Assembly Banner 2021

प्रयागराज: कोविड वैक्सीनेशन के दूसरे चरण की शुरुआत, जानिए कहां और कैसे लगवाएं

टीबी सप्रू हॉस्पिटल में इलाहाबाद बीजेपी सांसद रीता बहुगुणा जोशी ने वैक्सीन लगवाई.

टीबी सप्रू हॉस्पिटल में इलाहाबाद बीजेपी सांसद रीता बहुगुणा जोशी ने वैक्सीन लगवाई.

Covid Vaccination: प्रयागराज में दूसरे चरण की कोविड वैक्सीनेशन की शुरुआत हो गई है. 60 साल की उम्र पार कर चुके लोग कोविड वैक्सीन लगवा सकते हैं. निजी अस्पतालों में वैक्सीन लगाने की सुविधा उपलब्ध होगी. वैक्सीन के लिए निजी अस्पताल 250 तक चार्ज कर सकते हैं.

  • Share this:
प्रयागराज. प्रयागराज में कोविड वैक्सीनेशन के दूसरे चरण की शुरुआत सोमवार से हो गई है. प्रयागराज में पहले दिन तीन केंद्रों पर लगभग 300 बुजुर्गों को वैक्सीन लगाने की तैयारी की गई थी. प्रयागराज के टीबी सप्रू बेली हॉस्पिटल और मेडिकल कालेज के एसआरएन अस्पताल साथ ही एक निजी अस्पताल यूनाइटेड मेडिसिटी में वैक्सीनेशन किया गया है. टीबी सप्रू हॉस्पिटल में इलाहाबाद संसदीय सीट से बीजेपी सांसद रीता बहुगुणा जोशी भी पहुंची. यहां उन्होंने अपने पति के साथ वैक्सीन लगवाई. इस दौरान उन्होंने कहा कि वैक्सीन पूरी तरह से सुरक्षित है. जो लोग सवाल खड़ा कर रहे हैं, वह अनर्गल आरोप है. उन्होंने यह भी कहा कि अभी तक देशभर में सवा करोड़ से अधिक लोगों ने कोरोना वैक्सीन लगवाई है और किसी को कोई दिक्कत नहीं हुई है. बीजेपी सांसद ने कहा है कि दुनिया के कई देश हमसे वैक्सीन मांग रहे हैं.

संगम नगरी प्रयागराज में दूसरे चरण में तीन केंद्रों पर वैक्सीन लगाई जा रही है. सभी
केंद्रों पर 100-100 लोगों को वैक्सीन लगाने की व्यवस्था की गई थी. इसमें ऐसे लोगों को वैक्सीन दी गई, जिनकी उम्र 60 वर्ष से अधिक है. या फिर 45 वर्ष के आसपास की उम्र है और उन्हें संक्रमण का खतरा है. ऐसे लोगों को वैक्सीन निशुल्क दी जा रही है. आगामी दिनों में लगभग 8 लाख से अधिक लोगों को
प्रयागराज में वैक्सीन लगाने की तैयारी है. इसको लेकर अलग-अलग केंद्रों पर तैयारियां की जा रही हैं.
कहां और कैसे लगवाएं वैक्सीन



कोविड की वैक्सीन लगवाने में सबसे अहम सवाल होता है कि कहां और कैसे वैक्सीन लगवाएं. पीएमओ डॉ राहुल सिंह के मुताबिक शहर के दो सरकारी अस्पतालों में तेज बहादुर सप्रू बेली अस्पताल और मोतीलाल मेडिकल कॉलेज के एसआरएन अस्पताल में निशुल्क कोविड वैक्सीन लगाई जा रही है. इसके साथ ही साथ निजी क्षेत्र में यूनाइटेड मेडिसिटी में भी कोविड वैक्सीनेशन कराया जा रहा है. सरकारी अस्पतालों में जहां निशुल्क वैक्सीन लगाई जा रही है. वहीं निजी अस्पताल 250 रुपए तक वसूल सकते हैं. इसके लिए चिह्नित किए गए निजी अस्पतालों को सरकार 150 की दर से वैक्सीन उपलब्ध कराएगी. निजी अस्पताल पहले से पंजीकरण कराए लोगों को वैक्सीन लगा सकते हैं.

वैक्सीनेशन के लिए कैसे करें रजिस्ट्रेशन

कोविड वैक्सीन लगवाने के लिए लाभार्थियों को कोविन एप पर ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करना होगा या फिर कोविड सेंटर पर आकर पहचान पत्र दिखाकर रजिस्ट्रेशन कराकर कोविड का टीका लगवा सकते हैं.
डॉक्टर राहुल सिंह के मुताबिक छोटे शहरों में कोरोना संक्रमण बहुत नहीं फैला है वहां भी वैक्सीन लगानी चाहिए क्योंकि संक्रमण किसी भी स्थिति में फैल सकता है.

Youtube Video


कोविड वैक्सीनेशन कराते समय एक बात जहन में जरूर आती है कि क्या डायबिटीज, हाइपरटेंशन, हॉर्ट, किडनी व लीवर के मरीज भी क्या वैक्सीन लगवा सकते हैं. मामले में एसीएमओ डॉ राहुल सिंह का कहना है कि 45 वर्ष से 60 वर्ष के बीच के वह लोग जो इन बीमारियों से पीड़ित हैं, अगर उन्हें तीन हफ्ते तक कोई
स्वास्थ्य संबंधित तकलीफ नहीं है तो वह कोविड-19 सकते हैं. अगर कोई व्यक्ति अपने तय डेट पर वैक्सीन लगवाने नहीं पहुंच पाता है, तो वह एक हफ्ते बाद दूसरी डेट पर वैक्सीनेशन का लाभ ले सकता है.

कौन सी वैक्सीन जिले में है मौजूद

प्रयागराज जिले में सीरम इंस्टीट्यूट पुणे की कोवीशील्ड वैक्सीन अब तक फ्रंट लाइन कोरोना वारियर्स को लगाई गई है. यही वैक्सीन अब तक जिले में लोगों को लगाई जा रही है. एसीएमओ डॉ राहुल सिंह के मुताबिक कई और निजी अस्पताल भी कोविड वैक्सीन लगाने के लिए आवेदन कर चुके हैं. जो‌ भी अस्पताल मानकों को पूरा करेंगे स्वास्थ विभाग ने वैक्सीन लगाने की अनुमति देगा. जिसके बाद उन अस्पतालों में भी यह सुविधा शुरू हो जाएगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज