• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • Lockdown: नोएडा के स्ट्रीट वेंडर्स ने कोर्ट में दी याचिका, छोले-कुल्चे, पराठे के ठेले लगाने की मांग  

Lockdown: नोएडा के स्ट्रीट वेंडर्स ने कोर्ट में दी याचिका, छोले-कुल्चे, पराठे के ठेले लगाने की मांग  

हाईकोर्ट में नोएडा के पटरी दुकानदारों ने याचिका दाखिल की (फाइल फोटो)

हाईकोर्ट में नोएडा के पटरी दुकानदारों ने याचिका दाखिल की (फाइल फोटो)

हाईकोर्ट (Allahabad High Court) में दा‌खिल याचिका में कहा गया है कि नोएडा में बड़ी संख्या में पंजीकृत स्ट्रीट वेंडर हैं. जो पटरियों पर छोला, पराठा, पकौड़ा तथा अन्य फास्ट फूड और खाने-पीने का सामान बेच कर अपनी आजीविका चलाते हैं, काम-धंधा बंद होने से वो भुखमरी की कगार पर हैं.

  • Share this:
प्रयागराज. गौतम बुद्ध नगर जिले के नोएडा में पटरी दुकानदारों ने इलाहाबाद हाईकोर्ट (Allahabad High Court) में याचिका दाखिल कर मांग की है कि उनको भी सब्जी, फल और राशन की दुकानों की तरह दुकानें खोलने की अनुमति दी जाए. दरअसल वैश्विक महामारी कोरोना वायरस (Pandemic Coronvirus) के संक्रमण से बचाव के चलते देशव्यापी लॉकडाउन (Lockdown) है. लेकिन लॉकडाउन 0.3 में प्रदेश सरकार के निर्देश पर कई उद्योगों को खोलने की अनुमति दी गई है.

भुखमरी के कगार पर स्ट्रीट वेंडर्स
अकेले नोएडा में ही 3 हजार से अधिक उद्योगों को खोलने की अनुमति अथॉरिटी द्वारा दी जा चुकी है ऐसे में पंजीकृत स्ट्रीट वेंडर एसोसिएशन (रेढ़ी पटरी वेलफेयर एसोसिएशन) के सचिव श्याम किशोर गुप्ता ने हाईकोर्ट में याचिका दा‌खिल कर कहा है कि नोएडा में बड़ी संख्या में पंजीकृत स्ट्रीट वेंडर हैं. जो पटरियों पर छोला, पराठा, पकौड़ा तथा अन्य फास्ट फूड और खाने-पीने का सामान बेच कर अपनी आजीविका चलाते हैं. लॉकडाउन के कारण उनका रोजगार पूरी तरह से ठप पड़ गया है और वो भुखमरी के कगार पर पहुंच गए हैं. जबकि कई बिल्डरों व उद्योगों को काम शुरू करने की अनुमति मिल चुकी है.

उन्होंने हाईकोर्ट से अपनी अपील में कहा- प्रदेश सरकार और स्थानीय प्रशासन ने बहुत तरह की दुकानें सब्जी, फल, राशन व कई प्रकार की प्राइवेट कंपनियों को लॉकडाउन में खोलने की अनुमति दी है. इसी प्रकार से पटरी दुकानदारों को भी शर्तों के साथ अपना व्यवसाय करने की अनुमति दी जा जाए ताकि वह अपनी आजीविका चला सकें. याची का कहना है कि उसने जिला अधिकारी और अन्य उच्च अधिकारियों को इस संबंध में प्रत्यावेदन दिया था. मगर उनके प्रत्यावेदन पर कोई निर्णय नहीं लिया गया है. ई-मेल के जरिए भेजी गई इस याचिका पर हाईकोर्ट से संज्ञान लेकर आदेश पारित करने की गुहार लगाई गई है.

ये भी पढ़ें- Lockdown 0.3: नोएडा की 1200 से ज्यादा कंपनियों में काम शुरू, 750 के आवेदन खारिज


पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज