Home /News /uttar-pradesh /

योगी सरकार का आदेश मानने से समजावादी पार्टी का इनकार? SP की कैंडिडेट लिस्ट में दिख गया यह 'सबूत'

योगी सरकार का आदेश मानने से समजावादी पार्टी का इनकार? SP की कैंडिडेट लिस्ट में दिख गया यह 'सबूत'

UP Elections 2022: अखिलेश यादव की सपा कैंडिडेट लिस्ट में अब भी पुराने नाम ही दिख रहे हैं (फाइल फोटो)

UP Elections 2022: अखिलेश यादव की सपा कैंडिडेट लिस्ट में अब भी पुराने नाम ही दिख रहे हैं (फाइल फोटो)

Uttar Pradesh News: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh News) की योगी सरकार ने भले ही शहरों के नाम बदल दिए हों, मगर अखिलेश यादव की समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) अभी भी पुराने नाम को ही आधिकारिक मानकर चल रही है. यूपी विधानसभा चुनाव के लिए समाजवादी पार्टी ने जो लिस्ट जारी की है, उसमें बदले हुए नाम के बदले पुराने नाम का ही इस्तेमाल किया गया है. समाजवादी पार्टी की आधिकारिक कैंडिडेट लिस्ट में प्रयागराज और अयोध्या के बदले उसके पुराने नाम इलाहाबाद और फैजाबाद का ही जिक्र किया गया है.

अधिक पढ़ें ...

    लखनऊ: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh News) की योगी सरकार ने भले ही शहरों के नाम बदल दिए हों, मगर अखिलेश यादव की समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) अभी भी पुराने नाम को ही आधिकारिक मानकर चल रही है. यूपी विधानसभा चुनाव के लिए समाजवादी पार्टी ने जो लिस्ट जारी की है, उसमें बदले हुए नाम के बदले पुराने नाम का ही इस्तेमाल किया गया है. समाजवादी पार्टी की आधिकारिक कैंडिडेट लिस्ट में प्रयागराज और अयोध्या के बदले उसके पुराने नाम इलाहाबाद और फैजाबाद का ही जिक्र किया गया है.

    दरअसल, समाजवादी पार्टी ने प्रत्याशियों की जो लिस्ट जारी की है, उसमें प्रयागराज और अयोध्या की जगह इलाहाबाद और फैजाबाद का इस्तेमाल  किया गया है, जबकि अब आधिकारिक तौर पर नाम बदल गया है. दरअसल, योगी कैबिनेट ने साल 2018 में ही फैजाबाद का नाम बदलकर अयोध्या कर दिया था. इससे कुछ दिन पहले ही इलाहाबाद का भी नाम बदला गया था, जिसे आज प्रयागराज के नाम से जाना जाता है. 15 अक्टूबर 2018 को इलाहाबाद का नाम प्रयागराज किया गया था और 5 नवंबर को फैजाबाद का नाम अयोध्या किया गया था.

    UP Elections SP Candidates List

    समाजवादी पार्टी की कैंडिडेट लिस्ट, जिसमें प्रयागराज का नाम अब भी इलाहाबाद और अयोध्या का पुराना नाम फैजाबाद दिख रहा है.

    बता दें कि उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव के लिए समाजवादी पार्टी अब तक 198 उम्मीदवारों की घोषणा कर चुकी है. अखिलेश यादव छोटे-छोटी दलों के साथ गठबंधन कर भाजपा को कड़ी चुनौती देने की कोशिश कर रहे हैं. सपा के साथ शिवपाल सिंह यादव से लेकर ओपी राजभर तक साथ हैं. इतना ही नहीं, सीएम योगी के बाद अब अखिलेश यादव भी चुनावी मैदान में कूद पड़े हैं. सीएम योगी जहां गोरखपुर सदर से चुनाव लड़ेंगे, वहीं अखिलेश मैनपुरी की करहल सीट से चुनाव लड़ेंगे.

    क्या है यूपी में चुनाव का पूरा शेड्यूल
    उत्तर प्रदेश में सात चरणों में मतदान होना है. इसकी शुरुआत 10 फरवरी को राज्य के पश्चिमी हिस्से के 11 जिलों की 58 सीटों पर मतदान के साथ होगी. दूसरे चरण में 14 फरवरी को राज्य की 55 सीटों पर मतदान होगा. उत्तर प्रदेश में तीसरे चरण में 59 सीटों पर, 23 फरवरी को चौथे चरण में 60 सीटों पर, 27 फरवरी को पांचवें चरण में 60 सीटों पर, तीन मार्च को छठे चरण में 57 सीटों पर और सात मार्च को सातवें चरण में 54 सीटों पर मतदान होगा. वहीं यूपी चुनाव के नतीजे 10 मार्च को आएंगे.

    पिछले चुनाव के नतीजे
    2017 विधानसभा चुनाव में एनडीए गठबंधन यानी बीजेपी प्लस को कुल 325 सीटें मिली थीं. इनमें से अकेले 312 सीटों पर जीत हासिल करने में कामयाब हुई थी. वहीं बीजेपी गठबंधन की अन्य दो पार्टियों में अपना दल (एस) ने 11 सीटों में नौ सीटें और ओपी राजभर की भारतीय सुहेलदेव समाज पार्टी ने आठ में से चार सीटें जीती थीं. वहीं सपा और कांग्रेस गठबंधन को मात्र 54 सीटों के साथ संतोष करना पड़ा था. कांग्रेस महज सात सीट जीतने में सफल हो पाई थी. इसके अलावा, समाजवादी पार्टी को केवल 47 सीटों पर जीत मिली. वहीं बसपा ने 19 सीटों पर जीत हासिल की थी. रालोद को एक सीट और अन्य के खाते में 4 सीटें गई थीं.

    Tags: Assembly elections, Ayodhya, Uttar Pradesh Assembly Elections, ​​Uttar Pradesh News

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर