंसिक एक्सपर्ट की टीम ने जिस कमरे में महंत नरेंद्र गिरी की मौत हुई थी उस कमरे में भी साक्ष्य जुटाए हैं. इसके साथ ही महंत नरेंद्र गिरी जिस कमरे में रहते थे, उस बेडरूम की भी सील तोड़कर सीबीआई टीम ने कई घंटे तक गहन छानबीन और पड़ताल की और सबूत जुटाए. सीएफएसएल टीम ने घटनास्थल वाले कमरे से फिंगरप्रिंट व अन्य सबूत जुटाए और उन्हें सुरक्षित किया.

बलवीर गिरी, अमर गिरी और रवींद्र पुरी से पूछताछ

सीबीआई टीम के संयुक्त निदेशक वीके चौधरी और मुख्य जांच अधिकारी केएस नेगी के नेतृत्व में सीएफएसएल टीम लगभग 7 घंटे तक मठ में रही. सीबीआई टीम के साथ एसआईटी प्रभारी अजीत सिंह चौहान भी मौजूद थे. उन्होंने सीबीआई को जांच में जानकारी देकर उनका सहयोग दिया. सीबीआई टीम ने महंत नरेंद्र गिरी की वसीयत के मुताबिक घोषित उत्तराधिकारी बलवीर गिरी से भी पूछताछ की. इसके साथ ही एफआईआर दर्ज कराने वाले अमर गिरी और निरंजनी अखाड़े के सचिव रवींद्र पुरी से भी पूछताछ की है.

पुतले के साथ क्राइम सीन रीक्रिएट करवाया

सीबीआई टीम ने दरवाजा खोलने वाले शिष्य सर्वेश, सुमित और धनंजय सहित अन्य सेवादारों से घटना का सीन रीक्रिएट कराया. कैसे दरवाजा खोला, अंदर पहले क्या देखा, कैंची कहां से लाए और फिर कैसे शव नीचे उतारा गया. पंखा कैसे चला – इस सवाल का कोई शिष्य संतोषजनक जवाब नहीं दे पाया. सीबीआई टीम के साथ सीएफएसएल की टीम भी मौजूद रही. सीबीआई टीम ने महंत नरेंद्र गिरी के वजन का पुतला तैयार कराया था. इसके साथ उनके पुतले को पंखे से लटकाया और फिर इसे उसी तरीके से उतरवाकर देखा गया.

सेवादार से सीबीआई ने पूछे ये सवाल

सीबीआई ने सेवादार सुमित तिवारी से कई सवाल पूछे.‌ सीबीआई ने पूछा कि महंत नरेंद्र गिरी को फांसी के फंदे पर देखने के बाद क्या प्रतिक्रिया थी. सबसे पहले किसको सूचना दी. सबसे पहले कौन बाहरी व्यक्ति मौके पर पहुंचा? इसके साथ ही सीबीआई ने पूछा कि डॉक्टर को बुलाये कैसे महंत नरेंद्र गिरी को मृत बता दिया गया. मौत से पहले दो-तीन दिन में कौन व्यक्ति मिलने आया था. शाम करीब 6 बजे सीबीआई टीम संगम स्थित बड़े हनुमान मंदिर भी पहुंची और दर्शन कर लौट गई.

सोमवार सुबह भी मठ आएगी सीबीआई

सीबीआई की जांच टीम सोमवार को भी बाघम्बरी गद्दी में आकर जांच करेगी. सुबह सीबीआई की जांच टीम 8 बजे ही श्री मठ बाघम्बरी गद्दी पहुंचकर अपनी जांच आगे बढ़ाएगी. इसके साथ ही नैनी सेंट्रल जेल और बड़े हनुमान मंदिर भी जा सकती है. सूत्रों से ऐसी जानकारी मिल रही है कि सीबीआई जल्द ही प्रयागराज में एक कैंप कार्यालय भी खोल सकती है. ताकि महंत नरेंद्र गिरी की मौत हत्या है या फिर आत्महत्या इसकी गुत्थी जल्द सुलझाई जा सके.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज