प्रयागराज: सड़क हादसे में दारोगा ने गंवाई जान, कुंभ मेले में थी तैनाती

बता दें कि मृतक दरोगा मनीष यादव मूलतः प्रयागराज के थरवई इलाक़े के रहने वाले थे. वर्तमान में गाजीपुर जिले में तैनाती थी. जहां से कुंभ मेले में ड्यूटी लगी थी.

Manish Paliwal | News18 Uttar Pradesh
Updated: December 8, 2018, 7:56 AM IST
प्रयागराज: सड़क हादसे में दारोगा ने गंवाई जान, कुंभ मेले में थी तैनाती
मनीष सिंह यादव
Manish Paliwal | News18 Uttar Pradesh
Updated: December 8, 2018, 7:56 AM IST
प्रयागराज के झूंसी इलाके में शुक्रवार देर रात नील गाय की टक्कर से घायल दरोगा की इलाज के दौरान मौत हो गई है. यह हादसा झूंसी थाना क्षेत्र के मुंशी का पुरा गांव में हुआ था, दरोगा मनीष सिंह यादव की कुंभ मेला क्षेत्र में ड्यूटी लगी थी. घायल होने के बाद एक निजी चिकित्सालय में इलाज के लिए भर्ती कराया गया था. जहां उन्होंने अंतिम सांस ली. दारोगा की मौत से मृतक के परिवार में कोहराम मच गया. पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है. दारोगा की मौत की सूचना मिलते ही पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंचे.

बता दें कि मृतक दरोगा मनीष यादव मूलतः प्रयागराज के थरवई इलाक़े के रहने वाले थे. वर्तमान में गाजीपुर जिले में तैनाती थी. जहां से कुंभ मेले में ड्यूटी लगी थी. कुंभ मेला में ड्यूटी से लौटते समय झूंसी के गारापुर इलाके में नील गाय से टक्कर हो गई. स्थानीय लोगों की मदद से अस्पताल पहुंचाया गया था. जहां पर इलाज के दौरान मौत हो गई.

गौरतलब है कि 3 दिसंबर को बुलंदशहर के स्याना इलाके के चिंगरावटी क्षेत्र में गोकशी के मामले को लेकर उग्र भीड़ की हिंसा में थाना कोतवाली में तैनात इंस्पेक्टर सुबोध सिंह तथा सुमित नामक एक अन्य युवक की मृत्यु हो गई थी.

ये भी पढ़ें:

बुलंदशहर हिंसा: सीओ और चौकी इंचार्ज पर गिरी गाज, बड़े अधिकारियों पर जल्द होगी कार्रवाई

आज की सुर्खियां: बुलंदशहर हिंसा मामले में DGP ने सीएम को सौंपी रिपोर्ट, जीतू फौजी कश्मीर से गिरफ्तार

ब्राह्मणों का आरोप, दौलत की बेटी सावित्री बाई फुले का एससी की जमीन पर कब्जा
Loading...

VIDEO: बुलंदशहर हिंसा में इंस्पेक्टर सुबोध को ऐसे मारी गई गोली?
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर