Lockdown: गुजरात से 1200 श्रमिकों को लेकर बुधवार तड़के प्रयागराज पहुंचेगी 'श्रमिक स्पेशल ट्रेन', प्रशासन ने किए खास इंतजाम
Allahabad News in Hindi

Lockdown: गुजरात से 1200 श्रमिकों को लेकर बुधवार तड़के प्रयागराज पहुंचेगी 'श्रमिक स्पेशल ट्रेन', प्रशासन ने किए खास इंतजाम
भारत सहित कई देशों में सोशल डिस्टेंसिंग कूी दूरी छह फीट ही है.

केन्द्रीय गृह मंत्रालय के निर्देश पर रेलवे बोर्ड ने श्रमिक स्पेशल ट्रेनों का भी इंतजाम किया है. जबकि गुजरात से 1200 श्रमिकों को लेकर श्रमिक स्पेशल ट्रेन ( Shramik Special Train) बुधवार तड़के प्रयागराज आ रही है. इस ट्रेन के प्रयागराज आने को लेकर प्रयागराज जंक्शन स्टेशन पर तैयारी पूरी कर ली गई है.

  • Share this:
प्रयागराज. उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) की पहल पर महाराष्ट्र और गुजरात के साथ ही अन्य प्रदेशों में लॉकडाउन (Lockdown) के चलते फंसे प्रवासी मजदूरों को ट्रेनों के जरिए वापस लाया जा रहा है. इसके लिए केन्द्रीय गृह मंत्रालय के निर्देश पर रेलवे बोर्ड ने श्रमिक स्पेशल ट्रेनों का भी इंतजाम किया है. अब तक यूपी में बड़ी संख्या में श्रमिक स्पेशल ट्रेनों ( Shramik Special Trains) के जरिए आगरा और लखनऊ लाया गया है. इसके बाद अब गुजरात से लगभग बारह सौ प्रवासी मजदूरों को लेकर एक श्रमिक स्पेशल ट्रेन बुधवार तड़के प्रयागराज आ रही है. इस ट्रेन के प्रयागराज आने को लेकर प्रयागराज जंक्शन स्टेशन पर तैयारी पूरी कर ली गई है. रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म नम्बर एक पर जहां रस्सियों के सहारे बैरिकेटिंग बनायी गई है, तो वहीं सोशल डिस्टेंसिंग के लिए गोले भी बनाये गए हैं.

यहां ठहरेंगे श्रमिक
इसके साथ ही बड़ी तादात में श्रमिकों के प्रयागराज पहुंचने पर कुम्भ 2019 के दौरान बनाये गए आश्रय स्थलों में उनके ठहरने का इंतजाम किया गया है. गुजरात से प्रयागराज पहुंचने पर मजदूरों की सबसे पहले थर्मल स्कैनिंग की जायेगी और उसके बाद उनका स्वास्थ्य परीक्षण भी स्वास्थ्य टीमें करेंगी. रेलवे के आश्रय स्थल में ही श्रमिकों के लिए भोजन और पीने के पानी का भी प्रबंध किया गया है. रेलवे की ओर से जीआरपी और आरपीएफ को सुरक्षा का जिम्मा सौंपा गया है. जबकि जिला प्रशासन और रेलवे के अधिकारियों की संयुक्त टीम स्टेशन पर की गई तैयारियों का निरीक्षण भी कर चुकी है. स्वास्थ्य परीक्षण के बाद मजदूरों के नाम और पते नोट कर उन्हें यूपी परिवहन निगम की बसों से उनके घरों को रवाना किया जायेगा.

बाहरी राज्यों से आने वाले श्रमिकों को किया जाएगा क्‍वारंटाइन
शासन ने भी बाहरी राज्यों से आने वाले श्रमिकों को क्‍वारंटाइन सेंटर न भेजकर उनके घर में ही उन्हें क्‍वारंटाइन करने का आदेश दिया है. गुजरात से प्रयागराज लाये जा रहे मजदूरों की थर्मल स्क्रीनिंग और स्वास्थ्य परीक्षण के लिए सीएमओ डॉ.जीएस बाजपेयी ने बीस स्वास्थ्य टीमों का गठन कर दिया है. ट्रेन के प्रयागराज जंक्शन पर पहुंचने पर मजदूरों को सबसे पहले सोशल डिस्टेंसिंग के तहत आश्रय स्थलों में ले जाया जायेगा, जिसके बाद उनके नाम पते नोट कर उनकी थर्मल स्क्रीनिंग और स्वास्थ्य परीक्षण कराया जायेगा. मजदूरों में से कोरोना संदिग्ध मिलने पर उन्हें क्‍वारंटाइन किया जायेगा और साथ ही कोरोना के लक्षण पाये जाने पर उनके सैंपल की जांच भी करायी जायेगी. कोरोना पाजिटिव आने के बाद मजदूरों को कोविड 19 के इलाज के लिए बनाये गए अस्पताल में भर्ती कराया जायेगा. सीएमओ के मुताबिक कोरोना का संक्रमण न फैले इसके लिए सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना बेहद जरूरी है. इसके साथ ही कोरोना से बचाव के लिए हैंड वाश और हाथों को सेनेटाइज भी करते रहना चाहिए.



ये भी पढ़ें

अब यूपी में दिल्ली से भी सस्ती बिक रही शराब, अभी रेट बढ़ाने पर फैसला नहीं

सीएम योगी बोले- गरीबों का पैसा हड़पने वाले आज बौखला रहे हैं, जनता देगी जवाब
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज